17 JUNMONDAY2019 9:05:54 PM
Nari

इन 5 तरीकों से करें Foot Detox, पैर होंगे साफ और बीमारियां भी रहेंगी दूर

  • Edited By Sunita Rajput,
  • Updated: 22 May, 2019 12:41 PM
इन 5 तरीकों से करें Foot Detox, पैर होंगे साफ और बीमारियां भी रहेंगी दूर

बॉडी की हैल्थ के साथ-साथ हाथों-पैरों की खूबसूरती का ध्यान रखना भी जरूरी हैं क्योंकि आपकी सुदंरता सबसे पहले इन्हीं से आंकी जाती हैं। इसलिए स्किन के साथ पैरों की भी डिटॉक्स रखें, खासकर गर्मियों में क्योंकि इस मौसम में पैरों को हर दिन टॉक्सिन्स से दो-चार होना पड़ता हैं। टॉक्सिन्स हमारे लीवर और आंत में इकट्ठे होकर न केवल हमारी हैल्थ को बिगाड़ते है बल्कि खूबसूरती भी छिन लेते हैं। स्किन को तो हम कई ट्रीटमेंट व ब्यूटी प्रॉडक्ट्स से संवार लेते है लेकिन पैरों का क्या करें। इसलिए पैरों को हैल्थी व सुदंर रखने के लिए इन दिनों फुट डिटॉक्स काफी पॉप्युलर हो रहा है।

 

कैसे काम करता हैं फुट डिटॉक्स?

माना जाता है कि पैरों में नर्व एंडिंग्स और स्वेट ग्लैंड्स होती हैं, जिससे पैरों के साथ-साथ पूरी बॉडी को आराम मिलता है, उनकी सूजन व डलनेस दूर रहती हैं। फुट डिटॉक्स से पैरों से मेटल्स और टॉक्सिन्स भी बाहर निकल जाते हैं। फुट डिटॉक्स करने के लिए आपको किसी महंगे पार्लर जाने की आवश्यकता नहीं क्योंकि आप आसान स्टेप से घर पर फुट डिटॉक्स कर सकते हैं। 

 

चलिए आज हम आपको घर पर फुट डिटॉक्स का तरीका बताते हैं।

 

फुट पैड्स

प्याज और लहसुन को बारीक काट कर रख लें। इसके बाद उबलते पानी में प्याज और लहसुन को डाल कर 10 मिनट के लिए उबालें। इस बात का ख्याल रखें कि इसमें पानी उतना ही डालें कि पेस्ट तैयार हो जाएं। अब इस पेस्ट को 20 मिनट ठंड़ा होने के लिए रखें। इसके बाद मिक्सचर को gauze pads में डालें। इसके बाद इस पैड को पैर के तलवों के बीच रखें और इसके ऊपर जुराबें डाल लें ताकि यह खिसके न और रात भर इस पैच को इसी तरह लगा रहने दें और सुबह हटा दें। फुट पैड्स से पैरों से पसीना आएगा और पसीने के रास्ते से शरीर से टॉक्सिन्स बाहर आ जाएंगे। 

PunjabKesari

एक्युप्रेशर मसाज 

हमारे पैसों की शरीर के कई नर्व्स जुड़े होते हैं, ऐसे में एक्युप्रेशर मसाज से शरीर के कई हिस्सों के दर्द से राहत मिलती हैं और बॉडी डिटॉक्स होती हैं। इतना ही नहीं, इससे शारीरिक स्फूर्ति और तनाव से मुक्ति मिलती हैं। रात को सोने से पहले पैरों के तलवों की अच्छी से तेल की मदद से मसाज करें। फिर एक्यूप्रेशर यानी पैरों के तलवों पर मौजूद अलग-अलग बिन्दुओं को दबाएं। इससे पैरों में पसीना आएगा और शरीर में मौजूद हानिकारक पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। इससे आपके शरीर पर मौजूद अतिरिक्त वसा में भी कम होती हैं। 

 

पानी में पैर डालकर

गुनगुने पानी में थोड़ा एप्सम सॉल्ट और इसेंशल ऑयल मिलाएं और इसमें अपने पैरों को 5 मिनट तक डुबोकर रखें। इससे पैर रिलेक्स होंगे और उनके जरिए शरीर को विषैले टॉक्सिंस को बाहर निकलेंगे। इसके बाद पैरों को पानी से निकालकर अच्छी तरह से सुखा लें और मॉइश्चराइजर से मसाज करें। ध्यान रहें कि इस प्रक्रिया को रात के समय ही अपनाएं। 

PunjabKesari

फुट मास्क

मार्कीट से आपको फुट मास्क आसानी से मिल जाएंगे। इन फुट मास्क को कुछ देर के लिए पैरों में लगाएं और इसके बाद धो लें। फुट मास्क से पैरों की स्किन नर्म होती है और फंगस इंफैक्शन की समस्या दूर रहती हैं। इतना ही नहीं इससे बॉडी के विषैले टॉक्सिंस भी बाहर निकल जाते हैं। 

 

फुट स्क्रब

आप चाहे तो होममेड फुट स्क्रब या मार्कीट से मिलने वाले फुट स्क्रब का नियमित इस्तेमाल करें। इनके इस्तेमाल से पैरों के डेड स्किन सेल्स निकल जाते हैं और उकी स्मेल भी दूर रहती हैं। होममेड फुट स्क्रब बनाने के लिए बाउल में शुगर और नारियल तेल डालें। फिर इसमें लेमन एसेंशियल ऑयल की बूंदे मिलाएं। अब इस स्क्रब को अपने पैरों पर लगाकर रगड़ें। नहाने से 5 मिनट पहले अपने पैरों को धो लें। इससे आपको अपने पैरों में रिफ्रेशिंग स्पा ट्रीटमेंट जैसा फिल होगा। 
 

Related News

From The Web

ad