23 SEPMONDAY2019 3:07:30 PM
Nari

दिल्ली की इस दबंग लेडी को सास से मिली प्रेरणा, सीखाती हैं मनचलों को सबक

  • Edited By khushboo aggarwal,
  • Updated: 22 Aug, 2019 03:02 PM
दिल्ली की इस दबंग लेडी को सास से मिली प्रेरणा, सीखाती हैं मनचलों को सबक

महिलाओं को अक्सर कमजोर माना जाता है और उन्हें ही संभल कर चलने की हिदायतें दी जाती है लेकिन आपको बता दें कि एक बार महिला जब कुछ ठान ले तो उसे पूरी करने की हिम्मत भी रखती हैं। आजकल आपको ऐसे उदाहरण भी बहुत मिल जाएंगे। हर क्षेत्र में महिला ने अपना ढका बजाकर यह साबित कर दिया है कि वह ना तो कमजोर है और ना अबला। ऐसी ही एक मिसाल कायम कर चुकी है दिल्ली की दबंग लेडी। इन्हें दिल्ली की दंबग सिंघम भी कहा जाता है। चलिए आपको बताते हैं इस दंबग लेडी जया यादव के बारे में।

दिल्ली के ख्याला थाने में तैनात कांस्टेबल जया यादव को देखते ही मनचलों के पसीने छूट जाते हैं। सिर्फ मनचलों के ही नहीं बल्कि पुरुषों पर झूठे आरोप लगाने वाली महिलाओं को भी वह सबक सीखाती है क्योंकि जया न्याय पसंद है फिर गलती लड़के की हो या लड़की की वह दोनों को अच्छे से निपटती हैं। 

कई मनचलों को सिखा चुकी हैं सबक 

दिल्ली पुलिस में भर्ती होने के बाद जया की सबसे पहले ट्रैफिक पुलिस में ड्यूटी लगी। उसके बाद काफी लंबे समय तक पीसीआर में ड्यूटी की। अब वह पिछले 2 साल से ख्याला थाने में रिसेप्शन का काम संभाल रही हैं। इसके साथ ही जया पिस्टल, एके-47 और एमपी-5 गन भी बहुत अच्छे से चला लेती हैं। अब तक वह 1000 से अधिक मनचलों को सबक सीखा चुकी हैं।

PunjabKesari,Constable Jaya Yadav, Lady Singham,Nari

जया को सास से मिली प्रेरणा

इस दबंगई कांस्टेबल को बिना डरे काम करने की प्ररेणा अपनी हरियाणवी सास जगवती देवी से मिली  हैं। इनका रोब देख कर हर कोई डर के मारे कांपने लगता हैं। जया का मायका उत्तर प्रदेश व ससुराल हरियाणा में हैं। जब एक बार उन्होंने अपनी सास से बाइक पट्रोलिंग करने की बात सांझी की तो वह काफी उत्साहित हो गई थी। तब उन्होंने उन्हें लड़कियों को परेशान करने वाले युवकों को सबक सीखाने की सीख दी। जब वह कभी मनचले युवकों को लड़कियों को तंग करता देखती तो वह लड़कियों का साथ देती हैं। इन्हें से प्रेरित हो कर जया अब तक कई लोगों के छक्के छुड़ा चुकी हैं। 

गलत महिलाओं को भी सिखाती हैं सबक

जया न केवल मनचले लड़कों को सबक सीखाती है बल्कि जब उनके सहकर्मी या अन्य किसी युवक पर कोई महिला झूठे आरोप लगाती है तो वह उस का भी सामना करती हैं। वह महिलाओं की तरह पुरुषों का भी सुरक्षा कवच बनती हैं। कई बार झूठे आरोप लगाने वाली एकजुट महिलाओं की भीड़ का उन्हें अकेले ही सामना करना पड़ता हैं। आज वह कई महिलाओं के लिए रोल मॉडल हैं।
 

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News