09 DECMONDAY2019 2:52:39 AM
Nari

दिलचस्प: एक दिन पैदा हुई ये 4 बहनें, अब एक ही मंडप में लेंगी फेरे

  • Edited By khushboo aggarwal,
  • Updated: 10 Nov, 2019 05:15 PM
दिलचस्प: एक दिन पैदा हुई ये 4 बहनें, अब एक ही मंडप में लेंगी फेरे

एक ही मंडप में दो या तीन बहनों की शादी होती तो देखी होगी लेकिन 2022 में एक ही मंडप में 4 बहनें एक साथ शादी करेंगी खास बात यह है कि यह बहनें पैदा भी एक ही दिन हुई थी। 24 साल पहले केरल के तिरुवनंतपुरम में 1995 में एक दंपत्ति के एक साथ 5 बच्चे हुई थे। जिस कारण वह काफी दिन चर्चा में रहे। अब उसी दंपत्ति की 4 लड़कियां उथराजा, उथारा, उथम्मा, उथरा और बेटा उथराजन दोबारा चर्चा में है क्योंकि अब उन 5 में से 4 लड़कियां एक साथ एक ही मंडप में शादी करेंगी। 

 

घर का नाम रखा था पंच रत्नम

इस दंपत्ति के घर जब 18 नवंबर 1995 को बच्चो का जन्म हुआ था तब उनके पिता ने घर का नाम ‘पंच रत्नम’ रख दिया था। यह चारों बहनें उथराजा, उथारा, उथम्मा, उथरा गुरुवायूर के श्रीकृष्ण मंदिर में 26 अप्रैल 2022 में शादी करेंगी।

पूरा कर रही हैं मां की इच्छा 

एक साथ चारों बहनें शादी करके अपनी मां रीमादेवी की इच्छा को पूरी कर रही हैं। जब बच्चों का जन्म हुआ था तब उनकी मां ने इच्छा व्यक्त की थी कि चारों बहनों की शादी एक साथ हो। जन्म के बाद 9 साल तक तो पिता ने अपने 5 बच्चों को जरुरत की हरेक चीज एक जैसी ही दिलाई थी। 

PunjabKesari,nari

आर्थिक परेशानी के कारण पिता ने की सुसाइड 

बच्चों के जन्म के 9 साल बाद 2004 में रीमादेवी को दिल की बीमारी हो गई थी। जिसके कारण घर में कई तरह की आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ा। रीमा देवी के पति ने इन परेशानियों से परेशान हो कर सुसाइड कर ली। इसके बाद पूरा परिवार को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। मां पर पूरी जिम्मेदारी आ गई। कुछ लोगों की मदद से रीमा को तिरुवनंतपुरम की सहकारी बैंक में चौथे वर्ग की सरकारी नौकरी मिल गई।

अब अपने पैरों पर खड़े है सभी बच्चे

पिता के जाने के बाद घर को संभालने की सारी जिम्मेदारी मां पर आ गई थी। रीमा ने अपनी इस जिम्मेदारी को पूरी तरह से निभाया आज उनकी एक बेटी फैशन डिजाइनर, दो एनेस्थेसिया टेक्नीशियन और एक ऑनलाइन लेखिका हैं वहीं बेटा सॉफ्टवेयर इंजीनियर है।

PunjabKesari,nari

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News