03 APRFRIDAY2020 1:33:17 AM
Nari

बीमारी के चलते समीरा का वजन हुआ था 102 Kg, इन महिलाओं को होती है यह प्रॉब्लम

  • Edited By Priya dhir,
  • Updated: 29 Apr, 2019 09:41 AM
बीमारी के चलते समीरा का वजन हुआ था 102 Kg, इन महिलाओं को होती है यह प्रॉब्लम

एक्ट्रेस समीरा रेड्डी दूसरी बार मां बनने वाली हैं। समीरा ने 2014 में बिजनेसमैन अक्षय वर्दे से शादी की और 2015 में बेटे हंस को जन्म दिया था। इन दिनों समीरा अपने प्रेग्नेंसी पीरियड को एन्जॉय कर रही हैं। एक इंटरव्यू के दौरान समीरा ने अपनी पहली  प्रेग्नेंसी के बारे में कई बातें शेयर की। समीरा ने बताया कि वह शादी के कुछ महीने बाद ही प्रेग्नेंट हो गई। उनका प्लान था कि प्रेग्नेंसी के बाद फिर से लाइमलाइट में आएगी लेकिन ऐसा नहीं हो पाया।

बढ़े हुए वजन से हुईं ट्रोल

पिछले काफी समय से समीरा को बढ़े हुए वजन के कारण ट्रोल होना पड़ा। समीरा ने ट्रोलर्स को जवाब देते हुए कहा कि हर कोई करीना कपूर नहीं हो सकता, जो प्रेग्नेंसी के बाद तेजी से अपना वजन कम कर सके। अब जबकि समीरा दूसरी बार प्रेग्नेंट हैं और उनका वजन भी बढ़ा हुआ है तो वे कहती हैं, "मैं हमेशा ग्लैमरस नहीं दिख सकती। लेकिन सामने आकर कहना चाहती हूं कि यह भी ठीक है।"
PunjabKesari, sameera reddy

पहली प्रेग्नेंसी के बाद 5 महीने रहीं बेड पर 

समीरा ने कहा, "प्रेग्नेंसी के बाद मुझे प्लेसेंटा प्रेविया हो गया था, जिसकी वजह से मैं करीब 4 से 5 महीने बेड रेस्ट पर रही। मेरा वजन बढ़ गया और मैं मानसिक रूप से परेशान रहने लगी क्योंकि ये शोज, अवॉर्ड फंक्शंस और ग्लैमरस लाइफस्टाइल से चलकर उसे हैंडल करने की असमर्थता थी, जो मेरे साथ प्रेग्नेंसी के चलते हो रहा था।" 
 

क्या है प्लेसेंटा प्रेविया?

नाल गर्भस्थ शिशु को ऑक्सीजन और पोषक तत्व प्रदान करती है। साथ ही यह बच्चे के खून से अपशिष्‍ट पदार्थों को भी हटाती है। यह गर्भाशय की दीवार से जुड़ी होती है और बच्चे की अम्बिलिकल कॉर्ड यहीं से निकलती है। प्रेग्नेंसी के अधिकांश मामलों में नाल सबसे ऊपर या गर्भाशय की ओर होती है लेकिन प्लेसेंटा प्रेविया की सिचुएशन में यह गर्भाशय के निचले क्षेत्र से जुड़ी होती है।

प्लेसेंटा प्रेविया होने पर प्रेग्नेंसी में बिस्तर पर आराम न करने के लिए कहा जाता है। बच्‍चे के सुरक्षित जन्‍म के लिए सर्जरी करने की भी जरूरत पड़ सकती है।
PunjabKesari

इसका मुख्य लक्षण दर्द के साथ तेज ब्लीडिंग है। जो महिलाएं 30 या 40 की उम्र के बाद प्रेग्नेंट होती हैं उनमें यह समस्या ज्यादा देखी जाती है। इसके अलावा प्रेग्नेंसी में धूम्रपान व नशे का सेवन, पहले कभी गर्भपात का होना, गर्भाशय की सर्जरी होने के कारण भी प्लेसेंटा प्रेविया की समस्या हो जाती है। अगर शुरुआत में इसे गंभीरता से ना लिया जाए तो यह मां व बच्चे दोनों के लिए जानलेवा साबित हो सकता है।

102 किलो हो गया था वजन

समीरा ने बताया कि बेटे के जन्म के बाद उनका वजन 102 किलो हो गया था। समीरा ने कहा, "सेक्सी सैम होने के बाद मैं मोटी हो गई थी। मेरा वजन 32 किलो ज्यादा हो गया था और मैं खुद को पहचान भी नहीं पा रही थी। मैं पूरी तरह मेस हो चुकी थी। जब मैं घर से निकलती थी तो लोग कहते थे क्या ये समीरा रेड्डी है? इसे क्या हुआ? इससे मैं और हताश हो जाती थी।" 

डिप्रेशन का भी हुई शिकार 

समीरा की लाइफ में एक वक्त ऐसा भी आया जब वे किसी तरह की चकाचौंध को बर्दाश्त नहीं कर पाती थी और डिप्रेशन का शिकार हो गई। थेरेपी की मदद से उन्होंने समझा कि एक इंसान के तौर पर वे कितनी कन्फ्यूज्ड थीं। एक एक्ट्रेस के तौर पर वे क्या थीं और आज एक मां और पत्नी के रूप में क्या हो गई हैं। समीरा ने कहा कि पहले बच्चे के बाद मुझे वजन कम करने में काफी समय लगा था। हो सकता है दूसरे बच्चे में भी समय लगे। 
 

Related News