Twitter
You are hereNari

डिप्रेशन हो या माइग्रेन, रोजाना करेंगे ये 6 आसन तो दिमाग रहेगा स्वस्थ

डिप्रेशन हो या माइग्रेन, रोजाना करेंगे ये 6 आसन तो दिमाग रहेगा स्वस्थ
Views:- Monday, June 11, 2018-4:53 PM

माइग्रेन का इलाज : बदलता लाइफस्टाइल और तनावभरी जिंदगी शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर बुरा असर डालती है। इसके कारण इंसान माइग्रेन, डिप्रैशन और दूसरी दिमागी बीमारियों का शिकार हो जाते हैं। कुछ लोग इन्हें दूर करने के लिए दवाइयों का सेवन करते हैं लेकिन योग के जरिए आप इन समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं। आज हम आपको कुछ ऐसे ही योग आसन के बारे में बताने जा रहे हैं, जोकि माइग्रेन और डिप्रैशन जैसी समस्याओं को दूर करके ब्रेन को फ्रैश करती है। इन योगासन को रोजाना नियमित तौर पर करने से आपकी ब्रेन प्रॉब्लम दूर होने के साथ कई शारीरिक समस्या भी दूर हो जाएगी।


1. अनुलोम-विलोम

PunjabKesari
अनुलोम-विलोम आसन करने से फेफड़ों की ऑक्सीजन ग्रहण करने की क्षमता बढ़ती है, जिससे शरीर की कोशिकाओं और दिमाग को अधिक ऑक्सीजन मिलने लगती है। इससे डिप्रैशन, माइग्रेन, सांस संबंधी दिक्कत, ब्लड प्रैशर और शुगर कंट्रोल में रहता है। 


2. भ्रामरी प्राणायाम

PunjabKesari
भ्रामरी प्राणायाम को करने से मानसिक दवाब, एंजायटी और डिप्रैशन जैसी समस्याएं दूर होती। रोजाना इस आसन को करने से इन परेशानियों से छुटकारा पा सकते हैं।


3. मेडिटेशन

PunjabKesari
मेडिटेशन यानी की ध्यान लगाना। दिनभर की भागदौड़, काम के प्रैशर आदि से आज 5 में 2 व्यक्ति मानसिक तनाव यानी डिप्रैशन का शिकार है। इससे मुक्ति पाने का सबसे बेहतर विकल्प है ध्यान लगाना। मेडिटेशन से आत्मिक शांति मिलती हैं। वहीं, मन की एकाग्रता के साथ कार्य शक्ति भी बढ़ती है। 


4. बालासन (चाइल्ड पोज)

PunjabKesari

बालासन आपके नर्वस सिस्टम को शांत करने में और प्रभावित ढंग से माइग्रेन के दर्द को कम करने में मदद करता है। इस आसन को करने के लिए सबसे पहले एक शांत जगह पर बैठकर पैर को मोड़ें और एड़ियों के बल बैठ जाएं। इसके बाद अपने शरीर के ऊपरी हिस्से को जांघों पर टिका लें। अब अपने सिर को नीचे झुकाते हुए जमीन पर रख लें और अपने दोनों हाथों को पीछे की तरफ करके सांसो पर नियंत्रित रखें।


5. सेतुबंधासन

PunjabKesari
एक्सपर्ट्स मानते हैं कि यह आसन से शरीर को शारीरिक-मानसिक संतुलन को मजबूत करता है। सीधे पीठ के बल लेटकर पैरों को ऐसे रखें कि जैसे आप बैठे हुए हैं। यह क्रिया कुछ वक्त तक निरंतर दोहराएं। इससे फेंफड़ों और स्वसन क्रिया पर भी सकारात्मक असर दिखता है। 


6. शवासन

PunjabKesari
नींद की कमी भी माइग्रेन या डिप्रैशन का कारण बन सकती हैं। ऐसे में यह आसन आपकी अनिद्रा की समस्या को दूर करने के साथ आपको मानसिक और शारीरिक तौर पर भी स्वस्थ रखता है। इस आसन को करने के लिए सबसे पहले जमीन पर पीठ के बल लेट जाएं। अपने दोनों हाथों को जमीन पर रख लें। कम से कम 5 से 30 मिनट तक इसी अवस्था में रहें।


फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP

Latest News