23 AUGFRIDAY2019 7:38:40 AM
Nari

मेनोपॉज के बाद बढ़ जाता है हार्ट अटैक का खतरा, 5 टिप्स करेंगे बचाव

  • Edited By Vandana,
  • Updated: 23 Jan, 2019 07:19 PM
मेनोपॉज के बाद बढ़ जाता है हार्ट अटैक का खतरा, 5 टिप्स करेंगे बचाव

पीरियड्स के दौरान लड़कियों को कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इस दौरान वह पेट दर्द, तनाव और कमजोरी महसूस करती हैं लेकिन इससे महिलाओं को दिल की बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है। एक रिसर्च के अनुसार, पीरियड्स रुकने के 10 साल बाद हार्ट अटैक के मामले में बढ़ौतरी देखी गई है। ऐसे में मेनोपॉज के बाद कुछ बातों का ख्याल रखना बहुत जरूरी है। 

 

शराब और धूम्रपान से दूरी

महिलाओं के शरीर में हार्मोन एस्ट्रोजन बनते हैं जो मेनोपॉज के बाद काफी कम हो जाते हैं। इससे दिल के पास ज्यादा वसा जम जाती है, जिससे हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में आप शराब, सिगरेट का सेवन ना करें। सर्च का कहना है कि ध्रूम्रपान करने वाली महिलाओं में हार्ट अटैक की संभावना बढ़ जाती है।

PunjabKesari, women drinking and smoling

 

जरूरी है पोष्टिक डाइट 

मेनोपॉज के दौरान आपका वजन भी बढ़ सकता है। इसके अलावा ब्लड प्रेशर और डायबिटीज का खतरा बढ़ जाता है जो हार्ट प्रॉब्लम को भी बढ़ावा देता है लेकिन अगर आप हेल्दी आहार खाएंगी तो इस तरह के खतरे दूर रहेंगे।  अपनी डाइट में ओमेगा-3 फैटी एसिड जरूर शामिल करें।

PunjabKesari, women diet

कार्डियो एक्सरसाइज है बेस्ट

 एस्ट्रोजन के स्तर कम होने से हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में हफ्ते में कम से कम 30 मिनट के लिए कार्डियो एक्सरसाइज जरूर करें। इससे आपको काफी फायदा मिलेगा।

 

सैर और जॉगिंग 

हलकी-फुलकी सैर जॉगिंग और साइक्लिंग करना काफी फायदेमंद है। अगर आप हेल्दी रहना चाहते हैं तो रोजाना जरूर जॉगिंग करें।

PunjabKesari, women jogging
 

चेकअप करवाएं

इस दौरान कई महिलाओं के दिल की धड़कन तेज होने लगती है। अगर आपको भी ऐसा होता है तो फौरन डॉक्टर से चेकअप करवाएं। इसके अलावा गर्दन, कंधे, ऊपरी पीठ या पेट में जकड़न, सांस की तकलीफ, मतली या उल्टी, पसीना, हल्कापन या चक्कर आना और असामान्य थकान होने पर भी इसे इग्नोर न करें। यह हार्ट अटैक आने के लक्षण हैं।

 

Related News

From The Web

ad