14 OCTMONDAY2019 12:01:27 PM
Nari

Health Alert! कैंसर को बढ़ावा देती हैं ये 11 चीजें, बचाव चाहते हैं तो रहें दूर

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 12 Oct, 2019 09:11 AM
Health Alert! कैंसर को बढ़ावा देती हैं ये 11 चीजें, बचाव चाहते हैं तो रहें दूर

कैंसर एक ऐसी बीमारी है जिसका चपेट में आते ही व्यक्ति जीने व बचने की उम्मीद छोड़ देते है। यह बीमारी जितनी खतरनाक है उतनी ही तेजी से फैल भी रही है। जिसका कही ना कही कारण हमारा बिगड़ा लाइफस्टाइल ही है। बहुत से लोगों को लगता है धुएं व तम्बाकू से यह बीमारी फैलती हैं लेकिन आपको बता दें कि घर में मौजूद ऐसी बहुत सारी चीजें हैं तो कैंसर को बढ़ावा देती है रोजाना खाई जाने वाली या काम के लिए इस्तेमाल होने वाली इन चीजों से कैंसर का खतरा दोगुणा बढ़ जाता है।

चलिए आज हम आपको कुछ ऐसी चीजों के बारे में बताते हैं, जिनसे कैंसर का खतरा हो सकता है। अगर आपकी किचन में भी इनमें से कोई चीज मौजूद है तो बेहतर होगा कि आप उसे हटा दें।

प्लास्टिक का सामान

प्लास्टिक, बिस्फेनॉल ए (बीपीए) नामक कैमिकल से तैयार की जाती है। यह कैमिकल शरीर में पहुंकर इम्यून सिस्टम व हार्मोन्स पर असर डालता खासकर जब इन प्लास्टिक कंटेनरों में गर्म किया जाता है। इससे निकलने वाले टॉक्सिंस इंसुलिन को बढ़ाकर फैट सेल्स को रिलीज करते हैं, जो कैंसर का संभावना बढ़ा देते हैं। 

वैकल्पिक: इसकी जगह पर मिट्टी, तांबे या कांच से बने बर्तनों का इस्तेमाल किया जाए तो अच्छा है।

PunjabKesari

गंदा पानी

कही ना कही गंदा पानी भी इस बीमारी को बढ़ावा देता है। नदियों में मिक्स होते कैमिकल इसके खतरे को और भी बढ़ा देते हैं।

वैकल्पिक: साफ पानी पीएं और अगर घर में एक्वा प्यूरीफायर नहीं है तो पानी को उबाल कर पीएं। 

माइक्रोवेव पॉपकॉर्न

टीवी या फिल्म देखते हुए आप पॉपकॉर्न तो बड़े मजे से खाते हैं लेकिन अगर आप इसे माइक्रोवेव में बनाते हैं तो यह सेहत के लिए खतरनाक हो सकते हैं। दरअसल, जब माइक्रोवेव में पैकेट को गर्म किया जाता है तो वो ऐसे केमिकल्स छोड़ता है जो पॉपकॉर्न में मिलकर फेफड़ों को नुकसान पहुंचाते है। इससे फेफड़ों का कैंसर की संम्भावना भी बढ़ती है।

वैकल्पिक: इसकी जगह पर नार्मल तरीके से बने पॉपकॉर्न खाएं। ज्यादातर चीजें माइक्रोवेव में बनी चीजें अवाइड करें।

डिब्बाबंद पैकड चीजें 

बिजी शेड्यूल के चलते लोग पैकड बने बनाए फूड्स की ओर ज्यादा भागते हैं लेकिन सेहत के लिहाज से यह खाना आपके लिए हानिकारक है।

वैकल्पिक: इसकी बजाए घर का ताजा बना खाना खाएं तो बेहतर है।

PunjabKesari

रिफाइंड चीनी

कैंसर का एक कारण रिफांइड चीनी और हाई-फ्रुटोज कॉर्न सीरप भी है। ब्राउन शुगर में कलर और फ्लेवर मिलाए जाने के कारण यह ज्यादा खतरनाक हो जाती है। रिफाइंड चीनी से शरीर के अंदर कैंसर सेल्स बढ़ते है।

वैकल्पिक: इसकी जगह नेचुरल शुगर का इस्तेमाल करें।

कार्बोनेटिड ड्रिंक

कार्बोनेटिड ड्रिंक्स भी सेहत के लिए हानिकारक है। दरअसल, बोतल में भरी ऐसी ड्रिंक्स में कार्बोहाइड्रेट होता है। साथ ही इसमें मौजूद हाई-फ्रुटोज कॉर्न सीरप, तरह-तरह के कैमिकल्स और कलर्स भी होते हैं, जोकि कैंसर सेल्स को बढ़ावा देते हैं।

वैकल्पिक: इसकी जगह पर जूस, नारियल पानी या घर की बनी ड्रिंक पीएं। साथ ही दिनभर में कम से कम 8-9 गिलास पानी पीएं।

रिफाइंड या वेजिटेबल ऑयल

रिफाइंड व वेजिटेबल ऑयल को लंबे समय तक चलाने के लिए हाइड्रोजन और अन्य रासायनिक प्रतिक्रिया द्वारा बनाया जाता है। वहीं तेल को रिफाइन करने के एसिड और इसकी तीखी गंध को दूर करने के लिए हेक्सानॉल नामक एक रसायन का यूज होता है, जो हृदय रोग, इम्यून सिस्टम और कैंसर को बढ़ावा देते हैं।

वैकल्पिक: इसकी बजाए आप खाना बनाने के लिए नेचुरल तेल जैसे नारियल, सरसों के तेल का यूज करें। इससे कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल में रहता है और कैंसर का खतरा भी कम होता है।

PunjabKesari

नॉन-स्टिक कुकवेयर

आजकल खाना बनाने के लिए नॉन स्टिक बर्तनों का इस्तेमाल काफी बढ़ गया है। शोध के अनुसार, 90% शहरी लोग इन बर्तनों का इस्तेमाल करते हैं लेकिन बता दें कि इससे भी आप कैंसर की चपेट में आ सकते हैं। दरअसल, तेज फेलम पर नॉन-स्किट कुकवेयर का प्रयोग धुएं के रूप में PFCs कोटिंग पर असर डालता है। यह कोटिंग पेट में जाकर कैंसर, लीवर और डाइजेस्टिव सिस्टम जैसी परेशानियों का कारण भी बनता है।

वैकल्पिक: इसकी बजाए खाने बनाने के लिए कॉपर, तांबे, लौहे या स्टील के बर्तनों का यूज करें।

एल्युमिनियम फॉयल

डब्ल्यूएचओ के अनुसार, शरीर के लिए 50 मिलीग्राम एल्यूमीनियम सही होता है। वहीं फॉयल में पैक्ड फूड में करीब 2-5 मिलीग्राम एल्यूमीनियम होता है। दरअसल, फॉयल की यह मात्रा बॉडी में जिंक के अवशोषण में समस्या पैदा करती है जिससे कैंसर का खतरा बढ़ जाता है। इसके अलावा इससे बोन डेंसिटी भी कम होती है।

वैकल्पिक: इसकी बजाए आप बटर पेपर या सूती कपड़े का यूज करें।

PunjabKesari

केमिकल युक्त फल व सब्जियां

आप बाजार से जिस फल व सब्जी को ताजा समझकर घर ले आते हैं, उनमें बहुत से केमिकल्स का इस्तेमाल किया जाता है। कई बार धोने से भी यह केमिकल साफ नहीं होते और कैंसर का कारण बनते हैं।

वैकल्पिक: इससे बचने के लिए आप ऑर्गेनिक फल और सब्जियों का इस्तेमाल कर सकते हैं या घर पर ही सब्जियां उगाएं।

एयर फ्रेशनर

हर घर में इस्तेमाल होने वाले एयर फ्रेशनर ऐसे खतरनाक एयरसील कंटेनर में आता है जिससे आप कैंसर का शिकार हो सकते है। इसके अलावा यह अस्थमा का कारण भी बन सकता है।

वैकल्पिक: घर की बदबू को दूर करने के लिए आप फूल-पौधे लगाएं।

ब्यूटी प्रॉडक्ट्स

मेकअप के सामान जैसे टूथपेस्ट, डिओ, परफ्यूम, बालों का जेल, क्रीम, लोशन आदि कई चीजें भी शरीर में कैंसर पैदा कर सकती हैं। दरअसल, इनमें सोडियम लॉरेल सल्फेट होता है, जो कैंसर का खतरा बढ़ता है। साथ ही लिपिस्टिक में पाया जाने वाला मरकरी (पारा) और शैंपू में मौजूद कोल तार भी कैंसर का कारण बन सका है।

वैकल्पिक: मेकअप का इस्तेमाल कम से कम करें। साथ ही घरेलू नुस्खों को अपनी रूटीन में लाएं।

PunjabKesari

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News