19 SEPTHURSDAY2019 8:07:36 AM
Nari

प्रिंसिपल ने कटवा दिए 150 बच्चों के बाल, गुस्से में पहुंचे पैरेंट्स, जानिए पूरा मामला

  • Edited By khushboo aggarwal,
  • Updated: 16 Aug, 2019 06:25 PM
प्रिंसिपल ने कटवा दिए 150 बच्चों के बाल, गुस्से में पहुंचे पैरेंट्स, जानिए पूरा मामला

दुनिया ही नही भारत के कई हिस्सों में पानी की काफी कमी चल रही है। लोगों द्वारा पानी को बचाने के लिए काफी तरह के तरीकों की खोज की जा रही है साथ ही अपनी जीवनशैली में भी बदलाव किया जा रहा है। देश के कई हिस्सों में लगातार अंडर ग्राउंड पानी में कमी आ रही है तो कई हिस्से इस समय पानी की समस्या का सामना कर रहे है। वहीं रिसर्च के अनुसार 2020 तक दिल्ली में अंडरग्राउंड पानी खत्म हो जाएगा। इसी कारण पानी को बचाने के लिए अलग- अलग तरीकों को अपनाया जा रहा है। इसी बीच तेलंगाना स्कूल की एक घटना सामने आई है जिसमें पानी बचाने के लिए 150 बच्चियों के बाल काट दिए गए है। 

PunjabKesari,Nari

यह है पूरा मामला

तेलंगाना के मेडक जिले में गुरुकुलम नाम का एक स्कूल है। इस स्कूल में आदिवासी बच्चे पढ़ते हैं। पिछले रविवार को जब पेरेंट्स स्कूल पहुंचे तो वह देख कर हैरान हो गए थे क्योंकि उनकी बच्चियों के लंबे बाल की जगह बॉय कट थे। जब गुस्से से भरे पेरेंट्स ने प्रिंसिपल से पूछा तो उन्होंने बताया कि बच्चियों के सिर में जुएं थी और हॉस्टल में पानी की कमी थी। इसलिए बाल धोने पर पानी अधिक खर्च न हो उन्होंने सब बच्चियों के बाल काट दिए। इतना ही नही इसके लिए हर बच्ची से 25 रुपए भी लिए गए। कई बच्चियों ने इस बात का विरोद्ध भी किया था लेकिन उनकी बात नही सुनी गई। 
जब यह बात जिला मजिस्ट्रेट के पास पहुंची तो उन्होंने जांच के आदेश दिए। तब उन्होंने पाया कि बाल कटवाने का कारण पानी बचाना ही बताया जा रहा है। अगर जबरदस्ती बाल कटवाने के पीछे का कारण सिर्फ पानी बचाना ही है तो प्रिंसिपल को इसके लिए ओर भी कई तरीकें है उन पर गौर फरमा लेना चाहिए था।
 

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News