27 JUNTHURSDAY2019 12:21:28 AM
Nari

पीरियड्स के दिनों में ये 3 देश देते हैं महिलाओं को छुट्टियां

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 29 May, 2019 01:53 PM
पीरियड्स के दिनों में ये 3 देश देते हैं महिलाओं को छुट्टियां

हाल ही में कल के दिन को पीरियड्स स्वच्छता दिवस के नाम से पूरे विश्व भर में मनाया गया। पीरियड्स के बारे में अपनी बच्चियों को किस तरह से समझाया जाए, इस बात पर जोर दिया गया। आज की औरत चाहे जितनी भा स्ट्रांग हो लेकिन पीरियड्स के दौरान कुछ प्रॉब्लमज का सामना तो करना ही पड़ता है। ऐसे में जरुरी है कि एक वर्किंग वुमेन को पीरियड्स के दौरान छुट्टी जरुर मिलनी चाहिए। तो चलिए जानते हैं ऐसा करना क्यों जरुरी है ?

क्यों मिलनी चाहिएं छुट्टियां ?

एक औरत चाहे जितनी भी स्ट्रांग लेकिन पीरियड्स के दिनों में उसकी शरीर वीकनेस फील करता है। मासिक धर्म के दौरान कमजोरी आमतौर पर निर्जलीकरण के कारण होती है। पीरियड्स के दौरान रक्त और अन्य द्रवों का शरीर में से निकास होने की वजह से ऐसा होता है। साथ ही शरीर में हाइपोग्लाइसीमिया में कमी हो जाती है। जिस कारण एक औरत इन दिनों लो तथा वीक फील करती है। साथ ही पीठ दर्द और पेट दर्द की समस्या अलग से।  इसलिए जरुरी है कि औरत को पीरियड्स के दौरान छुट्टी मिलनी चाहिए। 

PunjabKesari

इन कंपनीज ने की पहल

भारत में मुंबई की दो कंपनियों कल्चर मशीन और डिजिटल मार्केटिंग ऑर्गनाइजेशन गोजूपा पीरियड्स के दौरान महिलाओं को छुट्टी दी जाती है। उस छुट्टी के दौरान उनका वेतन भी नहीं कटता। लेकिन अधिकांश भारत में ऐसा रुल नहीं है। वर्किंग वुमेन को पीरियड्स को दौरान काम पर जाना ही पड़ता है। अगर प्रॉब्लम ज्यादा हो तो अपना वेतन कटवाकर उन्हें छुट्टी लेनी पड़ती है।

बिहार में भी है रुल

बिहार सरकार ने 1992 में महिला कर्मचारियों को अपनी पीरियड्स डेट के मुताबिक छुट्टी लेनी की अवधि प्रदान की हुई है। महिलाएं यह तय कर सकती हैं कि महीने के कौन से दो दिन हैं जिनमें वह ऑफिस से ऑफ ले सकती हैं। 

जापान और चीन

दूसरे विश्व युद्ध को बाद जापान ने कई रुलज पास किए थे, जिसमें औरतों को पीरियड्स के दौरान छुट्टी दी जाने का रुल भी शामिल था। इंडोनेशिया में भी ऐसा ही रुल है, लेकिन वहां की कुछ कंपनिया इस रुल का फॉलो नहीं करती हैं। वहां पर औरतों के पीरियड्स में 2 छुट्टियां देने का रुल है। ताईवन और चीन में भी औरतों को माहवारी में दो से तीन छुट्टियां लेने का हक है। 

सरकारों को बनाना चाहिए रुल

इस रुल की शुरुआत विश्व भर में इंटरनैशनल लेवल पर की जानी चाहिए। सरकारी तथा गैर-सरकारी सभी कार्यालयों में बिना लीव के औरतों को माहवारी के दौरान छुट्टी मिलनी चाहिए। ज्यादा नहीं तो कम से कम दो दिन की तो जरुर होनी चाहिए। 
 

Related News

From The Web

ad