Twitter
You are hereNari

रंग के साथ ये बीमारियां भी दे रहा है आपका Hair Color, हो जाएं सावधान!

रंग के साथ ये बीमारियां भी दे रहा है आपका Hair Color, हो जाएं सावधान!
Views:- Monday, December 24, 2018-4:00 PM

सफेद बालों को छिपाने के लिए आजकल हेयरकलर का इस्तेमाल आम किया जा रहा है, वहीं यंगस्टर्स लुक चेंज करने के लिए भी इसका इस्तेमाल कर रहे हैं जो कि फैशन स्टेटमेंट का हिस्सा भी बन गया है लेकिन यह हेयर कलर आपको धीरे-धीरे बीमारियां सौगात में भी दे रहा है जिसके बारे में आपको शायद जानकारी न हो। बता दें कि कैमिकल युक्त इन प्रॉडक्ट्स से आपको स्किन इंफेक्शन, बाल का रुखापन व एलर्जी जैसी समस्या भी हो सकती है। चलिए जानते हैं कि हेयरकलर आपकी सेहत के लिए किस तरह खतरनाक है!

 

कैंसर का खतरा

रिसर्च के अनुसार, हेयर कलर में ऐसे केमिकल्स होते हैं, जो बालों के जरिए स्कैल्फ में पहुंच जाते हैं जो कैंसर सेल्स का निर्माण करते हैं। साथ ही गाढ़े रंग के पर्मानेंट हेयर डाई से ल्यूकेमिया या लिम्फोमा जैसे रोग हो सकते हैं। 

PunjabKesari

सांस लेने में दिक्कत होना

अगर आप अस्थमा के मरीज हैं तो हेयर कलर का इस्तेमाल करने से बचे क्योंकि यह काफी तेज गंध वाले कैमिकल्स के बने होते हैं जिन्हें सूंघने से सांस संबंधी परेशानियां बढ़ सकती हैं।

 

त्वचा की रंगत बिगड़ना

अगर आपकी स्किन सेंसटिव है तो हेयरकलर टेस्ट जरूर कर लें क्योंकि यह स्किन एलर्जी-रेशेज जैसी समस्याएं उत्पन्न कर सकते हैं। कुछ लोगों की स्किन में सूजन भी आनी शुरू हो जाती है और त्वचा की रंगत फीकी पड़ने लगती है।

स्किन एलर्जी की समस्या

कई रासायनिक उत्पादों के साथ बने हेयर कलर्स एलर्जी का कारण भी बन सकते है। साथ ही इससे इससे पिग्मिंटेशन, चकत्ते, खुजली और आंखों लालपन व सूजन की समस्या आ सकती है।

PunjabKesari

आंखों पर बुरा प्रभाव

हेयर कलर करने से आंखों पर भी प्रभाव पड़ता है। रिसर्च के अनुसार, इससे आंखों की रोशनी कम होने लगती है। ऐसे में युवाओं को इससे हर हाल में बचना चाहिए। इसकी बजाए आप नेचुरल कलर का यूज कर सकते हैं।

 

बालों का टूटना

हेयर कलर्स या डाई में अमोनिया का इस्तेमाल किया जाता है। यह तत्व हेयर फाइबर को खोलकर बालों पर अपना काम करता है। पर्मानेंट हेयर कलर में अदिक मात्रा में अमोनिया का इस्तेमाल होता है। यह बालों को कमजोर बना देता है और बालों में मौजूद प्राकृतिक प्रोटीन को छीन लेता है, जिस वजह से बालों की किस्में खराब होने लगती है और कमजोर और टूटने लगते है।  

PunjabKesari

हेयर कलर लगाना ही है तो बरतें कुछ सावधानियां 

आप कुछ सावधानी बरतकर बालों में हेयर डाई से होने वाले नुकसान से बच सकते हैं। साथ ही ऐसा करने से आपके सिर के बाल भी ज्‍यादा समय तक ठीक रहेंगे।

PunjabKesari

जब भी हेयर कलर का इस्तेमाल करें तो हाथों में गलव्स जरूर पहनें।

किसी नए ब्रांड का हेयर कलर इस्‍तेमाल करने से पहले उसके बारे में अच्‍छे से जानकारी लें क्योंकि बार-बार हेयर कलर बदलने से भी एलर्जी की समस्या हो सकती है। साथ ही कोशिश करें कि आप अच्‍छा ब्रांड कलर यूज करें।

एलर्जी से बचने के लिए पैच टेस्ट जरूर करें। पैच टेस्ट किसी प्रॉडक्ट के प्रति आपकी त्वचा की संवेदनशीलता के बारे में बताता है, जिससे आप एलर्जी से बच सकते हैं। साथ ही पैकेट पर लिखें सभी निर्देशों को फॉलो करें।

हेयर डाई को ज्यादा समय तक लगाकर ना रखें क्योंकि डाई को निर्धारित समय से ज्‍यादा देर लगाकर रखना हानिकारक होता है।

किसी भी कंपनी के दो हेयर कलर एक साथ मिक्स करके ना लगाएं क्योंकि इससे इंफेक्शन और कैंसर का खतरा बढ़ जाता है।

अगर आपको किसी तरह की कोई अस्थमा, एलर्जी, डैंड्रफ व अन्य प्रॉब्लम है तो हेयर कलर करवाने से बचें।

हेयर प्रोडक्ट खरीदने से पहले उसकी एक्सपायरी डेट जरूर चेक कर लें, नहीं तो बालों और त्वचा पर इसका हानिकारक प्रभाव हो सकता है।


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP
Edited by: