17 SEPTUESDAY2019 12:53:26 PM
Nari

PCOD की वजह है ये 5 फूड्स, आज ही करें डाइट से आउट

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 31 Aug, 2019 02:57 PM
PCOD की वजह है ये 5 फूड्स, आज ही करें डाइट से आउट

महिलाओं में PCOS यानि पोली सिस्टिक ओवरियन सिंड्रोम की समस्या बढ़ती जा रही हैं। 70% महिलाओं में दिखाई देने वाली यह समस्या महिलाओं में तनाव और हार्मोन इम्बैलेंस के कारण होती है। वहीं इसका एक कारण गलत चीजों का सेवन भी है। जी हां, कुछ फूड्स ऐसे हैं, जिनका सेवन करने से पीसीओडी का खतरा बढ़ जाता है।

 

बता दें कि पहले जहां यह बीमारी 26-35 साल उम्र की लड़कियों/महिलाओं को हुआ करती थी वहीं गलत खान-पान के कारण टीनएज लड़कियां (15-25 साल) भी इसकी चपेट में आ रही हैं। इसके बाद 40 साल के ऊपर की महिलाएं, जिनको मेनोपॉज की गुंजाइश होती है, वे इस बीमारी से प्रभावित होती हैं।

बांझपन का बनती है कारण

यह महिलाओं में बांझपन के प्रमुख कारणों में से एक है। दरअसल, पीसीओएस एक हार्मोनल विकार है, जो महिला के अंडाशय को प्रभावित करता है। इसमें महिला का अंडा समय पर बनकर फूट नहीं पाता, जिससे गर्भधारण करना मुश्किल होती है।

PunjabKesari

PCOS को कैसे प्रभावित करती है डाइट?

डाइट दो तरीको से PCOS को प्रभावित करती हैं- वजन मैनेजमेंट और इंसुलिन उत्पादन व प्रतिरोध। हालांकि, इंसुलिन पीसीओएस में ज्यादा अहम भूमिका निभाता है इसलिए डाइट के जरिए इंसुलिन का लेवल सही रखें।

अब हम आपको कुछ ऐसे फूड्स के बारे में बताते हैं, जिसका सेवन करने से आप पीसीओडी की चपेट में आ सकती हैं। अगर आप भी इस चीजों का सेवन करती हैं तो आज ही इन्हें अपनी डाइट से आउट कर दें।

रेड मीट

एक्सेस रेट मीट जैसे स्टेक, हैम्बर्गर व पोर्क और प्रोसेस्ड मीट जैसे हॉट डॉग, सॉसेज व मीट में सैचुरेटेड फैट्स होते हैं, जिससे शरीर में एस्ट्रोजन का स्तर बढ़ जाता है। इससे ना सिर्फ पीसीओडी बल्कि मोटापे की समस्या भी देखने को मिलती है।

PunjabKesari

प्रोसेस्ड फूड

प्रोसेस्ड फूड में मौजूद केमिकल्स, प्रिजर्वेटिव और एडिटिव चीजों के कारण शरीर में इंसुलिन का स्तर बढ़ता है, जिसका के कारण महिलाएं पीसीओडी की चपेट में आ जाती है। साथ ही इसके कारण शरीर में सूजन भी बढ़ने लगती है।

सफेद चीनी

सफेद चीनी से शरीर में इंसुलिन का स्तर बढ़ जाता है, जिससे पीसीओएस होने का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में अपनी डाइट में सफेद चीनी का इस्‍तेमाल कम करें।

PunjabKesari

कैफीन

अधिक मात्रा में कॉफी के सेवन से पीसीओएस की संभावना बढ़ जाती है। दरअसल, कॉफी से एस्‍ट्रोजन का स्‍तर बढ़ा जाता है। इससे पीरियड्स के साथ-साथ महिलाओं की प्रजनन क्षमता भी प्रभावित होती है।

अल्कोहल

अल्कोहल का अधिक मात्रा में सेवन करने से हार्मोन्स में असंतुलन आने लगता है। इससे शरीर में एस्ट्रोजन का स्तर बढ़ जाता है और आप पीसीओएस की शिकार हो सकती हैं।

PunjabKesari

इन चीजों से भी करें परहेज

-सॉफ्ट या एनर्जी ड्रिंक जैसे सोडा, कोको कोला
-शर्करा वाली ड्रिंक्स
-रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट जैसे पेस्ट्री और व्हाइट ब्रेड।
-फ्राइड फूड्स जैसे फास्ट फूड।
-सोलिड फैट को भी करें अवॉइड

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News