18 SEPWEDNESDAY2019 7:15:57 AM
Nari

प्रैग्नेंसी के दौरान स्लीपिंग पोजीशन का ध्यान रखना है जरूरी

  • Updated: 30 Oct, 2017 05:13 PM
प्रैग्नेंसी के दौरान स्लीपिंग पोजीशन का ध्यान रखना है जरूरी

गर्भावस्था में कैसे सोये : प्रैग्नेंसी के दैरान महिलाए अपने खान-पान से लेकर छोटी-छोटी बातों का खास ख्याल रखती है। ऐसे में छोटी सी गलती भी मां और शिशु के लिए खतरनाक हो सकती है। ऐसी स्थिति में गलत तरीके से सोने पर पेट पर दबाव पड़ने के कारण बच्चे के वजन और सेहत पर बुरा असर पड़ सकता है। आइए जानते है कि गर्भावस्था में कैसे सोना चाहिए

 

ऐसी स्थिति में महिलाओं को बाई तरफ की पोजीशन में सोना चाहिए। इससे बच्चे को अच्छी ब्लड सप्लाई, ऑक्सीजन और पोषण मिलता है।

 

शुरूआत के महीनों में महिलाओं को सीधा होकर सोना चाहिए। इससे बच्चे का विकास अच्छी तरह होता है।

PunjabKesari

बाई पोजीशन में सोते समय आप पैरों की बीच तकिया रख लें। इससे आपको कमर दर्द की शिकायत नहीं होगी।

 

प्रैग्नेंसी के दौरान चैन से सोने के लिए आप सॉफ्ट पिलो का भी इस्तेमाल कर सकती है।

PunjabKesari

इस दौरान दाईं तरफ सोने से आपको सारी रात जगना पड़ सकता है। दांई तरफ सोने से आपकी नींद बार-बार खुलने लगती है जिसके कारण आपकी नींद पूरी नहीं होती।

 

गलती से भी प्रैग्नेंसी के दौरान पेट के बल न सोएं। इससे पेट में आपका बच्चे की पोजिशन चेंज हो सकती है और डिलवरी के समय आपके परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

 

पेट के बल सोने से आपको सूजन और पेट दर्द जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए ऐसे समय में भूलकर भी पेट के बल न सोएं।

PunjabKesari

 

फैशन हाे या ब्यूटी टिप, महिलाअाें से जुड़ी हर जानकारी के लिए डाउलनाेड करें नारी एप्प

Related News