09 DECMONDAY2019 4:04:00 AM
Nari

फिक्की फ्लो के सैशन में डायरेक्टर महेश भट्ट ने जिंदगी की किताब के खोले कई पन्ने

  • Edited By khushboo aggarwal,
  • Updated: 12 Nov, 2019 05:01 PM
फिक्की फ्लो के सैशन में डायरेक्टर महेश भट्ट ने जिंदगी की किताब के खोले कई पन्ने

लुधियाना ( मीनू): महेश भट्ट की जिंदगी की किताब के कुछ पन्ने शहर के पार्क प्लाजा में आयोजित फिक्की फ्लो लुधियाना चैप्टर के सैशन में खुले। फिक्की फ्लो लुधियाना चैप्टर की चेयरपर्सन नंदिता भास्कर की अध्यक्षता में करवाए गए इस सैशन में फिल्म निर्माता-निर्देशक महेश भट्ट ने जिंदगी के अनुभव शेयर किए और फिक्की फ्लो की सदस्याओं के सवालों के जवाब भी दिए। इस दौरान महेश भट्ट की अपकमिंग मूवी ‘सड़क-2’ की राइटर सुऋति सेन गुप्ता भी पहुंची।

 

PunjabKesari,nari

 

महेश भट्ट ने राष्ट्रीय गान से शुरू की महिलाओं की प्रशंसा

कार्यक्रम की शुरुआत राष्ट्रीय गान से हुई। जब राष्ट्रीय गान हो रहा था अचानक ऑडियो कैसेट बंद हो गई लेकिन महिलाओं ने अपनी बुलंद आवाज से राष्ट्रीय गान को पूरे फ्लो से कंपलीट किया। महिलाओं की इस बुंलद आवाज के लगातार प्रवाह की प्रशंसा करते हुए महेश भट्ट ने फिक्की फ्लो लुधियाना चैप्टर की महिलाओं का इसी तरह फ्लो के साथ आगे बढऩे को प्रोत्साहित भी किया।

 

 मेरे सच ने ही मुझे ऊर्जावान रखा

मेरी मां को चिंता थी कि कैसे इस फिल्म इंडस्ट्री में खुद की पहचान बना पाऊंगा। बचपन में मेरे पिता साथ नहीं रहते थे। मेरी मदर सिंगल पेरैंट थी। जब लोग मेरे पिता जी बारे पूछते तो कई बार मुझे मेरी मां झूठ बोलने को कहती कि कह दिया करो कि पिता जी शूटिंग पर गए हैं लेकिन मैं झूठ बोलने को लेकर काफी परेशान हो जाता था। मैं सभी को सच बता देता था कि मेरे पिता हमारे साथ नहीं रहते। मेरा मानना है कि सच बोलने से इंसान का डर खत्म हो जाता है।

 

PunjabKesari,nari

 

बच्चों को फ्रैंडली रखता हूं

मैं अपने चारों बच्चों को फ्रैंडली रखता हूं। मैं यह सोचता हूं कि पेरैंट्स को अपने बच्चों को भी कुछ स्पेस देनी चाहिए, ताकि वे अपने अनुभव खुद भी ले सकें। यही उनकी सफलता का मंत्र होता है। मैं अपनी बेटियों के साथ दोस्ताना व्यवहार में रहता हूं। एक बार मैं सोनी के साथ रणबीर के घर डिनर पर गया तो आलिया भी मेरे साथ थी। मैं आलिया और रणबीर के रिश्ते की रिस्पैक्ट करता हूं। आलिया और रणबीर की शादी को लेकर पूछने पर उन्होंने बताया कि उन दोनों को खुद फैसला लेने का हक है। वे जो भी फैसला लेंगे उससे मुझे खुशी होगी। एक समय था जब पूजा काफी ड्रिंक करने लगी थी। मैंने उसे लैक्चर नहीं दिया क्योंकि मैं भी अल्कोहॉलिक था। एक दिन उसने मुझे मैसेज किया आई लव यू डैड। मैंने उससे कहा लव मी दैन लव योर सेल्फ।  

 

मां, बहन और बेटियों से बहुत कुछ सीखा है

मां शीरिन मोहम्मद अली, बहन हिना, पहला प्यार लोरेन, दूसरी पत्नी सोनी, बेटियां पूजा, शाहीन और आलिया से बहुत कुछ सीखा है। आलिया मुझे अपनी फिल्म की स्क्रिप्ट बहुत अच्छी तरह से समझाती है। मैं यह नहीं कहता कि मैं 3-3 बेटियों बाप हूं मैं कहता हूं मैं अपनी टैलेंटिड बच्चियों का पिता हूं।  ‘जख्म’ फिल्म मेरे बचपन पर आधारित थी और ‘सड़क-2’ मेरी दोनों बेटियों पूजा और आलिया के जीवन पर आधारित होगी। शहर में दूसरी बार पहुंचे महेश भट्ट ने कहा कि पहली बार लधियाना राज कपूर की फिल्म की प्रोमोशन के लिए आया था और अब फिक्की फ्लो के कार्यक्रम में आया हूं। 20 साल बाद फिल्म डायरैक्शन में वापसी की है। सारांश, अर्थ, आशिकी, डैडी, नाम, दिल है कि मानता नहीं, हम हैं राही प्यार के क्रिमिनल, जख्म जैसी बेहरीन फिल्में बना चुके महेश भट्ट ने 90 के दशक के आखिर में डायरैक्शन छोड़ दिया था। ‘सड़क-2’ में महेश भट्ट की दोनों एक्ट्रैस बेटियां पूजा और आलिया के साथ संजय दत्त और आदित्य राय कपूर दिखाई देंगे।

 

PunjabKesari,nari

 

पंजाबी सिनेमा काफी ग्रो कर रहा है

पंजाबी सिनेमा बारे महेश भट्ट ने कहा कि पंजाबी फिल्मों को बॉलीवुड की जरूरत नहीं है। पंजाबी सिनेमा काफी ग्रो कर रहा है। शूटिंग के लिए पंजाब में अमृतसर और चंडीगढ़ बेहतर स्थान हैं।

 

बच्ची की रिजैक्शन के बाद नहीं छुई एल्कोहल

पहले मैं बहुत एल्कोहॉलिक था। मैं एक दिन ड्रिंक करके घर आया। कुछ ही दिनों की शाहीन को मैंने गोद में लिया और मुझे लगा कि उसने मुंह फेर लिया। उस रिजैक्शन के बाद एल्कोहल नहीं छुई।

 

जब आप कमजोर लोगों का हाथ थामते हो तो समाज में क्रांति आती है।

फिक्की फ्लो की महिलाओं की सामाजिक गतिविधियों में योगदान की प्रशंसा करते हुए महेश भट्ट ने कहा कि कमजोर लोगों की ओर अटैंशन दो। जब आप कमजोर वर्ग का हाथ पकड़ते हो तो समाज में बदलाव आता है। महिला सशकित्तकरण को लेकर बढ़ावा दे रहे फिक्की फ्लो चैप्टर लुधियाना के कार्यों को भी उन्होंने सराहा।

 

PunjabKesari,nari

 

महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने को हैं प्रयासरत : नंदिता भास्कर

फिक्की फ्लो की चेयरपर्सन नंदिता भास्कर कहती हैं कि फ्लो की ओर से महिला सशक्त्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए वे प्रयासरत हैं। टीम के साथ मिल कर कई कार्यक्रम व ट्रेनिंग सैशन करवाए जा रहे हैं। उनका मकसद सामाजिक कार्यों में महिलाओं की भागीदारी को भी बढ़ाना है।

 

फिक्की फ्लो कई सामाजिक जिम्मेदारियों को दे रही है अंजाम  : सनम मेहरा, अंकिता गुप्ता

फिक्की फ्लो की एग्जीक्यूटिव सदस्य सनम मेहरा व ट्रेजरार अंकिता गुप्ता कहती हैं कि टीम का मकसद जरूरतमंद महिलाओं का हाथ पकड़कर उन्हें सशक्त करना है और उनके विकास के लिए कार्य करना है। यही नहीं, उनकी टीम की हर महिला खुद को इन कार्यों के लिए समर्पित समझती हैं।
 

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News