17 AUGSATURDAY2019 8:51:00 PM
Nari

भारत की 'लेडी सिंघम' मेरिन जोसफ, साऊदी से पकड़ कर लाई रेपिस्ट, पढ़िए इनकी स्टोरी

  • Edited By khushboo aggarwal,
  • Updated: 20 Jul, 2019 01:16 PM
भारत की 'लेडी सिंघम' मेरिन जोसफ, साऊदी से पकड़ कर लाई रेपिस्ट, पढ़िए इनकी स्टोरी

भारत में महिलाओं के खिलाफ हो रहे अपराधों की संख्या दिन प्रति दिन काफी बढ़ती जा रही है। इन अपराधों में से आधे अपराधों के बारे में पुलिस को जानकारी ही नहीं दी जाती है, अगर उन्हें जानकारी हो भी जाती है तो कई अपराधी ऐसे होते है जोकि पकड़े नहीं जाते है। ऐसे में अपराध करने वाले अपराधी खुले आम घूमते है, वहीं जिनके साथ अपराध होता है समाज उन्हें सजा दे देता हैं। ऐसे में उन पुलिस वालों की काफी जरुरत है जोकि इन अपराधियों को पकड़ कर उन्हें सजा दें। जिससे लोगों में उनके प्रति विश्वास पैदा हो। 

PunjabKesari

ऐसा ही काम केरल के कोल्लम जिले की पुलिस कमिश्नर मेरिन जोसफ ने किया। वहां पर हुई रेप की घटना के बाद मेरिन खुद रेपिस्ट को पकड़ने के लिए साउदी गई। वहां पर अपराधी को वापिस लाकर सजा दिलाई। मेरिन ने साउदी जा कर वहां पर टाइल वर्कर के तौर पर काम कर रहे सुनील कुमार भड्रान को वापिस लेकर आई। 2017 में सुनील ने 13 साल की बच्ची के साथ यौन शोषण किया था। उसके बाद से वह भारत से फरार था। केरल में हुए अपराध में साऊदी से वापिस आया पहला अपराधी है, जिसे सजा मिली है। मेरिन के इस काम के लिए लोग उसे लेडीज सिंघम के नाम से बुलाते है। 

 

क्या है केस की कहानी 

2017 में सुनील जब भारत आया था तो उसने अपने दोस्त की 13 साल की भतीजी का रेप किया था। केरल में अपनी छुट्टियां बिताते हुए उसने तीन महीने तक अपने दोस्त की भतीजी के साथ यौन शोषण किया था। परेशान हुई बच्ची ने जब अपने घर वालों को यह बात बताई तब तक सुनील सऊदी जा चुका था। लड़की को घर पर में रहने नही दिया गया, तो उसे सरकारी महिला मंदिर रेस्कयू होम भजे दिया गया। जहां पर लड़की ने अपनी जान दे दी। सुनील की इस हरकत के कारण उसके दोस्त ने भी अपनी जान दे दी। तब से पुलिस उसे सजा दिलाना चाहती थी, लेकिन वह भारत में नही था। 

PunjabKesari

मेरिन ने खुद की केस की छानबीन

मेरिन ने जून 2019 में कोल्लम जिले में कार्यभार संभालते ही महिला व बच्चों से जुड़े केसों की पेंडिंग फाइल देखी। तब उसे सुनील के केस के बारे में पता लगा। तब विभाग से बात की गई तो उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बात चल रही है। उस समय मेरिन इन केस पर जोर डाल कर, केस में खुद शामिल हो गई। उन्होंने 2010 में साउदी व भारत के बीच हुई डील के अनुसार अपराधी को भारत वापिस लाने की बात कही। तब मेरिन ने इस बात का जिम्मा खुद उठाया। वहां पर जाकर उन्होंने सुनील के खुद सारे कागज तैयार किए, जिससे वह उसे भारत ला सकें। 

 

अपने कामों को लेकर रह चुकी है चर्चा में

तीन साल पहले देश की खूबसूरत आईपीएस की बात करते हुए एक स्टोरी की गई थी, जिस पर मेरिन ने आपत्ती जाहिर की थी। तब उऩ्होंने कहा था कि महिलाओं को क्या खूबसूरती के पैमाने पर ही जज किया जाता है, उनके काम के नाम पर नहीं। इस बात से मेरिन काफी चर्चा पर आई थी। धीरे-धीरे मेरिन अपने काम व खूबियों के कारण लोगों में काफी चर्चित हो गई। ट्रेनिंग के दौरान भी कई केस सॉल्व करने के किस्सों को लेकर इस आईपीएस के कई फैन बन चुके थे। 

PunjabKesari

पहली बार में क्लीयर की आईपीएस 

25 साल में आईपीएस बनी मेरिन ने 2012 में पहली बार में ही परीक्षा पास कर ली थी। 6वीं कक्षा में ही उन्होंने सोच लिया था की उन्हें सिविल सर्विस ज्वाइन करनी हैं। इसके बाद ही उन्होंने अपनी परीक्षा की तैयारी शुरु कर ली थी। मेरिन के पति मिनिस्ट्री ऑफ एग्रीकल्चर में प्रिंसिपल एडवाइजर व मां कोट्टयम में इकोनॉमिक्स की टीचर है। इनकी शादी साइकिएट्रिस्ट डॉ. क्रिस अब्राहम के साथ हुई है।

PunjabKesari
 

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News

From The Web

ad