23 OCTWEDNESDAY2019 6:50:30 AM
Nari

60 साल तक फिल्मों पर किया राज लेकिन ताउम्र किराए के मकान पर रही ये एक्ट्रेस, जानिए क्यों?

  • Edited By Sunita Rajput,
  • Updated: 11 Oct, 2019 05:34 PM
60 साल तक फिल्मों पर किया राज लेकिन ताउम्र किराए के मकान पर रही ये एक्ट्रेस, जानिए क्यों?

हिंदी सिनेमा में अपना महत्वपूर्ण योगदान देने वाली दीना पाठक की आज यानी 11 अक्टूबर को 17वीं पुण्यतिथि है। दीना का साल 2002 में लंबी बीमारी के बाद हार्ट अटैक से निधन हो गया था। दीना पाठक आखिरी दिनों तक फिल्मों में एक्टिव रहीं लेकिन शादी के दर्जी से की और ताउम्र खुद का मकान नहीं खरीदा। 

punjab kesari

गुजरात के अमरेली में जन्मीं दीना पाठक केवल एक्टिंग ही नहीं बल्कि स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान भी काफी सक्रिय थीं जिसकेचलते उन्हें मुंबई के सेंट जेवियर्स कॉलेज से उन्हें निकाल दिया गया था। दीना की शादी बलदेव पाठक से हुई जोकि पेशे से एक दर्जी थे। मगर उनके पति ने राजेश खन्ना और दिलीप कुमार तक के कपड़े डिजाइन किए थे। दीना के पति खुद को इंडिया का पहला डिजाइनर कहते थे, मगर राजेश खन्ना के फिल्मों के करियर में गिरावट के कारण उनकी दुकान पर भी काफी असर पड़ा, हालांकि दुकान बंद करने तक की नौबत आ गई थी और 52 साल की उम्र में दीना के पति का निधन हो गया।

punjab kesari

दीना पाठक ने 120 से ज्यादा फिल्मों में काम किया और उनका अभिनय करियर 60 साल लंबा था। फिल्मों के साथ वो गुजराती थियेटर में भी काफी सक्रिय थीं जिसके कारण उनकी दोनों बेटियां रत्ना और सुप्रिया थियेटर में आईं। आज दीना पाठक की दोनों बेटियां एक्टिंग की दुनिया का जाना-पहचाना नाम हैं।बता दें कि अभिनेत्री दीना पाठक शाह ने ताउम्र अपनी जिंदगी किराए के मकान में गुजार दी, लेकिन अपनी जिंदगी के अंतिम दिनों में उन्होंने जाकर एक घर खरीदा। दीना की बेटी सुप्रिया पाठक ने बताया था कि उनकी मां का निधन 80 साल की उम्र में हुआ लेकिन उन्होंने 75 साल की उम्र में अपना घर खरीदने की इच्छा जताई थी।

punjab kesari

फिर सुप्रिया पाठक और उनकी बहन रत्ना ने मां की इस इच्छा को पूरा करने के लिए खुद के पैसों से एक घर खरीदा। अपने घर में आकर दीना ने एक ऐसी बात कहीं जोकि एक कलाकार की सोच और उनकी ऊर्जा को दर्शाता है कि एक कलाकार उम्र का मोहताज नहीं होता और कलाकार कभी बूढ़ा नहीं हो सकता। वो एक कलाकार ही हो सकता हैं जो 75 साल की उम्र में भी कहे कि उन्होंने जो पूंजी रखी है, उससे उनको अब भी घर नहीं लेना क्योंकि उन्होंने ने वो पूंजी अपने बूढ़ापे के लिए बचा रखी हैं।

punjab kesari

सुप्रिया ने कहा कि मां की ये बात सुन कर हम भी हैरान थे, लेकिन उनको सलाम भी है कि वह 75 साल की उम्र में भी बुढ़ापे के आने का अभी इंतजार ही कर रही थी। वह यह नहीं मानतीं कि बुढ़ापे ने कब का उनकी दहलीज पर कदम रख दिया है। सुप्रिया कहती हैं कि हमने उन्हें समझाया कि मां 75 अगर ओल्ड एज नहीं है तो आप शायद कभी बूढ़ी नहीं होगी।

punjab kesari

बता दें कि दीना खुद के घर में कुछ सालों तक रहीं। मगर अपने निधन के कुछ महीनों तक शूटिंग ही कर रही थीं वह इस तरह काम को लेकर समर्पित थीं। सुप्रिया कहती हैं कि एक कलाकार में वह पैशन होना ही चाहिए कि वह तब तक काम करे जब तक उनकी इच्छा हो। उन्होंने कभी भी गिव अप नहीं किया जोकि बाकी लोगों के लिए भी एक प्रेरणा हैं।

 

Related News