Twitter
You are hereNari

चूल्हे पर नहीं, यहां जमीन में गाड़कर खाया जाता है मांस!

1 of 5Nextचूल्हे पर नहीं, यहां जमीन में गाड़कर खाया जाता है मांस!
Views:- Sunday, January 8, 2017-5:53 PM

लाइफ्सटाइलः भारत में कई तरह के रंग देखने को मिलते हैं। अलग-अलग राज्य में खाना-पीना भी अलग तरह का ही होता है। लोगों के खान-पान की बात करें तो नॉनवेज खाने के मामले में हर राज्य का अपना तरीका है। कहीं पर मांस को जमीन में गाड़कर तो कहीं पर आचार बनाकर खाया जाता है। कुछ लोग केले के पत्ते में तो कुछ सब्जियों के साथ नॉमवेज खाना पसंद करते हैं। आइए जाने भारत के कुछ हिस्सों के बारे में,यहां अलग-अलग तरीके से खाया जाता है नॉनवेज 

1. नागालैंड
यहां पर मांस खाने के शौकिन लोग यहां पर मांस को नमक लगाकर कई दिनों तक चूल्हे के ऊपर टांग देते हैं। इसके बाद इसे जमीन में गाड़कर फर्मेंटेशन किया जाता है। बाद में इसकी डिश बनाकर खाया जाता है। नागालैंड के लोग इस तरह से बने नॉनवेज को खाना बहुत पसंद करते हैं। 

2. सिक्किम
यहां को लोग खाने-पीने के बहुत शौकिन हैं। यहां पर नॉनवेज खूब पसंद किया जाता है। लोग यहां पर सब्जियों में रायो साग,गुंडरूक और किनेमा यहां की फैमस डिश हैं। 

3. मेघालय
भारत के मेघालय का पोर्क मीट दुनिया भर में मशहूर है। यहां पर मछली की ढेरों तरह की डीश बनाई जाती हैं। 

4. त्रिपुरा 
यहां का शिडल आचार बहुत फेमस है। पोर्क मिथुन और फिश यहां की खास डीश है। त्रिपुरा की थाली में कई तरह के रंग देखने को मिलते हैं। 

5. असम
यहां पर लोग चावल,मछली और अंड़े खाने के बहुत शौकिन हैं। मुर्गी के अंड़ों के अलावा यहां पर बतख के अंड़े भी खाए जाते हैं। 

6. अरूणाचल प्रदेश
थुपका नाम के न्यूडलस और मोमोज यहां की फेमस डीश है। नॉनवेज और अपॉग नाम की शराब लोगों की पसंदीदा है। 

7. मणिपुर
यहां पर मछली और हरे बांस के फॉर्मेट से बनी डिश दुनिया भर में मशहूर है। मणिपुर में जमीन पर बैठकर केले के पत्तों में खाना खाया जाता है।