20 MAYMONDAY2019 4:42:19 AM
Nari

बच्चों की उन्नति चाहते हैं तो फॉलो करें ये 8 वास्तु टिप्स

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 15 May, 2019 07:27 PM
बच्चों की उन्नति चाहते हैं तो फॉलो करें ये 8 वास्तु टिप्स

भला कौन-से पेरेंट्स नहीं चाहते कि उनका बच्चे का भविष्य उज्ज्वल हो और वो जिंदगी में कामयाबी हासिल करें। ऐसा तभी होगा जब बच्चों का याद्दाश्त तेज हो और वो अपने काम के प्रति फोकस्ड रहें। मगर इसके लिए उनके खान-पान के साथ वास्तु का ध्यान रखना भी बहुत जरूरी है। जी हां, वास्तु दोष से भी आपके बच्चे के उन्नति में बाधा पैदा हो सकती है। ऐसे में अगर भी अपने बच्चे को कामयाब बनाना चाहते हैं तो उनके कमरे की सजावट वास्तु के हिसाब से करें।

 

सही दिशा में हो कमरा

वास्तु के हिसाब से बच्चे का कमरा पूर्व, उत्तर, पश्चिम या उत्तर-पश्चिम में हो सकता है। दक्षिण, दक्षिण-पश्चिम या दक्षिण-पूर्व में बच्चा का कमरा नहीं होना चाहिए। इससे बच्चे की सेहत और शिक्षा पर नेगेटिव असर पड़ता है।

PunjabKesari

दरवाजे और पलंग की सही दिशा

यदि बच्चे के कमरे का दरवाजा ही पूर्व दिशा में हो तो पलंग दक्षिण से उत्तर की ओर होना चाहिए। बच्चों का पलंग अधिक ऊंचा नहीं होना चाहिए। इसके अलावा कम्प्यूटर टेबल पूर्व दिशा में होनी चाहिए। दक्षिण पश्चिम में बच्चों की पुस्तकों का रैक तथा उनके कपड़ों वाली अलमारी रखें।

बेडरूम की दीवारों का रंग

बच्चों के बेडरूम का कलर भी वास्तु के हिसाब से चुनें। हरा रंग सबसे बेहतर है जो बच्चों को ताजगी और शांति का एहसास करवाएंगा। इसके अलावा आप उनके कमरे में नीला या 2-3 रंगों का कॉम्बिनेशन पेंट भी करवा सकते हैं। साथ ही पर्दों का रंग दीवार के रंग से थोड़ा गहरा होना चाहिए।

PunjabKesari

बाथरूम और टॉयलेट ही सही दिशा

अगर बच्चे के कमरे में बाथरूम व टॉयलेट बनवाना चाहते हैं तो इसके लिए पश्चिम या उत्तर पश्चिम दिशा सही है।

कमरे में जरूरी है सूरज की सही रोशनी

इस बात का भी ख्याल रखे कि बच्चे के कमरे में सूरज की रोशनी सही आती हो। इसके लिए खिड़कियां दरवाजे की विपरीत दिशा में बनवाएं। खिड़की अगर पश्चिम दिशा वाली दीवार पर है तो वो उत्तर-पूर्व की दीवार वाली खिड़की की तुलना में छोटी होनी चाहिए।

कमरे में ना रखें स्टडी लैंप

बच्चों की पढ़ाई की टेबल पर स्टडी लैंप होना चाहिए। इससे बच्चे की एकाग्रता में सुधार होता है और मन पढ़ाई में लगता है। पढ़ाई की जगह पर खुली जगह होनी चाहिए इससे बच्चे के मन में नए विचार आतें हैं।

PunjabKesari

लगाएं मोटिवेशनल तस्वीरें

कमरे की सजावट बच्चे को प्रेरणा देने के लिए, दौड़नेवाले घोड़ों की तस्वीर लगाएं, या उगते हुए सूरज की तस्वीर लगाये, यह फिर विद्या की देवी सरस्वती जी की तस्वीर लगाएं।

ग्लोब और एज्युकेशन टावर

अपने बच्चों को पढ़ाई में होशियार बनाने के लिए घर की उत्तर-पूर्व दिशा में ग्लोब रखें।  इस दिशा में पृथ्वी की प्रतिमा रखने से शिक्षा एवं ज्ञान का संचार होता है। इसके अलावा वास्तु के अनुसार एज्युकेशन टावर घर में रखने से बच्चे मन लगाकर पढ़ाई करते हैं और अच्छे नंबर से पास होते हैं।

PunjabKesari

फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP

Related News

From The Web

ad