14 OCTMONDAY2019 11:54:55 AM
Nari

शक के चलते मां ने ही बच्चों के स्कूल में करवाई चेकिंग, जानिए क्यों ?

  • Edited By khushboo aggarwal,
  • Updated: 20 Sep, 2019 05:14 PM
शक के चलते मां ने ही बच्चों के स्कूल में करवाई चेकिंग, जानिए क्यों ?

मां न केवल अच्छे समय में अपने बच्चों का साथ देती है बल्कि बुरे वक्त में उन्हें सही रास्ता दिखाने के लिए जरुरी कदम उठाती हैं। हाल ही में दिल्ली में एक मां ने अपने बच्चे पर शक करते हुए उसी के स्कूल में चेकिंग करवा डाली। मां को जब अपने बेटे पर शक हुआ कि वह बुरी संगत में है तो उसने स्कूल प्रिंसिपल से बात कर उनकी चेकिंग करवाई। इस दौरान सीनियर बच्चों के बैग से 150 ई सिगरेट पाई गई। 

मां को अपने बेटे व उसके दोस्तों पर था शक

जानकारी के अनुसार दिल्ली के मयूर विहार स्थित एक प्राइवेट स्कूल के छात्रा की मां को उस पर व उसके दोस्तों पर शक था की वह ई सिगरेट का प्रयोग करते है। इसलिए मां से इस बारे में स्कूल प्रिंसिपल से बात की। जब प्रिंसिपल ने बिना बताए 10 से 12 वीं तक के सीनियर छात्राओं की चेकिंग करवाई तो छात्राओं के पास से 150 ई सिगरेट मिले। बच्चों से सिगरेट लेकर उनके परिवार के सदस्यों को इस बारे में जानकारी दे दी गई हैं। 

PunjabKesari,Nari

बच्चों के लिए इसे छिपाना है आसान 

ई सिगरेट का प्रचलन आम होने का कारण इसमें प्रयोग होेेने वाले कई फ्लेवर हैं। इन फ्लेवर्स के कारण इस का प्रयोग करने वालों के मुंह से किसी भी प्रकार की बदबू नही आती है। जिस कारण स्कूल या घर में इसके प्रयोग के बारे में किसी भी तरह का शक नही होता है। इतना ही नही इन्हें बैग या पॉकेट में आसानी से रख कर छिपाया जा सकता हैं।

सरकार ने की बैन E Cigarettes

कुछ दिन पहले ही केंद्र सरकार द्वारा दो दिन पहले ही  E Cigarettes पर पूरी तरह से पाबंदी लगा दी गई। इसकी बिक्री करने वाले व इसका प्रयोग करने वाले दोनों पर ही 1 लाख रुपये जुर्माना, 1 साल की सजा का नियम बनाया गया हैं। इसका मुख्य कारण यह है युवाओं में ई सिगरेट बहुत तेजी से पॉलपुर हो रही है। जिसका सीधा असर उनकी सेहत पर पड़ रहा है। इसमें चाहे सामान्य सिगरेट की तरह तंबाकू का इस्तेमाल नही होता है लेकिन युवाओं में नशीले  पदार्थ की लत लग जाती हैं।


 

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News