22 OCTTUESDAY2019 3:10:18 AM
Nari

मूवी छपाक में 'एसिड सर्वाइवर' लक्ष्मी का किरदार निभाएंगी दीपिका, जानिए पीड़िता के संघर्ष की कहानी

  • Edited By Vandana,
  • Updated: 25 Mar, 2019 03:35 PM
मूवी छपाक में 'एसिड सर्वाइवर' लक्ष्मी का किरदार निभाएंगी दीपिका, जानिए पीड़िता के संघर्ष की कहानी

दीपिका पादुकोण इन दिनों अपनी अपकमिंग फिल्म छपाक में बिजी हैं। हाल ही में छपाक का पोस्टर रिलीज हुआ है जिसमें दीपिका का फर्स्ट लुक सामने आया है जिसमें उन्हें पहचान पाना मुश्किल है। दरअसल वह एक एसिड सर्वाइवर के रुप में नजर आ रही हैं। यह स्टोरी एक रियल बेस्ड स्टोरी है, जिसे मेघना गुलजार डायरेक्ट कर रही हैं। दीपिका, एसिड अटैक सर्वाइवर लक्ष्मी अग्रवाल की बायोपिक में उनकी भूमिका में नजर आएगी। दीपिका की लुक देखे तो वह हुबहू लक्ष्मी के जैसी ही लग रही हैं। वैसे ही उदासी उनके चेहरे पर नजर आएगीजैसी लक्ष्मी के चेहरे पर है।
 PunjabKesari, Laxmi Agarwal Nari

फिल्म छपाक से दीपिका पादुकोण की फर्स्ट लुक 

इस स्टोरी को लेकर अब हर किसी के मन में यहीं सवाल होगा कि आखिर यह लड़की हैं कौन और कैसे घटी उनके साथ यह अनहोनी... तो चलिए आज हम आपको एसिड सर्वाइवर लक्ष्मी अग्रवाल की लाइफस्टोरी के बारे में बताएंगे जिनपर साल 2005 में 32 साल के युवक ने अपने 2 दोस्तों के साथ मिलकर एसिड अटैक किया था।
 

/PunjabKesari, Meghna Gulzar, Laxmi Agarwal

15 साल की उम्र में हुई एसिड अटैक की शिकार

1990 में दिल्ली में जन्मी लक्ष्मी ने सिर्फ दसवीं तक की ही पढ़ाई की है  उन्हें म्यूजिक और डांस बहुत पसंद है, इसलिए वह एक सिंगर बनना चाहती थीं लेकिन साल 2005 में उनके सारे सपनों को एक शख्स रौंद गया। 2005 में 15 साल की लक्ष्मी पर 32 साल के शख्स गुड्डा ए.के. नाहिम खआन और उसके दो और दोस्तों ने मिलकर एसिड अटैक किया था। ऐसा करने का कारण यह था कि लक्ष्मी ने उससे शादी का प्रस्ताव ठुकरा दिया था।  
PunjabKesari, Deepika, Laxmi, Meghna

मिशेल ओबामा ने किया अंतर्राष्ट्रीय महिला साहस पुरस्कार से सम्मानित

एसिड अटैक से बुरी तरह जख्मी हुई लक्ष्मी ने सेहत में सुधार होने पर खुद को अकेले मायूस नहीं होने दिया ब्लकि एसिड अटैक पर स्टॉप लगाने के प्रचार में लग गईं।  2006 में लक्ष्मी ने एक जनहित याचिका दायर की और उस याचिका के जरिए एसिड की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने की मांग कर डाली क्योंकि एसिड हमले जैसे मामले तेजी से बढ़ रहे थे।लक्ष्मी अग्रवाल के साथ और एसिड अटैक पीड़ित लोगों ने मिलकर पुनर्वास के लिए भूख हड़ताल भी किया था। उन्होंने स्टॉपसेल एसिड अभियान भी चलाया, जिसके लिए लक्ष्मी को कई पुरुस्कारों से नवाजा भी गया है। साल 2014 में लक्ष्मी, फर्स्ट लेडी मिशेल ओबामा से अंतर्राष्ट्रीय महिला साहस पुरस्कार से भी नवाजी जा चुकी हैं। 

 PunjabKesari, Lakmi with michelle Obama
बस लक्ष्मी की मेहनत सफल हुई अभियान के चलते 2013 में सुप्रीम कोर्ट ने नियम लागू किया जिसके चलते 18 साल से कम उम्र का कोई व्यक्ति एसिड नहीं खरीद सकता, साथ ही अगर कोई एसिड खरीदने जा रहा है तो उसे पहले दुकानदार को अपना पहचानपत्र देना होगा। 

लिव-इन रिलेशनशिप में रहकर दिया बेटी को जन्म

बता दें कि साल 2014 में  लक्ष्मी की मुलाकात आलोक दीक्षित से हुई थी, जिसके बाद दोनों में प्यार हुआ और वह लिव इन रिलेशनशिप में रहने लगें। दोनों की एक बेटी भी है, जिसका नाम पीहू है हालांकि अब दोनों साथ नहीं रहते।
PunjabKesari, Laxmi with Alok
लक्ष्मी ने शादी ना करने का कारण बताया था कि भारत में दुल्हन काफी सुंदर होती हैं और उन्हें इस बात का ही डर सताता था कि लोग उन्हें अस्वीकार करेंगे, जिसके चलते उन्होंने शादी ना करने का फैसला किया। लक्ष्मी ने आलोक के साथ मिलकर एक गैर सरकारी संगठन चव्हाण फाउंडेशन की स्थापना की।
PunjabKesari, Laxmi with Daughter
 

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News