19 OCTSATURDAY2019 8:28:31 AM
Nari

Health Alert: जानलेवा कैंसर से बचने के असरदार तरीके

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 03 Jun, 2019 11:37 AM
Health Alert: जानलेवा कैंसर से बचने के असरदार तरीके

भारत में कैंसर की बीमारी से होने वाली मौंतों की तादाद दिनों दिन बढ़ती चली जा रही है। औरतों में स्तन कैंसर की तादाद 27.5 फीसदी और मर्दों में फेफेड़ों के कैंसर का परिमाण लगभग 10.6 फीसदी है। हर साल लगभग 10 लाख मरीज अस्पतालों में कैंसर के इलाज के लिए जाते हैं। जिनमें से 40 से 50 प्रतिशत ही जीवित रह पाते हैं। तेजी से फैल रही इस बीमारी से अगर आप बचना चाहतें हैं तो आपको अपने खान-पान के तरीकों में बदलाव लाने की जरुरत है। जिससे आप इस जानलेवा बीमारी की चपेट में आने से बच सकते हैं। तो चलिए जानते हैं ऐसी कौन-कौन से चीजें हैं जिन्हें अपनाकर आप कैंसर की बीमारी से बच सकते हैं।

आखिर कैसे होता है कैंसर...?

कैंसर मानव शरीर में लगभग कहीं भी शुरू हो सकता है, जो कि खराब कोशिकाओं से बना होता है। आम तौर पर, मानव कोशिकाएं बढ़ती हैं और नई कोशिकाओं का निर्माण करती हैं, क्योंकि शरीर को उनकी आवश्यकता होती है। जब कोशिकाएं पुरानी हो जाती हैं या क्षतिग्रस्त हो जाती हैं, तो वे मर जाती हैं, और नई कोशिकाएं अपना स्थान ले लेती हैं।

जब कैंसर विकसित होता है, हालांकि, यह क्रमबद्ध प्रक्रिया टूट जाती है। जैसे-जैसे कोशिकाएँ अधिक असामान्य होती जाती हैं, पुरानी या क्षतिग्रस्त कोशिकाएँ तब बच जाती हैं जब उन्हें मरना चाहिए, और नई कोशिकाएँ तब बनती हैं जब उनकी आवश्यकता नहीं होती है। ये अतिरिक्त कोशिकाएं बिना रुके विभाजित हो सकती हैं और ट्यूमर नामक वृद्धि का निर्माण कर सकती हैं।

कैंसर होने का कारण

धूम्रपान, शराब और तंबाकू उत्पाद 

ज्यादातर मर्द सिगरेट और तंबाकू का सेवन करते हैं। जिस वजह से उन्हें फेफड़े, मुंह, गले, किडनी, मूत्राशय और पैनक्रियाज का कैंसर होने का खतरा सबसे अधिक बना रहता है। जो औरतें सिगरेट भी सिगरेट का सेवन करती हैं उन्हें भी इस प्रकार का कैंसर हो सकता है। वैसे आमतौर पर औरतों में स्तन कैंसर होने की तादाद अधिक है। 

PunjabKesari

जंक फू़ड का अधिक सेवन

फास्ट फूड आधुनिक लाइफस्टाइल का एक हिस्सा है। बच्चों से लेकर यूथ और बड़ों को भी फास्ट फूड से बहुत लगाव है। पार्टी हो या ट्रैवलिंग इनके बिना काम नहीं चलता। फास्ट फूड से मोटापा बढ़ता है यह तो आप जानते ही हैं, लेकिन क्या आप यह जानते है कि इसके अधिक सेवन से
आपका शरीर कैंसर जैसी बीमारियों की चपेट में आ जाता है। 

वायरस संक्रामण

कुछ वायरसों के कारण भी कैंसर हो जाता है। उदाहरण के लिए अफ्रीका में पाया जाने वाला 'बर्किट लिंफोमा'। वायरसों से भी कोशिकाओं में अनुवंशिक बदलाव आ जाते हैं जिनसे कैंसर हो सकता है। 

स्तनपान न करवाना

स्तनों का कैंसर महिलाओं के लिये महत्त्वपूर्ण तथा संवेदनशील विषय है। भारत में यह  कैंसर महिलाओं को 35-55 की उम्र में होने की संभावना अधिक होती है। इसके कुछ कारण  मोटापा, स्तनभार अधिक होना, खाने में तेल या वसा का प्रमाण अधिक होना, गर्भनिरोधक गोलियों का दीर्घ उपयोग, संतान न होना आदि। जो महिलाएँ स्तनपान कम करवाती है उन्हें यह रोग होने की संभावना ज्यादा  होती है।

स्पाइसी फूड

बहुत अधिक मिर्च खाने की आदत से पेट का कैंसर हो सकता है क्योंकि इससे अमाशय की अंदरूनी परत ग्रस्त हो जाती है। जिससे पेट और फूड पाइप में कैंसर होने का खतरा बना रहता है। इसीलिए खुद को और अपने बच्चों को मिर्च मसालों वाले खाने की ज्यादा आदत नहीं डालनी चाहिए।

PunjabKesari

कैसे बचें इस बीमारी की चपेट में आने से ?

नियमित व्यायाम

मायो क्लिनिक के मुताबिक आपको रोजाना व्यायाम करना बेहद जरुरी है। उनके मुताबिक हर रोज एरोबिक्स करने से स्तन और पेट के कैंसर से काफी हद तक बचा जा सकता है। 

रेगुलर चेकअप

नियमित व्यायाम के साथ-साथ आपको समय-समय पर अपनी शारीरिक जांच करवाते रहना चाहिए। इससे होगा यह कि आपको इस तेजी से बढ़ने वाली शरीर में इस बीमारी का समय पर ही पता चल जाएगा। जिससे आपका इलाज समय पर शुरु हो सकता है। 

हैल्दी एंड ऑरगेनिक फूड

अपनी डाइट में हरी सब्जियों को ऐड करें। अधिक से अधिक फ्रूट्स खाएं। आज कल हर एक चीज में मिलावट हो रही है। कोशिश करें ऑरगेनिक सब्जियां ही मार्किट से खरीद कर लाएं। आइए अब जानते हैं इस बीमारी के होने के मूलभूत कारण।

तो इस तरह से आप इन छोटी-छोटी चीजों को ध्यान में रखकर इस खतरनाक बीमारी की चपेट में आने से बच सकते हैं। वैसे तो इस बीमारी का इलाज कीमोथैरेपी द्वारा ही किया जाता है, लेकिन अगर आपको कैंसर के बारे में जल्द ही पता चल गया है तो आप होमियोपैथी के जरिए भी इस बीमारी का इलाज करवा सकते है। 

Related News