17 OCTTHURSDAY2019 11:17:56 PM
Nari

Menstrual Hygiene Day: क्या आपको पता है पीरियड्स से जुड़ी ये 6 बातें?

  • Edited By Sunita Rajput,
  • Updated: 28 May, 2019 11:35 AM
Menstrual Hygiene Day: क्या आपको पता है पीरियड्स से जुड़ी ये 6 बातें?

आज दुनियाभर में वर्ल्ड विश्व मासिक धर्म स्वच्छता दिवस (World Menstrual Hygiene Day) मनाया जा रहा है। महिलाओं को पीरियड्स आना एक नैचुरल प्रक्रिया है, जिसमें शरीर का दूषित खून बाहर निकल जाता है। इस दिन महिलाओं को पीरियड्स हाइजीन के लिए जागरूक किया जाता है। दरअसल, अक्सर महिलाएं पीरियड्स के दौरान स्वच्छता को इग्नोर कर देती हैं जिससे इंफैक्शन का खतरा बढ़ जाता है जो कई तरह की हैल्थ प्रॉबल्म को बढ़ावा देती है। इसलिए हर महिला को मासिक धर्म स्वच्छता के टिप्स पता होने चाहिए। चलिए आज हम आपको उन्हीं हाइजीन टिप्स के बारे में बताएंगे जिनके बारे में हर महिला को मालूम होना चाहिए। 

 

पीरियड्स के लिए अलग अंडरवियर रखें

पीरियड्स के दिनों में अपने पास अलग से कुछ अंडरवियर रखें और बदल-बदल कर इस्तेमाल करें। अगर दाग लगे तो उसे तुरंत धोएं और अपनी अंडरवियर को कीटाणु मुक्त रखें क्योंकि दागदार अंडरवियर पहनने से स्किन रैशेज व इंफैक्शन की समस्या हो सकती है। जब कभी भी बाहर जाए तो अपने पास अंडरवियर की ज्यादा जोड़ी रखें और इन्‍हें डिटॉल की मदद से अन्‍य कपड़ों से अलग धोएं।

PunjabKesari

हर 4-5 घंटे बाद बदले नैपकीन 

पीरियड्स में ब्लीडिंग होती है तो कई तरह के जीवाणु उत्पन्न होते हैं जो ब्लड के फ्लो को बढ़ा देते है जिससे जलन, रैशेज, यूरिन इंफैक्शन की समस्या हो सकती हैं। इसलिए हर 4-5 घंटे बाद नैपकीन बदले। अगर आप टैम्पान पहनती हैं तो उसे हर 2 घंटे में बदलें। इससे आप इंफैक्शन से बची रहेगी और दुर्गंध की समस्या भी नहीं होगी। 

PunjabKesari

टायलेट यूज के बाद वेजाइना जरूर धोएं

मासिक धर्म के दौरान अपनी योनि की सफाई पर पूरा ध्‍यान रखना चाहिए क्योंकि इसकी बाहरी स्किन पर कई सिलवटे होती है जो ब्लड को इकट्ठा कर लेती है, जिससे दुर्गंध हो सकती है। इसलिए जितनी बार भी टायलेट इस्तेमाल करें, उतनी बार वेजाइना धोएं। मगर ध्यान रखें कि इसे यूरिन ट्रेक तक न धोएं क्योंकि इससे आस-पास बैक्टीरिया फैल सकते हैं।

PunjabKesari
  
सेनेटरी नैपकिन को ठीक से डिस्कार्ड करें

इस्तेमाल करने के बाद सेनेटरी नैपकिन को सही तरीके से डिस्कार्ड यानी डस्टबिन में डालें। सबसे पहले इसे अच्छे से लपेटे, ताकि बैक्टीरिया या इंफैक्शन न फैले। ध्यान रहे कि नैपकीन को फ्लश न करें क्योंकि यह टायलेट को ब्लोक कर देगा जिससे पानी वापस हो जाएगा जो बैक्टीरिया फैलाने का काम करेगा। 

PunjabKesari

स्वच्छता के लिए एक तरीका इस्तेमाल करें

पीरियड्स के दौरान किसी एक चीज का इस्तेमाल करें जबकि कुछ लोग पीरियड्स के दौरान कपड़े, टैम्पोन या किसी अन्य पैड के साथ सैनिटरी पैड का इस्तेमाल करते हैं जोकि बिल्कुल गलत है। रोजाना इस्तेमाल के लिए सिर्फ सैनिटरी पैड इस्तेमाल करें क्योंकि पैड/कपड़े/ टैम्पोन से रैशेज और इंफैक्शन हो सकती हैं।  

 

गर्म पानी से स्‍नान करें 

पीरियड्स के दौरान बैक्टीरिया या इंफैक्शन से बचने के लिए गर्म पानी से स्‍नान करें। इससे स्किन इंफैक्शन दूर रहेगी और थकावट कम महसूस होगी। साथ ही इससे शरीर में आने वाली दुर्गंध भी दूर होती है। मगर ध्यान रखें कि नहाते समय सोप का इस्तेमाल न करें क्योंकि इससे वेजाइना और आसपास के गुड बैक्टीरिया खत्म हो सकते हैं, जिससे इंफैक्शन का खतरा बढ़ सकता है। 


  
 

Related News