23 APRTUESDAY2019 11:28:42 AM
Nari

पहली बार चुनाव लड़ेंगी ये 6 औंरतें, कोई एक्ट्रेस तो कोई है IPS अधिकारी

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 15 Apr, 2019 10:48 AM
पहली बार चुनाव लड़ेंगी ये 6 औंरतें, कोई एक्ट्रेस तो कोई है IPS अधिकारी

लोकसभा चुनाव दरवाज़े पर हैं। 2019 में मुकाबला किस तरफ झुकेगा, कह नहीं सकते लेकिन एक बात जो तय है कि इस बार चुनाव में महिलाओं की भागीदारी पर काफी तेज़ नज़र बनी हुई है। महिलाएं हर क्षेत्र में खुद को साबित कर चुकी है और चुनाव में भी उनका ही बोलबाला नजर आ रहा है। भले ही महिलाओं को 33 फीसद आरक्षण देने का बिल काफी समय से अटका हुआ है लेकिन इसके बावजूद बहुत सी महिलाएं है जो इस चुनाव में पहली बार खड़ी हो रही हैं। आइए जानते हैं कौन है वे महिलाएं-

 

उर्मिला मातोंडकर

बॉलीवुड में 'छम्मा-छम्मा' गर्ल के नाम से मशहूर हुईं उर्मिला मातोंडकर मुंबई नॉर्थ से काग्रंस के टिकट पर चुनाव लड़ रही हैं। उर्मिला ने 'नरसिन्हा' फिल्म से अपनी फिल्मी करियर की शुरुआत की थी लेकिन उन्हें असली सफलता रामगोपाल वर्मा की फिल्म 'रंगीला' से मिली। उन्होंने शादी के बाद फिल्मों से दूरी बना ली थी लेकिन 2019 के लोकसभा चुनावों में खड़े होकर वह दोबारा सुर्खियां बटौर रही है।


राजकुमारी दिया कुमारी

दिया कुमारी बीजेपी की नेता है। यह राजस्थान के सवाई माधोपुर की पूर्व विधायक है। दरअसल यह जयपुर के आखिरी महाराजा सवाई भवानी सिंह और रानी पद्मिनी देवी की बेटी है। कुछ समय पहले ये शादी के 21 बाद ले रहे तलाक से काफी चर्चा में थी। इस समय राजकुमारी दिया कुमारी, लोकसभा चुनाव लड़ने की तैयारी में है। इन्हें बीजेपी के द्वारा राजसमंद लोकसभा सीट से टिकट दिया है। 

PunjabKesari

 

भारती घोष

पश्चिम बंगाल की पूर्व IPS अधिकारी भारती घोष 'घाटल' से पहली बार चुनाव लड़ रही है। हैरान करने वाली यह है कि किसी जमाने में मुख्यमंत्री ममता बेनर्जी की करीबी मानी जाती थी लेकिन इस साल वह बीजेपी की तरफ से चुनाव में खड़ी हुई है। वैसे तो पिछले साल से ही खबरें उड़ रही थी कि भारती घोष चुनाव में उतरेंगी लेकिन इस साल यानि 4 फरवरी 2019 को उन्होंने इस खबर को सच कर दिया। खबरों के अनुसार भारती घोष का मानना है कि पश्चिम बंगाल में डेमोक्रेसी नहीं की जगह ठगोक्रेसी हो रही है इसलिए उन्होंने बीजेपी में शामिल होकर चुनाव लड़ने की ठानी है।


क्वीन ओझा

इन्हें बीजेपी से टिकट मिली है। यह गुवाहाटी से चुनाव लड़ रही है। यह पहले इस क्षेत्र की मेयर रह चुकी है। इनको लेकर अभी -अभी विवाद हुआ है। इनके नामांकन के समय इनकी एजुकेशनल क्वालिफिकेशन पर बहस छिड़ गई थी। इनका कहना है कि एफिडेविट में गड़बड़ी की गई है। उनको शक था कि उनके असली एफिडेविट को बदल कर गलत एफिडेविट को रख दिया गया था ताकि नांमाकन में परेशानी खड़ी हो सके लेकिन परेशानियों के बावजूद भी उन्होंने अपना नॉमिनेशन बचा लिया है।

PunjabKesari

बेलापति

अकबरपुर और कानपुर से बेलापति नामक महिला निर्दलीय चुनाव में उतरी है। अक्सर देखा गया है कि चुनाव लड़ने वाले बड़े-बड़े दिग्गज या उनके आस-पास रहने वाले ही होते हैं लेकिन बेलापति जी 50 साल की है और पत्थर छीलने का काम करती है। अपने काम से उन्हें दो वक्त की रोटी ही मिल पाती है। ऐसे में उन्होंने लोगों की दिक्कत कम करने के लिए बिना किसी के साथ के खुद ही चुनाव में खड़े होने का निर्णय किया। हालांकि इस सीट पर उनकी टक्कर कांग्रेस के श्री प्रकाश जायसवाल, बीजेपी के सत्यदेव पचौरी, और सपा-बसपा गठबंधन के रामकुमार निषाद से होगी।

 

बौबीता शर्मा

गुवाहाटी की सीट पर बौबीता शर्मा को भी सीट मिली है लेकिन वह कांग्रेस की तरफ से लड़ रही है। गौरतलब है कि 2016 में विधानसभा चुनाव में इन्होनें चुनाव लड़े थे लेकिन जीत नहीं पाई। इस बार ये लोकसभा का चुनाव पहली बार लड़ रही है। यह पॉपुलर एक्ट्रेस और ब्यूटी क्वीन रह चुकी हैं। इस साल वह अपने लिए पांच साल मांगने आई है। वह 'सिटिज़नशिप अमेंडमेंट बिल' के खिलाफ है जिस वजह से आसाम हाल ही में काफी सुर्खियों में है।

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News

From The Web

ad