06 JUNSATURDAY2020 6:09:50 AM
Nari

Desi Nuskhe: यूरिक एसिड कंट्रोल में रखने का आसान फार्मूला!

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 11 Dec, 2019 11:05 AM
Desi Nuskhe: यूरिक एसिड कंट्रोल में रखने का आसान फार्मूला!

अगर आज आप हैल्थ प्रॉब्लम की बात करेंगे तो आपको 3-4 बीमारियां तो आम ही सुनने को मिल जाएंगी, जिसमें से यूरिक एसिड भी एक है। वैसे तो यूरिक एसिड यूरीन के रूप में शरीर के बाहर निकल जाता है लेकिन, कभी-कभी यह शरीर में ही रह जाता है और इसकी मात्रा बढ़ने लगती है। ऐसे में यह शरीर के लिए परेशानी खड़ी कर देता है।आज लोग इस रोग से इस कदर परेशान है कि इसके लिए तरह तरह के देसी उपाय ढूंढते हैं खासकर महिलाएं।

यूरिक एसिड के कारण

हमारा खराब लाइफस्टाइल, काम का अधिक प्रैशर, तनाव में रहना, समय पर ना खाना, पोषक तत्वों की कमी, प्रोटीन की ज्यादा मात्रा खाना और एक्सरसाइज, फिजिकल एक्टिविटी बिल्कुल ना करना यूरिक एसिड को बढ़ावा देते हैं।

PunjabKesari

सबसे पहले जानते हैं कि यूरिक एसिड क्या है...

कार्बन, हाइड्रोजन, ऑक्सीजन और नाइट्रोजन को मिलाकर एक कम्पाउंड बनता है, जो शरीर को प्रोटीन से एमिनो अम्लों के रूप में प्राप्त होता है। इसे यूरिक ही एसिड कहा जाता है। महिलाओं में यूरिक एसिड का नॉर्मल लेवल 2.4-6.0 mg/dl और पुरुषों में 3.4 - 7.0 mg/dl होता है। अगर लेवल इससे अधिक हो तो असहनीय दर्द, सूजन, अनकंट्रोल शुगर लेवल, चलने फिरने में प्रॉब्लम जैसी परेशानियां होने लगती है। यूरिक एसिड की सही मात्रा जानने के लिए समय-समय पर जांच करवाते रहें।

PunjabKesari

लक्षणः

-पैरों-जोड़ों में दर्द
-एड़ियों में दर्द
-गांठों में सूजन
-ज्यादा देर बैठने पर या उठने में पैरों एड़ियों में सहनीय दर्द।
- शुगर लेवल बढ़ना। 

अगर आप सोचते हैं कि यूरिक एसिड आप सिर्फ दवाइयां खाकर कंट्रोल में कर सकते हैं तो आप गलत है। आपको अपना लाइफस्टाइल हैल्दी करना होगा इसके लिए आपको खाने-पीने का खास ध्यान रखना होगा।

पानी

दिनभर में कम सेकम 9-10 गुनगुना पानी जरूर पीएं। यह शरीर से यूरिक एसिड की मात्रा को निकालने में मदद करेगा।

PunjabKesari

हर रंग की सब्जियां खाएं

सिर्फ हरी नहीं बल्कि अपनी डाइट में हर रंग की सब्जी को शामिल करें। इससे शरीर में यूरिक एसिड के स्तर को सामान्य रहता है और जोड़ों में दर्द भी नहीं होता।

सिट्रस फ्रूट

सिट्रस फ्रूट्स यानि विटामिन सी युक्त फल खाएं। यह क्रिस्टल्स को डिसॉल्व कर देता है, जिससे यूरिक एसिड का स्तर कम हो जाता है।

हाई फाइबर फूड्स

हाई फाइबर फूड जैसे ओटमील, दलिया, बींस, ब्राउन राइस से यूरिक एसिड की मात्रा अब्जॉर्ब हो जाएगी और उसका लेवल कम हो जाएगा।

PunjabKesari

इन चीजों से करें परहेज

-रात को सोते समय दूध या दाल का सेवन भी नहीं करना चाहिए। अगर फिर भी दाल खाने का मन करता है तो छिलके वाली दाल खाएं।
-शराब, सिगरेट, तंबाकू और अन्य नशीली चीजें लेने से बचें।
-दही, चावल, अचार, पालक, फास्ट फूड, कोल्ड ड्रिंक्स, पैकड फूड, अंडा, मांस, मछली से दूर रहें।
-बेकरी फूड जैसे कि पेस्ट्री, केक, पैनकेक, क्रीम बिस्कुट इत्यादि ना खाएं।
-तले-भुने और चिकनाई युक्त भोजन से दूर रहें। घी और मक्खन से भी दूरी बनाएं।

अब जानिए कुछ घरेलू इलाज...

छोटी इलायची

छोटी इलायची को पानी के साथ मिलाकर खाने से यूरिक एसिड की मात्रा कम होगी। साथ ही रोजाना सुबह 2-3 अखरोट खाएं।

सेब का सिरका

एंटीऑक्सीडेंट और एंटीइंफ्लेमेंटरी गुणों से भरपूर सेब का सिरका शरीर में क्षारीय एसिड को संतुलित रखता है, जिससे यूरिक एसिड नहीं बढ़ता।

PunjabKesari

पपीता

एक कच्चा हरा पपीता अच्छी तरह धोकर काट लें। फिर 3 किलो पानी में कटा पपीता मिला दें और इसमें 5 पैकेट ग्रीन टी डाल कर 15 मिनट तक चाय की तरह उबालें। दिन में 5-6 गिलास ये पानी पीएं। 14 दिन लगातार यह पानी पीने से यूरिक एसिड खत्म हो जाता है।

बेकिंग सोडा

1 गिलास पानी में 1/2 चम्मच बेकिंग सोड़ा मिलाकर पिने से भी यूरिक एसिड कंट्रोल हो में रहता है।

अजवाइन खाएं

यह यूरिक एसिड के साथ शरीर में सूजन को भी कम करता है। यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए दिन में 1/2 टीस्पून अजवाइन पानी के साथ लें।

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News