Twitter
You are hereNari

दीपिका को डिप्रेशन से बाहर लाया यह आसन, यही है ग्लोइंग स्किन का राज - Nari

दीपिका को डिप्रेशन से बाहर लाया यह आसन, यही है ग्लोइंग स्किन का राज - Nari
Views:- Monday, September 24, 2018-10:53 AM

बॉलीवुड एक्ट्रैस दीपिका पादुकोण सबसे फिट और स्लिम हिरोइनों में से एक हैं। हाल ही में उन्होंने अपने इंस्टाग्राम पर एक तस्वीर शेयर की, जिसमें वह शीर्षासन योग कर रही थी। इसमें कोई शक नहीं है कि दीपिका की फिटनेस और उनके ग्लोइंग चेहरे में शीर्षासन का बड़ा हाथ है।

 

शीर्षासन न केवल तनावमुक्त रखने में मदद करता है बल्कि यह आपको फिट भी रखती है। अगर आप दीपिका की तरह ग्लोइंग स्किन और स्लिम फिगर पाना चाहते हैं तो वर्कआउट रुटीन में शीर्षासन को जरूर शामिल करें।

 

कैसे करते हैं शीर्षासन
शीर्षासन करने के लिए सबसे पहले वज्रासन की पोजीशन में बैठ जाएं। अब आगे की ओर झुककर दोनों कोहनियों को जमीन पर टिकाएं और फिर हाथों की उंगलियों को एक दूसरे से मिला लें। इसके बाद सिर दोनों हथेलियों के बीच में रखकर धीरे-धीरे अपने पूरे शरीर का भार सिर पर टिकाएं और ऊपर की ओर उठाएं। सिर के बल होकर अपना पूरा शरीर सीधा रखें। आप यह आसन दीवार के साथ लगकर भी कर सकते हैं।

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

upside down,inside out!!!🤪

A post shared by Deepika Padukone (@deepikapadukone) on Jul 11, 2018 at 4:04am PDT

 

शीर्षासन के फायदे
1. तनाव दूर करें
दीपिका का कहना है कि शीर्षासन उन्हें तनावमुक्त रखने में मदद करता है। दरअसल, इस आसन को करने से तनाव पैदा करने वाले हार्मोन्स का प्रोडक्शन बंद हो जाता है इसलिए इसे स्ट्रेस रिलीवर भी कहा जाता है।

 

2. मसल्स को करे मजबूत
नियमित रूप से शीर्षासन करने से कोर सिस्टम मजबूत होता है, जिससे मसल्स के साथ इम्यून सिस्टम भी ठीक रहता है। इतना ही नही, इस आसन को रोज करने से छोटे-मोटे घाव लगने की संभावना भी कम हो जाती है।

 

3. मोटापा घटाने के लिए
शीर्षासन करने से मेटाबोलिज्म नियंत्रित रहता है। इसके साथ ही इस आसन से शरीर की सारी मसल्स सक्रीय रहती है ,जिससे पूरे शरीर का फैट कम होता है लेकिन यह खासकर हिप्स, पेट और जांघो पर काम करता है।

PunjabKesari

4. एंटी-एजिंग प्रॉपर्टी
ऑनस्क्रीन हो या ऑफस्क्रीन, दीपिका का चेहरा हमेशा ही ग्लो करता है, जिसका कारण यह आसन है। शीर्षासन करते समय आपकी बॉडी ग्रेविटी के ओपोजिट होती है, जोकि चेहरे पर चमक बढ़ती है।

 

5. स्मरण शक्ति बढ़ाने के लिए
शीर्षासन का अभ्यास करने से स्मरण शक्ति बढ़ाने में भी मदद मिलती है, जिससे आप अल्जाइमर, अवसाद और मानसिक बीमारियों से बचे रहते हैं।

 

6. दिल की बीमारियां
एक शोध के मुताबिक, शीर्षासन करने से दिल की बीमारियों की संभावना 90 प्रतिशत तक कम हो जाती है। दरअसल, दिल की तमाम बीमारियों का कारण ब्लड प्रैशर की अनियमितता है और शीर्षासन से ब्लड सर्कुलेशन ठीक रहता है इसलिए इससे दिल के रोगों में भी बचाव रहता है।

PunjabKesari


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP
Edited by: