09 DECMONDAY2019 3:21:16 AM
Nari

Alert! प्रेग्नेंट महिलाएं भूलकर भी ना पीएं 'प्लास्टिक बोतल' में पानी

  • Edited By Harpreet,
  • Updated: 17 Nov, 2019 02:14 PM
Alert! प्रेग्नेंट महिलाएं भूलकर भी ना पीएं 'प्लास्टिक बोतल' में पानी

आजकल लोग घर से बाहर निकलते वक्त अपने साथ या फिर बाहर से खरीदकर प्लास्टिक की बोतल में पानी पीते हैं। मगर शायद आप नहीं जानते कि प्लास्टिक की बॉटल में पानी पीना आपकी सेहत पर भारी पड़ सकता है। खासतौर पर गर्भवती महिलाओं को प्लास्टिक की बॉटल में पानी पीने से खास परहेज करना चाहिए क्योंकि इसका असर उनके साथ-साथ कोख में पल रहे बच्चे पर भी पड़ता है।

Related image,nari

शोध के अनुसार जिन प्लास्टिक बॉटल्स में हम पानी पीते हैं, वे बोतलें कूड़े-कर्कट को रीसाइकल करने के बाद तैयार की जाती हैं। साथ ही अगर आप पानी की बोतल बाहर से खरीदते हैं तो पता नहीं होता कि उनमें पानी कब से स्टोर है। ढके हुए बर्तन या फिर बोतल में पानी 4 से 5 घंटे के बाद पीने लायक नहीं रहता। ऐसे में यदि गर्भवती महिला पुराने पडे़ पानी का सेवन करेगी तो खुद ही सोचें उसकी सेहत और बच्चे के विकास पर भला कितना बुरा असर डलेगा।

बच्चे पर पड़ने वाला बुरा प्रभाव

प्लास्टिक की बॉटल में पानी पीने से गर्भ में पल रहे बच्चे के शुक्राणुओं पर गहरा असर डलता है। जिस वजह से उसका विकास धीमी गति से होता है। साथ ही जन्म लेने वाले बच्चे को डायबिटीज और दिल से जुड़ी बिमारियां होने के चांसिस रहते हैं।

Image result for pregnant women drinking water,nari

प्रेगनेंसी में दिक्कत

इसी के साथ जो महिलाएं गर्भधारण करने के बारे में सोच रही हैं, उनके लिए भी यह प्लास्टिक की बोतल में पानी पीना नुकसानदायक सिद्ध होता है। जिस वजह से गर्भधारण करने में उन्हें दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

सिस्ट ( गांठे )

इस तरह प्लास्टिक बॉटल में पानी पीने से Ovaries में गांठे बनने लगती है। जिस वजह से शरीर में फैट और अन्य कई समस्याओं का महिलाओं का सामना करना पड़ता है।

तो ये थी प्लास्टिक वाली बॉटल में पानी पीने से सेहत को पहुंचने वाले नुकसान। प्लास्टिक की जगह अपने पास तांबे या फिर मेटल से बनी पानी की बॉटल रखें। 

 

तांबे के फायदे

तांबा यानि कॉपर, कॉपर से तैयार बॉटल में पानी पीने से शरीर को बहुत से लाभ मिलते हैं। तांबा जहां शरीर में कॉपर की कमी को पूरा करता है वहीं इससे आपके शरीर को बीमारियों से लड़ने की ताकत भी मिलती है। तांबे में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होने के कारण शरीर में दर्द, ऐंठन और सूजन की समस्या नहीं होती। ऑर्थराइटिस की समस्या से निपटने में भी तांबे का पानी बहुत लाभदायक सिद्ध होता है।

Image result for copper bottle,nari

तो आज से ही यदि आप प्लास्टिक बॉटल में पानी पीने की जगह तांबे की बोतल अपने पास रखें और उसी पानी का सेवन करें। 
 

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News