21 OCTMONDAY2019 6:06:17 AM
Nari

बच्चे को उम्र के हिसाब से ही खिलाएं नमक

  • Updated: 18 Jul, 2017 11:53 AM
बच्चे को उम्र के हिसाब से ही खिलाएं नमक

पेरेंट्स को अपने बच्चों की सेहत का खास ख्याल होता है। मां-बाप बच्चे के शारीरिक और मानसिक विकास के लिए उन्हें पोषक तत्वों से भरपूर खाना खिलाते है। खाने में मिला नमक औक सोडियम वैसे तो बच्चे के लिए फायदेमंद है लेकिन अगर इसकी मात्रा अधिक हो जाए तो इससे बच्चों को कई प्रकार के नुकसान हो सकता है। इस बात को ध्यान में रखते हुए आज हम आपको बताेएंगे कि बच्चों को नमक की मात्रा उचित है और ज्यादा नमक शरीर को कैसे नुकसान पहुंचा सकता है। 

 

बच्चे के लिए कितना नमक उचित है?

एक सर्वे के अनुसार 1 साल से नीचे के बच्चे को रोजाना 1 ग्राम से ज्‍यादा नमक न खिलाएं। इसी तरह 1-3 साल के बच्चों के लिए 2 ग्राम प्रतिदिन और उससे अधिक उम्र के बच्चों को एक दिन में 3 ग्राम नमक खिलाएं। नमक की इससे अधिक मात्रा खाने में न रखें। 

ब्रैस्ट मिल्क काफी

छोटे बच्चों के लिए ब्रैस्ट मिल्क ही काफी होता है क्योंकि इसमें सोडियम की मात्रा काफी होती है । बच्चे को बाहर की पैकेट बंद चीजें खाने को न दें क्योंकि इसमें सोडियम की भारी मात्रा होती है। बच्चों की डाइट में केवल फल, सब्जियां और मेवे शामिल करें। 

ज्यादा नमक खाने के नुकसान 

- किडनी खराब 

ज्यादा मात्रा में बच्चों को नमक खिलाने से शरीर में सोडियम की मात्रा बढ़ जाती है। कभी-कभार किडनियां सोडियम की अधिक मात्रा को अच्छे से बैलेंस नहीं कर पाती और क्रोनिक किडनी की बीमारी होने का खतरा बना रहता है। इसके अलावा किडनी में पथरी होने की संभावना भी बढ़ सकती है। 

- मोटापा 

जब आप बाहर से बच्चों के उत्पाद खरीदकर देते है तो उनमें नम की मात्रा अधिक होती है। इसलिए इन चीजों के खरीदने से पहले उनपर लिखी सामग्री की मात्रा जान लें जिसके सेवन से बच्चों में मोटापा हो जाता है। 

- दिमाग पर बुरा असर

छोटे बच्चों नमक की अधिक मात्रा खिलाने से उनके दिमाग पर बुरा असर पड़ता है। इसलिए ध्यान रखे बच्चों के उम्र के हिसाब से ही खाने में नमक की मात्रा दें। 
 

Related News