03 APRFRIDAY2020 1:45:28 AM
Nari

उतरन फेम रश्मि हुईं थी इस बीमारी की शिकार, 100 में से 2 को ही होती हैं यह प्रॉब्लम

  • Edited By Priya dhir,
  • Updated: 13 Feb, 2020 04:19 PM
उतरन फेम रश्मि हुईं थी इस बीमारी की शिकार, 100 में से 2 को ही होती हैं यह प्रॉब्लम

टीवी एक्ट्रेस रश्मी देसाई इन दिनों बिग-बास13 से खूब सुर्खियां बटौर रही हैं। भले ही अब वो काफी चर्चा में हो लेकिन एक समय ऐसा भी था, जब वो अपनी गंभीर बीमारी के चलते 4 महीने के लिए घर में ही कैद हो गई थी। दरअसल, एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया कि वह स्किन संबंधित बीमारी सोरायसिस से जूझ रही थी, जिसके चलते उनका घर से बाहर निकालना भी मुश्किल हो गया था।

दिसंबर में चला था बीमारी का पता 

रश्मि ने बताया कि उन्हें दिसंबर में पता चला कि उन्हें सोरायसिस है जिसकी वजह से उनका वजन काफी बढ़ गया। वह बीमारी से इतनी परेशान थी कि उनका घर से बाहर निकलना मुश्किल हो गया था। वह दिन में तो बिल्कुल भी बाहर नहीं निकलती थी क्योंकि धूप से उनकी समस्या और भी बढ़ सकती थी।
PunjabKesari

रश्मि ने कहा "पिछले कुछ महीनों से मैं हेल्थ इश्यू से जूझ रही हूं। बीते दिसंबर में मुझे सोरायसिस का पता चला। स्किन संबंधी इस बीमारी को ठीक होने में कुछ समय लगता है और कभी-कभी यह पूरी तरह ठीक भी नहीं होती है। पिछले चार महीने से मैं स्टेरॉयड ट्रीटमेंट प्रोग्राम पर थी, इसके चलते मेरा वजन भी बहुत बढ़ गया था। आगे उन्होंने बताया, "यह समस्या तनाव के कारण बढ़ती है। लेकिन इस बिजनेस में रहते हुए, जहां एक्टर का चेहरा ही सबकुछ है, तनाव से दूर रह पाना संभव नहीं है।" वे कहती हैं कि अब उनका सोरायसिस कंट्रोल में है और वे बढ़े हुए वजन को कम करने की कोशिश कर रही हैं।

क्या है सोरायसिस?

सोरायसिस स्किन की ऊपरी सतह पर होने वाला चर्म रोग है। सोरायसिस एक वंशानुगत बीमारी है लेकिन यह कई अन्य कारणों से भी हो सकता है। यह रोग 100 में से केवल 1 या 2 प्रतिशत लोगों को ही होता है। इसे छाल रोग भी कहते हैं। इसमें त्वचा पर एक मोटी परत जम जाती है और लाल रंग की त्वचा के रूप में उभर जाती है। ज्यादातर यह सिर के बालों के पीछे, हाथ पैर, हथलियों या पीठ पर होता है।  इस समस्या में पीड़ित को त्वचा पर खुजली होने लगती है।
PunjabKesari

कैसे होता है सोरायसिस?

जब हमारे शरीर में पूरी नई त्वचा बनती है तो उस दौरान शरीर के एक हिस्से में नई त्वचा 3-4 दिन में ही बदल जाती है लेकिन सोरायसिस के दौरान त्वचा इतनी कमजोर और हल्की पड़ जाती है जिससे यह बनने से पहले ही खराब होने लगती है। प्रभावित स्किन पर लाल चकते और रक्त की बूंदें दिखाई देने लगती है।

किन लोगों को होती है सोरायसिस की प्रॉब्लम ?

पौष्टिक आहारों की कमी या जो लोग घी-तेल का बिलकुल सेवन नहीं करते उन्हें इस बीमारी का खतरा रहता है क्योंकि इससे स्किन को चिकनाई व मॉश्चराइज नहीं मिल पाता। बहुत ज्यादा तेज धूप में बाहर रहने वाले स्किन की केयर ना करने वाले लोगों को भी यह समस्या हो सकती है। 

सोरायसिस होने पर क्या करें?

ऐसी समस्या होने पर स्किन स्पैशलिस्ट को जरूर दिखाएं। तनाव रहित रहें और थ्रोट इंफैक्शन यानि गले के इंफैक्शन से बचाव करें क्योंकि यह सीधा सोरायसिस को प्रभावित कर रोग को बढ़ाता है। त्वचा को अधिक ड्राई होने से भी बचाएं ताकि खुजली न हो।अगर अभी शुरुआत ही है तो मॉइस्चराइजिंग क्रीम का इस्तेमाल करते रहें। 

सोरायसिस के घरेलू टिप्स 

- मॉइश्चराइज साबुन का इस्तेमाल करें
-  एक कप ओटमील गुनगुने पानी में डालें और इसमें खुशबूदार तेल की कुछ बूंदें मिलाएं। इससे नहाने से शुष्क, लाल दानों से भरी त्वचा, खुजली और जलन से राहत मिलेगी।  
- नहाने के बाद हमेशा अच्छा बॉडी लोशन का इस्तेमाल करें।
- सॉफ्ट फेब्रिक के कपड़े पहने।

प्रॉब्लम ज्यादा होने पर डॉक्टरी सलाह जरूर लें। 
 

Related News