21 OCTMONDAY2019 6:34:05 AM
Nari

प्रेग्नेंसी में देरी बनती है हार्ट अटैक की वजह, इन महिलाओं को रहता हैं खतरा

  • Edited By Priya dhir,
  • Updated: 10 Jul, 2019 04:39 PM
प्रेग्नेंसी में देरी बनती है हार्ट अटैक की वजह, इन महिलाओं को रहता हैं खतरा

गलत लाइफस्टाइल और आदतों की वजह से आजकल हार्ट अटैक आना आम हो गया है। पहले बूढ़े लोग ही इसके शिकार होते थे लेकिन अब युवा में भी यह बीमारी कॉमन देखने को मिलती है। ज्यादातर लोग सोचते हैं कि हार्ट अटैक सिर्फ पुरुषों को होता हैं लेकिन एेसा नहीं है महिलाएं भी इसका शिकार होती है जिसका कारण है अनहैल्दी लाइफस्टाइल।

 

किन महिलाओं को होता हैं हार्ट अटैक का अधिक खतरा

महिलाओं में प्रेग्नेंसी के दौरान और डिलीवरी के बाद हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है। प्रेग्नेंसी के दौरान महिला में शारीरिक और मानसिक कई तरह के बदलाव आते हैं जिसका उसका उनके दिल-दिमाग पर पड़ता है। कई शोध में यह बात सामने आई है कि महिलाओं में प्रेग्नेंसी में, लेबर के दौरान या डिलीवरी के बाद के शुरुआती हफ्तों में हार्ट अटैक की दर में 25 फीसदी का इजाफा हुआ है। इसके अलावा जो महिलाएं 30 के बाद मां बनती हैं उनमें हार्ट अटैक का खतरा बढ़ता है। वही, जो महिलाएं ध्रूमपान करती हैं उनमें आम महिलाओं के मुकाबले हार्ट अटैक का खतरा अधिक रहता हैं।

PunjabKesari

SCAD यानि कि स्पोन्टेनियस कोरोनरी आर्टरी डिसेक्शन (Spontaneous coronary artery dissection) एक तरह का हार्ट अटैक होता है जोकि सिर्फ महिलाओं को आता है। SCAD प्रेग्नेंसी के बाद या फिर 40 की उम्र के बाद महिलाओं में देखने को मिलता है। दरअसल, प्रेग्नेंसी या फिर 40 की उम्र के बाद महिला के शरीर में कई तरह के बदलाव होते हैं। कई बार आर्टरी की लेयर बीच में से टूट जाती है जिससे हार्ट अटैक का खतरा बढ़ता है।

PunjabKesari

SCAD के लक्षण भी आम हार्ट अटैक की तरह ही होते हैं जैसे कि

-छाती में दर्द
-अत्यधिक थकान
-जी मिचलाना
-सिर चकराना
-बाहों व कंधों में दर्द
-स्किन में पीलापन
-सांस लेने में तकलीफ
-ब्लड प्रेशर हाई रहना
-घबराहट के साथ पसीना आना
-लगातार पेट खराब व एसिडिटी रहना

PunjabKesari

अब आपको बताते हैं कि महिलाओं में हार्ट अटैक क्यों होता है। इसकी वजह है...

-तनाव 
-बढ़ता वजन 
-नींद पूरी ना लेना 
-धूमप्राण व शराब 
-एक्सरसाइज ना करना
-समय रहते ब्लड प्रेशर चैक ना करवाना

अपनी लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव करके आप हार्ट अटैक से बच सकते है। इसके लिए
-डाइट का ख्याल रखें
-तनाव लेने से बचें
-रोजाना हल्का-फुल्का व्यायाम जरूर करें 
-35-40 की उम्र के बाद रेग्लुर चेकअप जरूर करवाएं 
-कॉलेस्ट्रॉल का ध्यान रखें क्योंकि ज्यादा कॉलेस्ट्रॉल से दिल के दौरे का खतरा बढ़ जाता है
-हार्ट अटैक का कोई भी लक्षण दिखने पर डॉक्टरी जांच जरूर करवाएं।

PunjabKesari

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News