Twitter
You are hereNari

महिलाओं के लिए बेहद खतरनाक है हेपेटाइटिस वायरस, एेसे करें बचाव

महिलाओं के लिए बेहद खतरनाक है हेपेटाइटिस वायरस, एेसे करें बचाव
Views:- Thursday, August 9, 2018-9:29 AM

हेपेटाइटिस लीवर से संबंधित एक संक्रमित बीमारी हैं, जिसे हेपेटाइटिस ए, बी, सी, डी, और ई के रूप में भी जाना जाता है। मानसून में तेजी से फैलने वाली इस बीमारी की चपेट में महिलाएं जल्दी आ जाती हैं क्योंकि उनका इम्यून सिस्टम कमजोर होता है। ऐसे में महिलाओं को इस बीमारी से जुड़ी हर जानकारी के बारे में पता होना चाहिए। आज हम आपको हेपेटाइटिस से जुड़ी कुछ ऐसी बातों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्‍हें जानना हर महिला के लिए बेहद जरूरी है।
 

महिलाओं में हेपेटाइटिस होने के चांस
पुरूषों के मुकाबले महिलाओं में हेपेटाइटिस होने के चांसेस ज्यादा होते हैं लेकिन प्रैग्नेंट महिलाओं को इसका खतरा सबसे ज्यादा होता है। एक शोध के अनुसार भी महिलाओं में इस बीमारी के होने संभावना पुरूषों से ज्यादा होती है। हेपेटाइटिस मानसून में खान-पान, दूषित पानी या खून के जरिए फैलता है। ऐसे में महिलाओं को इस मौसम में ज्यादा सावधान रहना चाहिए।

PunjabKesari

हेपेटाइटिस और उसके लक्षण
हेपेटाइटिस एक वायरल इंफेक्‍शन है जो कि आपके लीवर को प्रभावित करता है। इसके कारण बुखार, थकावट और पीलिया जैसे लक्षण दिखाई देते है। इसके अलावा इस बीमारी में भूख कम लगना, अचानक वजन का घटना, पेट दर्द या सूजन, स्किन एलर्जी, यूरिन का रंग गहरा हो जाना, मतली और उल्टी आना जैसे लक्षण भी दिखाई देते हैं।
 

प्रेग्‍नेंट महिलाओं पर असर
प्रेग्‍नेंट महिलाओं में हेपेटाइटिस होने पर उसके होने वाले बच्‍चे पर कई तरह के असर होने लगते है। अगर आप हेपेटाइटिस ए की बात करें तो इसमें समय से पहले डिलीवरी होने का खतरा रहता है। मगर अन्‍य तरह के हेपेटाइटिस बच्‍चे के लिए ज्‍यादा खतरा पैदा करता है। यहां तक कि इससे महिलाओं का गर्भपात होने के चांसेस भी बढ़ जाते हैं।

PunjabKesari

हेपेटाइटिस से बचाव
1. प्रेग्‍नेंसी के दौरान बाहर के खान-पान से दूर रहें। इससे आप हेपेटाइटिस ई और ए की रोकथाम कर सकती हैं।
 

2. गर्भावस्था की शुरुआत में हेपेटाइटिस का चेकअप जरूर कराएं, ताकि अगर महिला की बॉडी में इसका इंफेक्‍शन है तो उसे रोकने के लिए सही समय पर इंजेक्‍शन लगाया जा सकें।
 

3. अगर आपको यह बीमारी हो गई है तो तुलसी के पत्ते को पीसकर उसे मूली के रस के साथ खाएं। इससे आपको हेपेटाइटिस की समस्या दूर हो जाएगी।

PunjabKesari

4. हरा धनिया और 8-10 तुलसी के पत्तों को 4 लीटर पानी में उबालकर पीएं। दिन में 2-3 बार इसका सेवन करने से आपको फायदा मिलेगा।
 

5. गन्ने के रस के साथ तुलसी लेने से भी हेपेटाइटिस से लड़ने की ताकत मिलती है। गन्ने के रस में तुलसी के पत्ते का पेस्ट मिलाकर करीब 15-20 तक सेवन करें।
 


फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP
Edited by: