Twitter
You are hereNari

प्रदूषण से बढ़ा गर्भपात का खतरा, प्रेग्नेंसी में यूं रखें बचाव

प्रदूषण से बढ़ा गर्भपात का खतरा, प्रेग्नेंसी में यूं रखें बचाव
Views:- Thursday, December 6, 2018-6:48 PM

लगातार बढ़ते प्रदूषण के कारण लोगों को सेहत संबंधित कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है खासकर बच्चों और प्रेग्नेंट महिलाओं को। वायु प्रदूषण के संपर्क में थोड़ी देर के लिए भी आने से गर्भपात का खतरा बढ़ सकता है। 

एक नए अध्ययन में यह चिंतित करने वाली बात सामने आई है। वायु प्रदूषण को दमा से लेकर से पहले की प्रसव पीड़ा तक, स्वास्थ्य पर पड़ने वाले तमाम बुरे प्रभावों से जोड़ कर देखा जाता है। अमेरिका के यूटा विश्वविद्यालय के अनुसंधानकर्ताओं ने पाया कि यूटा राज्य की सबसे अधिक आबादी वाले क्षेत्र में रहने वाली महिलाएं जब वायु प्रदूषण का स्तर बढऩे के बाद उसके संपर्क में आईं तो उनमें गर्भपात होने का खतरा ज्यादा (16 प्रतिशत) बढ़ गया। 
PunjabKesari, Pollution,Air pollution image

नाइट्रोजन ऑक्साइड के संपर्क में आने से बढ़ा गर्भपात का खतरा 

2007 से 2015 तक किए गए इस अध्ययन में 1300 महिलाएं शामिल थीं जिन्होंने गर्भपात के बाद (20 हफ्ते की गर्भावस्था तक) चिकित्सीय मदद के लिए आपातकालीन विभाग का रुख किया था।   अनुसंधानकर्ताओं की टीम ने हवा में तीन साधारण प्रदूषक तत्वों - अतिसूक्ष्म कणों (पीएम 2.5), नाइट्रोजन ऑक्साइड और ओजोन की मात्रा बढ़ जाने के बाद तीन से सात दिन की अवधि के दौरान गर्भपात के खतरे को जांचा। इस टीम ने पाया कि नाइट्रोजन ऑक्साइड के बढ़े स्तर के संपर्क में आने वाली महिलाओं को गर्भपात होने का खतरा 16 प्रतिशत तक बढ़ गया। यह अध्ययन र्फिटलिटी एंड स्र्टिलटी पत्रिका में प्रकाशित हुआ है।  

प्रेग्नेंसी में कैसे करें प्रदूषण से बचाव? 

बढ़ते प्रदूषण से सांस संबंधित कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इस दौरान प्रेग्नेंट महिलाओं को अपना खास ख्याल रखना चाहिए ताकि गर्भ में पल रहे बच्चे को कोई नुकसान न हो। 

धुएं वाले स्थान से रहें दूर

अगर आप प्रेग्नेंट है तो ज्यादा प्रदूषण और धुंए वाले स्थान से दूर रहे क्योंकि इससे स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है। घर से बाहर निकलते समय चेहरे पर मास्क जरूर लगाएं। 

घर पर ही करें सैर 

बाहर सैर करने की बजाय घर पर ही टहले ताकि प्रदूषण का असर स्वास्थ्य पर न पड़ें।
PunjabKesari, Pregnant women walk

प्यूरीफायर प्लांट्स

कुछ पौधे प्राकृतिक फिल्टर का काम करते हैं इसलिए घर में एेसे पौधे लगाएं तो हवा को शुद्ध करें। घर को ईको-फ्रेंडली और पॉल्यूशन फ्री बनाने के लिए हर्बल गार्डन और ग्रीन स्पेस बनवाएं।

एयर प्युरिफायर

घर की हवा को प्रदूषण मुक्त रखने के लिए एयर प्युरिफायर लगाएं। यह नेचुरल तरीके से घर की दूषित हवा को बाहर निकालकर उसे शुद्ध करता है।

डाइट 

प्रैग्नेंसी में अपने खान-पान का भी खास ख्याल रखें। हैल्दी डाइट फॉलो करें और साथ में फास्ट फूड खाने से परहेज करें। 
PunjabKesari, Pregnant woman eating

भरपूर पानी पीएं

प्रदूषण से बचने के लिए डाइट के साथ भरपूर पानी का सेवन करें। 

प्रदूषण से बचाएंगी 'हर्ब टी' 

इस टी को तैयार करना बहुत आसान है। इसके लिए आपको सारा सामान अपनी किचन में ही मिल जाएगा। यह आपके इम्यून सिस्टम को बूस्ट भी करेगा और इससे बॉडी डिटॉक्स भी होगी। 

सामग्रीः

2 कप- पानी
1 टी स्पून- अदरक पाउडर
1/4 टीस्पून- दालचीनी पाउडर (1 स्टिक)
1/2 टी स्पून- ताजी तुलसी 
1 टी स्पून- आर्गेनो ड्राई पत्ते
1/4 टी स्पून- सौंफ
1/4 टी स्पून -जीरा या लहसुन की दो कलियां
3 काली मिर्च के दाने
2 छोटी इलायची
चुटकीभर अजवाइन
PunjabKesari, Herb Tea

 कैसे बनाएं

सबसे पहले 2 कप पानी गुनगुना गर्म करें, फिर सारी सामग्री को मिक्स कर इसे 10 मिनट उबालें। लंग टी तैयार हैं। चाय को गुनगुना सिप करके पिएंगे तो ज्यादा फायदा मिलेगा। 

प्रेग्नेंट महिलाएं इसे लेने से पहले एक बार डॉक्टरी सलाह जरूर लें। 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
Edited by:

Latest News