19 OCTSATURDAY2019 8:48:06 AM
Nari

तनाव से राहत दिलाएगी Cupping Therapy, झुर्रियों को भी करेगी दूर

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 23 May, 2019 10:16 AM
तनाव से राहत दिलाएगी Cupping Therapy, झुर्रियों को भी करेगी दूर

महिलाएं अपनी खूबसूरती को लेकर काफी कॉन्शयस हो गई हैं। जवां और खूबसूरत दिखने के लिए वह दर्दभरे ट्रीटमेंट लेने को भी तैयार हो जाती है, जिसमें से कपिंग थेरेपी भी एक है। सिर्फ आम लड़कियां ही नहीं बल्कि बॉलीवुड से हॉलीवुड एक्ट्रेस में भी इसका क्रेज खूब देखने को मिल रहा है। इस थेरेपी के जरिए शरीर से गंदे खून को बाहर निकाला जाता है, जिससे आप ना सिर्फ खूबसूरती दिखते हैं बल्कि स्वस्थ भी रहते हैं।

 

बॉलीवुड दीवाज की पसंद है यह थेरेपी

उर्वशी रौतेला खुद को खूबसूरत बनाएं रखने के लिए फायर कपिंग थेरेपी का सहारा लेती हैं। इस थेरेपी के दौरान एक्यूपंचर स्पेशलिस्ट कॉटन के गोले को पहले शराब में भिगोकर कांच के छोटे कप में रखकर आग लगा देते हैं। इसके बाद आग को बुझाकर उस गर्म बर्तन को तुरंत स्किन पर रख दिया जाता है। वहीं बॉलीवुड एक्ट्रेस दिशा पाटनी और रिएलिटी शो रोडीज से भी कपिंग थेरेपी करवाने को लेकर काफी चर्चा में रही थी।

PunjabKesari

कैसे की जाती है थेरेपी?

कपिंग थेरेपी तीन प्रकार की होती है- ड्राई, वेट और फायर कपिंग। इन तीनों कपिंग थेरेपी में से वेट कपिंग लोगों के बीच ज्यादा फेमस है। ड्राई कपिंग में कप को सीधे स्किन पर लगाया जाता है वहीं वेट कपिंग में वेट देकर कपिंग की जाती है। फायर कपिंग इन दोनों से बिल्कुल अलग है इसमें 70% अल्कॉहॉल में कॉटन बॉल को भिगोया जाता है और फिर इसे जलाकर कप की मदद से कपिंग थेरेपी की जाती है।

थेरेपी के फायदे
बेहतर ब्लड सर्कुलेशन

इससे शरीर में मौजूद विषैले तत्व बाहर निकल जाते हैं, जिससे ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है। खासकर शरीर के उस हिस्से में ब्लड सर्कुलेशन को तेज कर देता है, जहां कप लगाए जाते हैं। इससे नए रक्त का निर्माण भी होता है, जिससे आप कई बीमारियों से बचे रहते हैं।

दर्द से आराम

कपिंग थरेपी करवाने से माइग्रेन, पीठ दर्द और गर्दन दर्द से राहत मिलती है। इसे सूजन वाली जगह पर लगाने से टिश्य को आराम मिलता है, जिससे दर्द गायब हो जाता है। इसके अलावा यह खून के थक्के को दूर करके मांसपेशियों में होने वाले दर्द को भी ठीक करता है।

PunjabKesari

सर्दी, खांसी और एलर्जी से राहत

कपिंग थेरेपी सर्दी, खांसी और एलर्जी को ठीक करने का काम करता है। इसके साथ ही यह इम्यून सिस्टम को बढ़ाने का काम भी करती है।

डिटॉक्सिफिकेशन

कपिंग थेरेपी शरीर के अंदर की गंदगी को बाहर निकालकर शरीर को डिटॉक्सिफाई करने का भी काम करता है। यह ब्लड सप्लाई को सुधार कर डेड स्किन सेल्स को खत्म करता है और तुरंत शरीर से खून के जरिए टॉक्सिन को बाहर निकालता है।

तनाव को करे दूर

कपिंग सेशन के दौरान रिलैक्सेशन का अनुभव होता है, जिससे तनाव दूर होता है। दरअसल, थेरेपी के दौरान कप्स को शरीर के अलग-अलग हिस्सों में घुमाया जाता है, जिससे शरीर के अन्य हिस्सों के साथ दिमाग में भी ब्लड फ्लो बढ़ता है और तनाव दूर हो जाता है।

PunjabKesari

बढ़ाए खूबसूरती

जिन लोगों को स्किन से संबंधित समस्याएं जैसे एक्ने, हप्र्स या पिंपल्स हैं उनके लिए कपिंग थेरेपी बेस्ट ऑप्शन है। यह बैक्टीरिया से लड़ता है और खून को भी शुद्ध करता है, जिससे त्वचा संबंधी समस्याएं दूर होती हैं।

त्वाचा की गंदगी को निकालती है बाहर

धूल-मिट्टी और प्रदूषण की परत स्किन की गहराई में जाकर उसे नुकसान पहुंचाती है, जिससे चेहरे का निखार भी खो-सा जाता है। मगर कपिंग थेरेपी आपकी स्किन की गहराई में जाकर इसमें जमी हुई गंदगी को बाहर निकाल फेंकती है।

एंटी-एजिंग

इससे खून साफ होने के साथ नए रक्त भी बनता है, जिससे एंटी-एजिंग की समस्याएं दूर रहती हैं। साथ ही इससे त्वचा डिटॉक्स भी होती है, जिससे झाइयां, डार्क सर्कल्स और फाइन्स लाइन्स जैसी प्रॉब्लम्स नहीं होती और आप जवां नजर आती हैं।

PunjabKesari

झुर्रियां से छुटकारा

इस थेरेपी में आपकी स्किन को खींचकर कपों से अटैच किया जाता है। जिससे आपकी सिकुड़ी हुई स्किन में थोड़ा खिंचाव पैदा होता है। और आपके चेहरे पर मौजूद झुर्रियां की समस्या धीरे-धीरे कम होती है। इससे थेरेपी से आपके चेहरे की टेंस मसल्स को भी आराम मिलता है। इसके साथ-साथ ये आपके चेहरे से फाईन लाईंस को भी कम करती है। जिससे आपकी स्किन को सुकून के साथ-साथ एक प्रॉपर ट्रीटमेंट भी मिलता है।

रंगत निखारे

चेहरे के जिस-जिस हिस्से में ब्लड सर्कुलेशन कम हो जाता है उन-उन हिस्सों की स्किन डर और काली पड़ जाती हैं। मगर कपिंग थेरेपी चेहरे पर ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाकर खोई हुई रंगत वापिस लाने में मदद करती है।

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News