Twitter
You are hereNari

राधा ही नहीं, इन 8 रानियों से भी बेहद प्यार करते थे श्री कृष्ण

राधा ही नहीं, इन 8 रानियों से भी बेहद प्यार करते थे श्री कृष्ण
Views:- Monday, September 3, 2018-12:04 PM

कृष्ण-राधा और रूकमणी के बारे में तो हर किसी को पता होगा। पर क्या आप जानते हैं कि धार्मिक कथाओं के अनुसार कृष्ण जी की 16,100 रानियां और 8 पटरानियां थीं। मगर कृष्ण जी का ज्यादा स्नेह और प्यार अपनी 8 पत्नियों से ही था। आज कृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर हम आपको उनकी 8 पत्नियों के बारे में बताएंगे।


तो चलिए जानते हैं माखन चोर के जीवन से जुड़ी ऐसी 8 स्त्रियों के बारे में जो उनके बेहद करीब रही।  

 


1. रुक्मणी 
धार्मिक कथाओं के अनुसार कृष्ण जी की पहली पत्नी रुक्मणी थीं। रुक्मणी जी और कान्हा जी एक-दूसरे से बेहद प्यार करते थे। दोनों शादी भी करना चाहते थे लेकिन रूक्मणी के भाई को यह विवाह मंजूर नहीं था। यही वजह थी कि इन दोनों ने भागकर शादी की। 

 

 

2. जामवंती
श्री कृष्ण की दूसरी पत्नी जामवंती थी। इन दोनों के विवाह के पीछे की कहानी भी बड़ी दिलचस्प है। जामवंती के पिता जामवंत ने कृष्ण जी को मणि भेंट में देकर अपनी बेटी की शादी उनसे करवा दी थी। आपको जानकर हैरानी होगी यह वहीं मणि थी जिसको चुराने का आरोप कृष्ण पर लगा था। 

 

 

3. सत्यभामा
सत्यभामा कृष्ण जी की तीसरी पत्नी थी। सत्यभामा उस सत्राजित की बेटी थी जिन्होंने कृष्ण जी पर मणि चोरी करने का आरोप लगाया था। जब सत्राजित को सच्चाई का पता चला तो उन्होंने कृष्ण जी से माफी मागते हुए बेटी सत्यभामा का विवाह कृष्ण से करवा दिया।  

 

 

4. कालिन्दी
कालिन्दी सूर्य भगवान की पुत्री थी। कहा जाता है कि उन्होंने कृष्ण जी को अपने पति के रूप स्वीकार कर लिया था और उनके पाने के लिए कालिन्दी ने कठोर तप भी किया था। उनकी भक्ति से खुश होकर कृष्ण जी ने उनसे विवाह कर लिया। 

 

 

5. नग्नजित
यह कृष्ण जी की पांचवी पत्नी थी। उनके पिता ने अपनी बेटी के स्वयंवर के लिए एक एेसी शर्त रखी थी जिसको सिर्फ कृष्ण जी ही पूरी कर सकते हैं। कृष्ण जी ने अखाड़े में 7 पागल सांडो को काबू करके नग्नजित से विवाह किया था। 

 

 

6. मित्रवृंदा
मित्रवृंदा उज्जैन की राजा विंद और अनुविंद की बहन थी। मित्रवृंदा कृष्ण से शादी करना चाहती थी। मगर उनके भाईयों को यह बात बिल्कुल मंजूर नहीं थी। यही वजह थी कि श्री कृष्ण जी  मित्रवृंदा को स्वयंवर से उठाकर ले गए थे। 

 

 

7. रोहिणी
रोहिणी ने स्वयंवर के दौरान श्री कृष्ण जी को अपना पति स्वीकार कर लिया था। 

 

 

8. लक्ष्मणा
लक्ष्मणा कैकेय देश की राजकुमारी थीं। उन्होंने भी अपने स्वयंवर के दौरान कृष्ण के गले में वरमाला डालकर उनको अपना जीवन साथी बनाया था।  
 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP
Edited by: