Twitter
You are hereNari

दांत निकलते समय शिशु को न दें Teether, आंत हो सकती है खराब

दांत निकलते समय शिशु को न दें Teether, आंत हो सकती है खराब
Views:- Sunday, October 28, 2018-2:19 PM

बच्चा जब दूध के दांत निकालना शुरू करता है तो उसे कई परेशानियों का गुजरना पड़ता है। नर्म मसूढ़ों से दांत निकलने की यह प्रक्रिया बहुत दर्द भरी होती है। कुछ बच्चों के इससे दस्त तो किसी को बुखार,जुकाम आदि हो जाता है। चिड़चिड़ेपन को दूर करने के लिए लोग बच्चे को प्लास्टिक के बने खिलौने दे देते हैं। इन बेबी Teether को चबाने  से बच्चे के मसूढ़ों की दर्द तो ठीक हो जाती है लेकिन उसकी सेहत पर इसका बुरा प्रभाव पड़ता है। 


दांत निकालते समय आने वाले बदलाव 
शिशु जब दांत निकलता है तो उसके शरीर में कई तरह के बदलाव आते हैं। जिन्हें पहचान कर पहले ही उसकी ज्यादा देखभाल करने से बच्चे को बहुत राहत मिल सकती है। 
1. पेट दर्द, कब्ज या दस्त लगना। 
2. मसूढ़ों में खुजली, सूजन और दर्द रहना
3. बच्चे का सिर गर्म रहना
4. आंखों में लालगी या दर्द होना
5. मसूढ़े सख्त होना
6. चिड़चिड़ापन, बिना बात के रोना और गुस्सा आना
7. हर चीज चबाने की कोशिश करना

लक्षण दिखने पर करें ये काम
जब बच्चे में इस तरह के लक्षण दिखने लगे तो उसकी डाइट पर खास ध्यान दें। उसे पौष्टिक भोजन खिलाएं जिससे रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत रहेगी। 
- मसूढ़ों की मसाज करना शुरू करें। दिन में कम से कम 2 बार शहद से मसूढों की मसाज करें। 
- अंगुलियों से उसके मसूड़ों को हल्के हल्के दबाएं। इससे बच्चे को बहुत आराम मिलता है।
- रोजाना बच्चे के सिर की मसाज करें। 
- बच्चे को हर चीज मुंह में डालने के लिए न दें। उसे थोड़े-थोड़े समय बाद कुछ न कुछ खाने को जरूर दें। 
- इस समय बच्चे के शरीर में बहुत कमजोरी आ जाती है। पोषण की कमी को पूरा करने के लिए डॉक्टरी सलाह से उसे मल्टी विटामिन, कैल्शियम सिरप,विटामिन डी-3 आदि दें।
- उसे दूध के साथ-साथ मसला हुआ केला, सेब का जूस, संतरे का जूस, खिचड़ी, सूजी की खीर, दाल का उबला पानी जरूर दें। इससे बच्चे के मुंह का स्वाद भी बदल जाएगा और पेट भी भरा रहेगा। 

न दें प्लास्टिक के Teether
आजकल बाजार में कई तरह के प्लास्टिक के टिथर मिल जाते हैं लेकिन ये बच्चे की सेहत को और भी ज्यादा खराब कर सकते हैं। इनमें लगा कैमिकल मुंह के रास्ते बच्चे के पेट में चला जाता है। इसके अलावा ऐसे खिलौनोें पर बैक्टिरिया बहुत जल्दी चिपकते है, ये छोटे-छोटे कीटाणु बच्चे के मुंह में जाने से इंफैक्शन होने का डर रहता है।
इससे उनकी आंत पर बुरा असर पड़ता है। खाना पचाने में उसे परेशानी हो सकती है। इसकी जगह पर उसे गाजर,खीरा आदि चबाने के लिए दे सकते हैं लेकिन मां को यह चीजें अपनी नजर के सामने देनी होगी ताकि नन्हा-मुन्ना इसे निगल न ले।  


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
Edited by:

Latest News