23 SEPMONDAY2019 2:36:51 PM
Nari

अगर आपके बच्चे भी करते है जिद तो फॉलो करें ये 6 बातें

  • Edited By khushboo aggarwal,
  • Updated: 23 Aug, 2019 06:22 PM
अगर आपके बच्चे भी करते है जिद तो फॉलो करें ये 6 बातें

जब भी पेरेंट्स बच्चों के साथ मार्किट में जाते है तो वह बच्चों की जिद करने की आदत से काफी तंग हो जाते है। उस समय जब बच्चे जिद करते है तो वह चाह कर भी कुछ नही कर पाते है। ऐसे में पेरेंट्स को उनकी जिद माननी पड़ती है। देखने वाले कहते है कि पेरेंट्स ने बच्चों को ज्यादा ही सिर पर चढ़ा रखा है लेकिन पेरेंट्स का मनना होता है कि वह उन्हें कितना भी अनुशासन में रखें घर के बड़े उन्हें मनमर्जी करने देते है। आप चाहें तो कुछ बातों को ध्यान में रख कर बच्चों की जिद्द व उनके इस व्यवहार से जुड़ी शिकायतों को दूर कर सकते हैं। 

PunjabKesari,जिद्दी बच्चे, Discipline, Nari

बच्चों को बताएं कारण 

जब बच्चा किसी चीज के बारे में पूछता है या लेने की जिद्द करता है तो उसे गुस्सा होने या डांटने की जगह समझाएं वह उस चीज को क्यों नही ले रहे हैं। ताकि बच्चे समझ सकें आपने यह निर्णय क्यों लिया हैं। 

नियमों का पालन जरुरी 

बच्चों के लिए नियम बनाए साथ ही उन्हें कहें कि उन्हें यह पूरी सख्ती के साथ फॉलो भी करने होगें। अगर वह कोई नही नियम तोड़ देते है तो उन्हें इसके लिए सजा दें। साथ ही उन्हें समझा दें की अगली बार वह यह नियम न तोड़ें।

बच्चों की जिद्द के सामने झुकें नही 

अक्सर जब बच्चे मार्किट में जिद करते है तो पेरेंट्स उनके सामने झुक जाते है, ताकि वह किसी तरह की शर्मिंदगी से बच सकें। जब पेरेंट्स बार- बार ऐसा करते है तो बच्चे समझ जाते है कि उनकी जिद्द के आगे उनके पेरेंट्स हमेशा झुक जाते है। इसलिए यह बात उनकी आदत में शामिल हो जाती है। इसलिए कभी भी किसी के सामने बच्चों की जिद्द के आगे न झुकें। 

PunjabKesari,जिद्दी बच्चे, Discipline, Nari

दंड देना भी है जरुरी 

दंड देने का अर्थ बच्चों को केवल मारना या सजा देना नही होता है। उनके लिए दंड का अर्थ अच्छा काम न करने पर पुरस्कार न मिलना, उनकी किसी बात को पूरा न करना उनकी एक दिन की पॉकेटमनी न देना भी सजा ही होता है। इनसे न केवल उन्हें अपनी गलती व जिद्द करने की आदत को भी छोड़ना पड़ेगा। 

नजरअंदाज न करें 

अगर आप बच्चों के अच्छे व्यवहार के लिए उन्हें प्रोत्साहित करती है इनाम देती है तो उनके बुरे व्यवहार के लिए आपको नजरअंदाज न कर उन्हें सजा भी देनी चाहिए। अगर उन्हें किसी खराब आदत के लिए डांटा नही गया तो उन्हें समझ नही आएगा कि वह कहां सही है व कहां गलत है। 

PunjabKesari,जिद्दी बच्चे, Discipline, Nari

पूरे परिवार की हो एक जैसी प्रतिक्रिया

जब बच्चा कोई गलती करता है तो परिवार का एक सदस्य उन्हें डांटता है वहीं दूसरा प्यार करता है तो उन्हें समझ नही आएगा कि वह गलत है या सही। उनकी ओर से की गई जिद्द कहां से गलत है। वह ऐसे मौके में खुद सही ही पाएंगें। इसलिए बच्चों की हरकतों पर एक जैसी ही प्रतिक्रिया रखनी चाहिए। 

 

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News