09 DECMONDAY2019 3:34:51 AM
Nari

शरीर में आए ये बदलाव देते है डायबिटीज का संकेत, न करे नजरअंदाज

  • Edited By khushboo aggarwal,
  • Updated: 14 Nov, 2019 04:30 PM
शरीर में आए ये बदलाव देते है डायबिटीज का संकेत, न करे नजरअंदाज

लुधियाना ( सहगल ): शरीर में डायबिटीज होने से पहले वह कुछ संकेत देती है लेकिन अज्ञानतावश हम उन संकेतों को अनदेखा कर देते हैं और मधुमेह का शिकार बन जाते हैं। ऐसे में जरुरी है कि लक्षणों को कभी अनदेखा न करें। अरोड़ा न्यूरो सैंटर के चीफ ऑफ इंटनर्नल मैडीसन एंड क्रिटिकल केयर डॉ. गौरव सचदेवा ने कहा कि दुनिया भर में मधुमेह रोगियों की संख्या तेजी से बढ़ रही हैं। खासकर, भारत में लाइफ स्टाइल की गलत आदतों की वजह से होने वाली इस बीमारी की रोकथाम को लेकर सावधानी बरती जानी बेहद जरुरी हैं। यब तभी संभव होगा,जब लोग मधुमेह रोग को लेकर जागरुक होंगे।

 

PunjabKesari,nari

क्या है लक्षण

- बार-बार अधिक प्यास और भूख लगना
- बिना काम किए थकावट का महसूस होना
- शरीर में होने वाले घाव का जल्दी ठीक न होना
- बार-बार पेशाब आना

कारण

- उच्च रक्तचाप की शिकायत
- दिल रोग का पारिवारिक इतिहास
- गर्भाव्सथा की हालत में
- परिवार में पहलेे किसी को मधुमेह होना

 

PunjabKesari,nari

इस तरह करें जांच

शरीर में कोई भी ऐसे लक्षण दिखाई दें तो एचबीएनसी टैक्स करवाना चाहिए। यह टेस्ट शरीर में ग्लूकोज की मात्रा को नापता है, जो खून के लाल सैलों के साथ जुड़ा होता है और इससे यह जाना जा सकता है कि पिछले 2 से 3 महीने में ब्लड ग्लूकोज लैवल कितना रहा।

बचाव के लिए शुरु किया गया शपथ हस्ताक्षर अभियान

विश्व मधुमेह दिवस पर लोगों को डायबिटीज की बीमारी से बचाने के लिए एक स्लोगन मधुमेह व परिवार शुरु किया है। इस स्लोगन का मुख्य उद्देश्य अपने परिवार को मधुमेह से बचाना है। इस संबंध में एक शपथ हस्ताक्षर अभियान पूरे विश्व में चलायाजा रहा है। जिसमें सभी लोग मैं अपने परिवार को मधुमेहर से बचाने का प्रयास करुंगा की शपथ ले रहे हैं ताकि विश्व में मधुमेह एक से उत्पन्न चैलेंज का सामना किया जा सके।

 

PunjabKesari,nari

बचाव

डॉक्टर परमिंदर सिंह के अनुसार मधुमेह को रोकने के लिए जीवन में अपने खाने और शारीरिक गतिविधियों की ओर ध्यान देना चाहिए। क्योंकि फूड सरप्लस राष्ट्र होने के कारण हाई कैलोरी डाइट के उपयोग, कार, मोटरसाइकिल का अंधाधुंध प्रयोग, मोटापे के साथ-साथ शूगर और ब्लड प्रैशर का कारण बनता है।
- अधिक से अधिक पैदल चलने, दौड़ने, खेलकूद और साइकिल चलाने जैसी गतिविधि करें।
- खाने में हेल्दी डाइट को शामिल करें। 

Related News