Twitter
You are hereNari

रोजाना योग करने से कम हो सकता है गर्भपात का खतरा

रोजाना योग करने से कम हो सकता है गर्भपात का खतरा
Views:- Tuesday, October 30, 2018-11:39 AM

योग सेहत की कई परेशानियां दूर करने में मददगार है। नियमित योग करने से गर्भपात का खतरा भी कम हो जाता है। गर्भपात होने का कारण सिर्फ औरतों की शारीरिक कमजोरी ही नहीं बल्कि पति के स्पर्म की गुणवत्ता का कम होना भी हो सकता है। जिस दंपत्ति को बार-बार इस तरह की दिक्कत आ रही है, उनके लिए योग बहुत फायदेमंद है। हर रोज योग करने से पति की इस समस्या का हल हो जाता है। 

शुक्राणु डीएनए की गुणवत्ता में सुधार
यह बात एम्स के प्रसूति एवं स्त्री रोग विभाग में हुए एक शोध में सामने आई है। उनका दावा है कि नियमित योग करने से शुक्राणु डीएनए की गुणवत्ता में सुधार होता है। यह शोध एंड्रोलॉजी पत्रिका में प्रकाशित हुआ था, इस अध्ययन में  60 पुरुषों को शामिल किया गया था जिसमें उन्हें 90 दिनों तक नियमित योग अभ्यास करने के लिए कहा गया और उन्हें इसका फायदा भी हुआ। 
PunjabKesari

बच्चे के स्वस्थ जन्म में सहायक 
इस बारे में प्रोफेसर रीमा का कहना है कि स्मोकिंग, खाने में पौष्टिकता की कमी, फास्ट फूड का अधिक सेवन, मोटापा, तनाव, खराब जीवनशैली डीएनए को नुकसान पहुंचाते हैं। इसका असर बच्चे के स्वस्थ जन्म और शुक्राणु डीएनए की गुणवत्ता पर इसका असर पड़ता है। जो लोग रोजाना योग करते हैं उन्हें इस तरह की परेशानी नहीं आती। 
PunjabKesari


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
Edited by:

Latest News