23 OCTWEDNESDAY2019 5:58:01 AM
Nari

हाई यूरिक एसिड है आर्थराइटिस का कारण, 4 योग से करें कंट्रोल

  • Edited By Harpreet,
  • Updated: 12 Oct, 2019 12:09 PM
हाई यूरिक एसिड है आर्थराइटिस का कारण, 4 योग से करें कंट्रोल

यूरिक एसिड एक ऐसी समस्या है जो समय के साथ-साथ बढ़ती चली जाती है। बॉडी में यूरिक एसिड बढ़ने की वजह से व्यक्ति को आर्थराइटिस की प्रॉब्लम भी हो जाती है। इससे जोडों में सूजन आ जाती है और असहनीय दर्द सेहत को और भी बिगाड़ देता है। मगर योग एक ऐसा साधन है जिसकी मदद से आप इस पर आसानी से कंट्रोल पा सकते हैं। शरीर में यूरिक एसिड का निर्माण कमजोर मेटाबॉलिज्म की वजह से होता है। यूरिक एसिड एक एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करने के लिए जाना जाता है जो रक्त कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाने का काम करता है। 

Image result for uric acid,nari

ब्लड में यूरिक एसिड का उच्च स्तर हानिकारक हो सकता है। यूरिक एसिड और आर्थराइटिस जैसी समस्या से बचने के लिए सही डाइट, वॉक, स्वीमिंग और योग जैसे व्यायाम बहुत जरुरी हैं। मगर आज हम यहां बात करेंगे सिर्फ योग के बारे में...

 

योग बॉडी में ब्लड सर्कुलेशन को भी बेहतर बनाने का काम करता है। रोज सुबह आधा घंटा योग करने से जोड़ों का दर्द कम होता है। साथ ही शरीर में लचीलापन बढ़ता है जिससे आर्थराइटिस जैसी बीमारियां होने का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है। मगर यदि आप इस रोग से पीड़ित हैं तो आज हम आपको कुछ ऐसे योगासन बताएंगे जिनकी मदद से आप बहुत जल्द अपने बड़े हुए युरीक एसिड को कंट्रोल कर पाएंगे।

वृक्षासन

वृक्षासन शरीर की बीमारियों को ही नहीं ठीक करता बल्कि यह शरीर की एक्स्ट्रा चर्बी को भी निकालता है। इस आसन के बाद शरीर को कमजोरी नहीं आती और हड्डियां मजबूत हो जाती है। अगर आप अपनी बढ़ती तोंद से परेशान हैं तो इस आसन को जरूर करें।

Related image,nari

उष्ट्रासन

इस आसन को करने से आप अपनी पेट की चर्बी को तेजी से कम करने के साथ बढ़ते वजन को भी कंट्रोल कर सकते हैं। इस आसन को सही ढ़ग और नियमित रूप से करने पर आपको कुछ समय ही फर्क दिखने लगेगा। बड़ा हुआ वजन जब कम होगा तो आपका युरीक एसिड अपने आप कंट्रोल में रहने लगेगा।

Image result for उष्ट्रासन,nari

अर्ध उत्तानासन

युरीक एसिड कंट्रोल करने के लिए यह सबसे आसान एक्सरसाइज में से एक हैं क्योंकि इससे पेट और रक्त कोशिकाओं पर दबाव पड़ता है, जिससे आपका युरीक एसिड तेजी से कंट्रोल में रहने लगता है। इससे आपकी पेट, थाइस और हिप्स की चर्बी भी तेजी से कम होती है।

Image result for अर्ध उत्तानासन,nari

कपोतासन

कपोतासन यानि कबूतर मुद्रा, इस आसन को करने से आपकी बॉडी में ब्लड एक दम सही तरीके से वर्क करता है। इतना ही नहीं, इस आसन को करने से जांघों, एडियों, जोडों, सीने, गले पर भी दबाव पड़ता है, जिससे आपकी बॉडी लचीली और फैट फ्री बनती है। 

Image result for kapotasana,nari

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News