18 OCTFRIDAY2019 12:29:06 AM
Nari

हेयर ट्रांसप्लांट के बाद बिजनेसमैन को गवानी पड़ी जान, करवाते वक्त बरते ये सावधनियां

  • Edited By Sunita Rajput,
  • Updated: 15 Mar, 2019 10:28 AM
हेयर ट्रांसप्लांट के बाद बिजनेसमैन को गवानी पड़ी जान, करवाते वक्त बरते ये सावधनियां

बदलते लाइफस्टाइल में अधिकतर लोगों को गंजेपन की समस्या का सामना करना पड़ता है लेकिन इसका हल भी टेक्नोलॉजी ने निकाल डाला है। जी हां, गंजेपन के इलाज के लिए लोग हेयर ट्रांसप्लांट करा रहे हैं।हालांकि हेयर ट्रांसप्लांट टेक्नीक काफी महंगी है लेकिन खूबसूरत दिखने की चाहत में लोग इस ट्रीटमेंल को लेने से भी नहीं करतराते है।  मगर कई बार हेयर ट्रांसप्लांट ट्रीटमेंट लोगों की जान पर भी भारी पड़ सकता हैं। हाल ही में मुंबई के एक बिजनेसमैन ने हेयर ट्रांसप्लांट का सहारा लिया। उसे बालों की समस्या से छुटकारा तो नहीं म‍िला उल्टे अपनी जान गंवानी पड़ गई। 

 

हेयर ट्रांसप्लांट के कारण बिजनेसमैन को गवानी पड़ी जान 

बिजनेसमैन श्रवण चौधरी झड़ते बालों की वजह से अक्सर अपने खराब होते लुक को लेकर परेशान रहते थे। उन्होंने अपनी पर्सनैलिटी को डाउन होने से बचाने के लिए हेयर ट्रांसप्लांट करवाने की फैसला लिया, जिसके लिए वो प्राइवेट अस्पताल में पहुंचे। श्रवण चौधरी की सर्जरी करीब 15 घंटों तक चली, इस दौरान उन्होंने 9,500 बाल ट्रांसप्लांट करवाए। सर्जरी के बाद वह अपने घर चले गए। कुछ समय बाद उनकी तब‍ीयत खराब हुई तो उन्हें एक नजदीक‍ी अस्पताल ले जाया गया। जहां ले जाने के बाद डॉक्टर ने चेक करके बताया कि उन्हें एनाफिलेक्सिस एलर्जी हुई है जिस वजह से उनके चेहरे और शरीर पर गंभीर दर्द भरी सूजन हो रही हैं। तबीयत ज्यादा बिगड़ने पर 2 द‍िन की अंदर ही उसकी मौत हो गई। 

PunjabKesari

एनाफिलेक्सिस एलर्जी होने से हुई मौत 

परिजनों का मुताबिक, हेयर ट्रांसप्लांट के बाद जब श्रवण चौधरी वापस घर आए तो उन्हें नहाने के बाद सिर और चेहरे पर जलन होने लगी। साथ ही उनका चेहरा बहुत सूज गया और उनकी दो दिन में ही मौत हो गई। हालांकि अभी तक मरने की वजह साफ पता नहीं चली हैं लेकिन डॉक्टरों का मानना है कि मौत एनाफिलेक्सिस नाम की एलर्जी की वजह से हुई।  

 

क्या है एनाफिलेक्सिस एलर्जी? 

एनाफिलेक्सिस एक जानलेवा एलर्जी होती हैं जिसका तुरंत इलाज किया जाना बेहद ज़रूरी है। दरअसल, एय एलर्जी तेजी से फैलती हैं। हालांकि कि इस घातक एलर्जी से अधिकतर लोग तो ठीक हो जाते है लेकिन इसके लिए कुछ सावधानियां बतरनी जरूरी हैं। दरअसल, हेयर ट्रांसप्लांट जैसा कोई भी ट्रीटमेंट लेने से पहले ही डॉक्टर्स को उन दवाइयों के बारे में बता दें कि जिनसे आपको एलर्जी हैं। नहीं तो यह एलर्जी आपको मौत के मुंह तक लेकर जा सकती हैं। 

PunjabKesari

एनाफिलेक्सिस के लक्षण 

स्किन पर चकते (रैशेज़) होकर खुजली व सूजन होना
खांसी के साथ सांस लेने में दिक्कत आना
पेट में अजीब-सी ऐंठन और उल्टी आना
चक्कर आने जैसा महसूस होना या तेज सिर दर्द 
सांस लेने में घरघराहट की आवाज़
शरीर पीला पड़ जाता है और पल्स रेट घटना
खाने-पीने में परेशानी और गला भी टाइट-सा महसूस होना

PunjabKesari

एनाफिलेक्सिस का इलाज

अगर एनाफिलेक्सिस एलर्जी से सभी लक्षण महसूस हो तो तुरंत मरीज को एपीनफिरीन (Epinephrine) का शॉट दें। यह शॉट मरीज़ की जांघ पर दिया जाता है। यह एक अड्रेनलिन ऑटो-इंजेक्टर होता है, जो ब्लड वेसल्स को सिकोड़ देता है, स्मूद मसल्स को रिलैक्स कर देता है और सांस लेने में हो रही कठिनाई को भी दूर कर देता है। अगर मरीज को पहले भी ऐसी एलर्जी हुई हो तो उसे अपने साथ कम से कम दो एपीनफिरीन शॉट्स रखने चाहिए। इसके तुरंत डॉक्टर्स से संपर्क करें।

 

सर्जरी करवाते वक्त बरते ये सावधानियां

अगर आप हेयर ट्रांसप्लांट जैसा रिस्क ले रहे है तो किसी अनुभवहीन डॉक्टर या लोकल क्लीनिक में ऐसा ट्रीटमेंट न ले। ध्यान रखें हेयर ट्रांसप्लांट की सर्जरी करने वाला सर्जन कम से कम 3 साल का अनुभव ले चुका हो और वो इस फील्ड का विशेषज्ञ हो।

 

हेयर ट्रांसप्लांट करवाने से पहले सुनिश्चित कर लें कि जिस अस्पताल या क्लीनिक से हेयर ट्रांसप्लांट करवा रहे हैं वहां कुशल डॉक्टर और एमरजेंसी सेवाएं हैं या नहीं। ओटी में सभी सुविधाओं का पूरा ब्योरा मांग लें और उसके बाद ही हेयर ट्रांसप्लांट करवाएं।

 

ट्रांसप्लांट के बाद अगले 2 दिन तक प्रभावित हिस्से को न छुएं और न ही कैप या कुछ भी सिर पर पहनें ताकि घाव भर सके। साथ ही 1 हफ्ते तक हेलमेट पहनने से भी बचें। 

 

एहतियात बरतने के बावजूद प्रभावित हिस्से में सूजन, दर्द या असहज महसूस कर रहे हैं तो इसे नजरअंदाज न करें बल्कि तुरंत डॉक्टर को दिखाएं। खुद पेनकिलर न लें क्योंकि इससे दिक्कत बढ़ सकती हैं। 

 

हेयर ट्रांसप्लांट के कुछ दिनों बाद तक शारीरिक गतिविधि ज्यादा न करें और न ही धूप में निकलें। दरअसल, ऐसा करने से आपको ज्यादा पसीना आएगा और नमी के रूप में घाव के आसपास संक्रमण बन सकता हैं। 

 

सर्जरी से पहले अपने बालों को सुबह-शाम 2 बार अच्छी तरह से धोना चाहिए लेकिन ध्‍यान रहें सर्जरी से पहले आप हेयर स्‍पा न लें। 

 

अगर आप डायबिटिक हैं तो आपको डॉक्टर से पहले ही बात कर लेनी चाहिए कि आपको इंसुलिन और डायबिटीज की टेबलेट्स कैसे लेनी चाहिए।

 

इस ट्रांसप्लांट से पहले आपको 1 सप्ताह तक एस्पीरिन या किसी तरह की एंटीबायोटिक और हार्ड दवाइयां नहीं लेनी चाहिए लेकिन किसी गंभीर बीमारी का इलाज चल रहा है तो इस बारे में डॉक्टर से पहले ही सलाह कर लें। 
 

Related News