Twitter
You are hereTop News

Health Alert: बढ़ता प्रदूषण पहुंचा रहा है किडनी को नुकसान

Health Alert: बढ़ता प्रदूषण पहुंचा रहा है किडनी को नुकसान
Views:- Saturday, September 15, 2018-2:27 PM

किडनी कोे नुकसान : तेजी से फैलने वाले कुछ पर्यावरणीय प्रदूषक आपके गुर्दोंपर नुकसानदेह असर डाल सकते हैं। एक नए अध्ययन में यह बताया गया है। अमरीका की ड्यूक यूनिवर्सिटी के अनुसंधानकर्ताओं ने बताया कि ‘पर एंड पॉलीफ्लोरोअल्काइल सबस्टांसेस’ (पी.एफ. ए.एस.) औद्योगिक प्रक्रियाओं और उपभोक्ता उत्पादों में इस्तेमाल होने वाले नॉन-बायोडिग्रेडेबल (स्वाभाविक तरीके से नहीं सडऩे वाले) पदार्थों का एक बड़ा समूह है और ये पर्यावरण में हर जगह मौजूद हैं। उन्होंने कहा कि मनुष्य दूषित मिट्टी, पानी, खाने और हवा के जरिए पी.एफ.ए.एस. के संपर्क में आता है। पी.एफ.ए.एस. के संपर्क से गुर्दों पर पडऩे वाले प्रभावों की जांच के लिए अनुसंधानकर्ताओं ने अन्य प्रासंगिक अध्ययनों को खंगाला।

PunjabKesari

ड्यूक यूनिवर्सिटी के जॉन स्टेनिफर ने कहा, "गुर्दे बेहद संवेदनशील अंग हैं, खास कर बात जब पर्यावरणीय विषैले तत्वों की हो जो हमारे खून के प्रवाह में प्रवेश कर जाते हैं।" उन्होंने कहा, "अब जबकि बहुत से लोग पी.एफ.ए.एस. रसायनों और उनके विकल्प के तौर पर तैयार हो रहे जेनएक्स जैसे बड़े पैमाने पर बनाए जा रहे नए एजेंटों के संपर्क में आ रहे हैं, यह समझना बहुत जरूरी हो गया है कि कैसे ये रसायन गुर्दे की बीमारी के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं।" अनुसंधानकर्ताओं ने 74 अध्ययनों को देखा, जिनमें पी.एफ.ए.एस. के संपर्क से जुड़े कई प्रतिकूल प्रभावों के बारे में बताया गया है।

PunjabKesari

इन प्रभावों में गुर्दों का सही ढंग से काम न करना, गुर्दे के पास की नलियों में गड़बड़ी और गुर्दे की बीमारी से जुड़े चयापचय मार्गों का बिगड़ जाना शामिल है। यह अध्ययन 'क्लिनिकल जर्नल ऑफ द अमेरिकन सोसाइटी ऑफ नेफ्रोलॉजी' (सी.जे.ए.एस.एन.) में प्रकाशित हुआ है।

PunjabKesari


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
फैशन, ब्यूटी या हेल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP
Edited by:

Latest News