23 OCTFRIDAY2020 6:00:59 PM
Nari

कब्ज होने के प्रमुख कारण

  • Updated: 01 Apr, 2015 10:58 AM
कब्ज होने के प्रमुख कारण

हाजत रोकना 
पाखाने के हाजत की तुलना घड़ी की सुबह जगाने वाली घंटी (अलार्म) से की जा सकती है जो थोड़ी ही देर बोलती है । यह विवेक ध्वनि की भांति है । इस पर अमल न करने पर उसका सुनाई देना बंद हो जाता है । हाजत से शौच और बिना हाजत के शौच में बड़ा अंतर है । हाजत से शौच जाने पर पेट बहुत शीघ्र और अच्छी तरह साफ हो जाता है । शौच का समय निश्चित करके ठीक उसी समय जाते रहने से और मन से मलाशय पर जोर डालने से कुछ दिनों बाद हाजत होने लगती है ।  पुरानी से पुरानी कब्ज भी दूर करेंगे ये चमत्कारी उपाय



भोजन की अनियमितता 
भोजन में अनियमितता रखकर शौच में नियमितता नहीं लाई जा सकती । खाने का समय अस्त-व्यस्त हो जाने पर शौच में भी अनियमितता स्वाभाविक है । 



निद्रा में व्याघात 
शौच की नियमितता का नींद से और सवेरे उठने के वक्त से भी कम संबंध नहीं है । यदि कोई कभी रात को कम सोए या देर-सवेर सोए तो शौच के क्रम में अवश्य अंतर पड़ जाएगा । सही समय से सोना, सही समय पर उठना और रात को सोने से कम से कम चार घंटे पहले रात का भोजन कर लेना कब्ज निवारण की अत्यावश्यक विधि है ।  कब्ज से है परेशान तो अपनाएं ये घरेलू नुस्खे


शौच में जल्दबाजी 
आमतौर पर शौच का काम कुछ पलों का ही होता है परंतु कुछ लोगों को शौच में 5 से 15 मिनट तक लग जाते हैं । जल्दबाजी करने से उल्टा खिंचाव होने लगता है और शौच एकदम रुक जाता है ।


पानी की कमी 
कम पानी पीना कब्ज पैदा करता है । शरीर में पानी की कमी होने पर आंतें खुराक में से अधिक मात्रा में पानी खींच लेती हैं । प्यास लगे व्यक्ति को पानी पीना न भूलना चाहिए किन्तु भोजन के समय कम से कम पानी पीना अच्छा है । भोजन के समय अधिक पानी पीने से पाचक रसों की तेजी कम हो जाती है । ‘‘अगर रहती कब्जी है तो पीने का पानी व खाने की सब्जी है ।’’



मानसिक चिंता 
हमारे शौच पर भी मन का बहुत असर पड़ता है । यदि व्यक्ति चिंतित मन लेकर पाखाने जाता है तो शौच साफ नहीं होता । 


अन्य कारण : नशा, भूख से अधिक खाना, बिना भूख खाना, कम खाना, बिना खुज्जेवाली खुराक, बिना चबाए खाना, लगातार कब्ज नाशक चूर्ण फांकते रहना ।  

 


— डा. मनोहर दास अग्रावत

Related News