22 JULMONDAY2019 11:05:10 AM
Nari

जल्दी गर्भधारण करना चाहती हैं तो रखें इन बातों का ख्याल

  • Edited By Priya verma,
  • Updated: 13 Jan, 2019 12:10 PM
जल्दी गर्भधारण करना चाहती हैं तो रखें इन बातों का ख्याल

प्रेगनेंसी की जानकारी : गर्भधारण करने के लिए महिला का शारीरिक और मानसिक तौर पर स्वस्थ होना बहुत जरूरी है।  आप भी प्रेग्नेंसी के बारे में सोच रही हैं तो पहले खुद की सेहत की तरफ ध्यान देना बहुत जरूरी है क्योंकि शारीरिक कमजोरी का असर धीरे-धीरे प्रजनन क्षमता पर भी पड़ना शुरू हो जाता है। जिससे बच्चा पैदा करने में कई तरह  की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है अगर आप भी फैमिली प्लानिंग के बारे में सोच रही हैं तो कुछ खास बातों की तरफ ध्यान देना बहुत जरूरी है। 

 

गर्भावस्था में सावधानियां

प्रेगनेंसी में क्या खाना चाहिए

महिला को सबसे पहले अपनी डाइट का खास ख्याल रखने की जरूरत है। टाइम टेबल के हिसाब से खाना खाना शुरू करें, इसमें  एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन, प्रोटीन, आयरन, फोलिक एसिड, ओमेगा-3 फैटी एसिड आदि युक्त आहारों का शामिल होना बहुत जरूरी है। इस तरह की डाइट से अंदरूनी कमजोरी दूर हो जाएगी और जल्दी गर्भधारण कर पाएंगी।

PunjabKesari, Eat Healthy Diet

गर्भावस्था में योगासन

खाने का साथ-साथ शारीरिक क्रियाओं को जारी रखना भी बहुत जरूरी है। आप और पार्टनर दोनो स्वस्थ होंगे तो प्रजनन संबंधी परेशानियों से बचाव रहेगा। रोजाना एक्सरसाइज करना शुरू करें इसमें आप साइकलिंग, योगा, वॉकिंग, सैर कर सकते हैं। इस तरह की गतिविधियों से शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। 

PunjabKesari, Yoga

अल्कोहल और धूम्रपान से बनाएं दूरी

नशीले पदार्थों का सेवन करने वाली महिलाओं को भी गर्भधारण करने में दिक्कतें आती हैं। इससे शरीर में विषैले पदार्थों की मात्रा बढ़ जाती है जो प्रजनन प्रणाली को नुकसान पहुंचाने लगती है। इसके लिए जरूर है कि अल्कोहल और धूम्रपान का सेवन करना बंद कर दें। 

PunjabKesari, Smoking

तनाव से दूर रहें

तनाव का असर सेहत पर भी पड़ता है। इससे मानसिक और शारीरिक दोनों तरह का कष्ट होता है जो प्रेग्नेंसी में बाधा पैदा कर सकता है कोशिश करें कि ज्यादा से ज्यादा खुश रहें। 

 

बर्थ कंट्रोल पिल्स

बर्थ कंट्रोल पिल्स का सेवन करने से पीरियड्स के चक्र में गड़बड़ी पैदा हो सकती है। ऐसे में इस तरह की गोलियों का सेवन बंद करना बहुत जरूरी है। इसके बाद शरीर को सामान्य हॉर्मोंस तक पहुंचने में कुछ समय लगता है और इसके बाद प्रग्नेंसी के चांस बनने शुरू होते हैं। 

 

 

Related News

From The Web

ad