24 OCTTHURSDAY2019 5:08:19 AM
Nari

दलित लेखिका सुजाता को पहली किताब के लिए मिला शक्ति भट्ट पुरस्कार

  • Edited By Priya verma,
  • Updated: 29 Oct, 2018 02:13 PM
दलित लेखिका सुजाता को पहली किताब के लिए मिला शक्ति भट्ट पुरस्कार

भारतीय मूल की दलित लेखक सुजाता गिदला को अमेरिका में शक्ति भट्ट पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। सुजाता अमेरिका में रह रही है और खुशी की बात यह है कि उनको अपनी पहली पुस्तक "Ants Among Elephants: An Untouchable Family and the Making of Modern India" के लिए यह सम्मान दिया गया है। 
PunjabKesari

सुजाता ने इस किताब में अपने परिवार की चार पीढ़ियों की दास्तान लिखी है। इस पुरस्कार की दौड़ में 6 अन्य पुस्तकें भी शॉर्टलिस्ट थी। जिसमें सुजाता की पुस्तक को चुना गया। उनकी यह पुस्तक उनके चाचा माओवादी नेता के.जी. सत्यमूर्ति पर आधारित है। के.जी. सत्यमूर्ति ने People’s War Group की स्थापना की थी। जिसमें परिवार की व्यथा, गरीबी, पितृसत्तात्मकता और भेदभाव की सीधी, सपाट और साफ तस्वीर पेश की गई है। इस किताब में लिखी हर बात का प्रभाव पाठक के दिल पर पड़ता है जिसमें लिखे गए किस्सागोई कहीं से भी पाठकों को नाटकीय नहीं लगते। 
PunjabKesari

शक्ति भट्ट फाउंडेशन ही शक्ति भट्ट बुक प्राइज के लिए फंड मुहैया करवाता है। इसके विजेता को सम्मान के साथ 2 लाख रुपये का कैश प्राइज भी दिया जाता है। पिछले साल शक्ति भट्ट पुरस्कार श्री लंका के लेखक अनुक अरुद्प्रगासम को मिला था। 
 

Related News