Twitter
You are hereNari

क्यों तेजी से बढ़ रहा है बच्चों में ब्लड कैंसर? जानिए इसके लक्षण

क्यों तेजी से बढ़ रहा है बच्चों में ब्लड कैंसर? जानिए इसके लक्षण
Views:- Tuesday, June 12, 2018-10:46 AM

गलत खान-पान और अनियमित रहन-सहन के कारण हर रोज नई-नई बीमारियां सुनने को मिल रही हैं। विश्वभर मेंं कैंसर के मरीज भी तेजी से बढ़ रहे हैं। अब तो यह बीमारी छोटे-छोटे बच्चों को भी अपनी चपेट में बहुत तेजी से ले रही है। भारत में कैंसर के मरीज जितने आते हैं उनमें से लगभग 5% मामले 15 साल से कम उम्र के बच्चों के होते हैं। बच्चों में होने वाले ज्यादातर कैंसर रोगी एक ही तरह के होते हैं वो हैं ब्लड कैंसर। दुनियाभर में बच्चों को ब्लड कैंसर की बीमारी बढ़ती ही जा रही है। बच्चों में इसके लक्षण पहचानना थोड़ा मुश्किल है। ज्यादातर इस बीमारी तब चलता है जब यह आधे से ज्यादा फैल कर गंभीर रूप लेती हैं। आइए जानिए क्या है ब्लड कैंसर यानि ल्यूकीमिया और इसके क्या-क्या है लक्षण?

क्यों तेजी से बढ़ रहा है बच्चों में ब्लड कैंसर?
वातावरण में मौजूद रेडियशन के संपर्क में आने से या किसी भी वायरल इंफैक्शन के कारण यह बीमारी बच्चों में तेजी से बढ़ रही है। डॉक्टरों का मानना है कि अगर परिवार में बच्चे के माता-पिता में किसी को भी ब्लड कैंसर की शिकायत हो तो भी यह समस्या बच्चे को भी हो सकती है।

जानिए क्या है ल्यूकीमिया या ब्लड कैंसर
ल्‍यूकीमिया एक तरह के ब्लड कैंसर की शुरुआती स्टेज है। अगर शुरू में ही इस रोग का पता चल जाएं तो इसका इलाज बड़ी आसानी से किया जा सकता है। ल्‍यूकीमिया की समय पर पहचान और इलाज कैंसर से बचा सकते है। ल्यूकीमिया सेल्स सीधे ही ब्लड पर अपना प्रभाव डालते हैं। इसके लक्षणों को आसानी से पहचाना जा सकता है, लेकिन इसके लक्षणों को नजरअंदाज करने से यह जानलेवा हो सकती है।

ल्यूकीमिया या ब्लड कैंसर के लक्षण
बच्चों में इस बीमारी के लक्षणों को पहचानना मुश्किल होता है लेकिन इन लक्षणों को देखकर डॉक्टर की सलाह से बच्चे को इस गंभीर बीमारी से बचाया जा सकता है।

1. ब्लड कैंसर के शुरूआत में बहुत तेजी से बुखार या बार-बार एक ही तरह का संक्रमण हो सकता है।
2. बच्चे को हर समय थकावट रहना या कमजोरी महसूस करना और एनिमिया की शिकायत होना भी इस बीमारी के संकेत हो सकते हैं।
3. बच्चे के नाक या मसूड़ों  से खून बहने की शिकायत होना और प्लेटलेट्स का गिरना।
4. शरीर के अलग-अलग हिस्से पर गांठे बनना और सूजन आना।
5. बच्चे को लीवर संबंधी समस्याएं होना।
6. पक्षाघात यानी स्ट्रोक होना।
7. किसी चीज का बार-बार भ्रम होना यानि कई बार रोगी मानसिक रूप से परेशान रहना।
8. स्किन पर रैशेज पड़ना और उल्टियां आना। 
9. अचानक बच्चे का वजन कम हो जाना।
10. किसी घाव से जल्दी आराम न आना।

ल्यूकिमिया यानि ब्लड कैंसर इस तरह होता है खतरनाक
ल्यूकिमिया की शुरूआत में  फ्लू और दूसरी कई बीमारियां होती है लेकिन जब इन पर ध्यान नहीं दिया जाता तो ये सब लक्षण देखने को मिलते हैं। जब इन लक्षणों को नजरअंदाज कर दिया जाता है तो ल्यूकीमिया कैंसर कोशिकाएं यानि ये ट्यूमर कोशिकाएं शरीर के अन्य भागों में भी फैल जाती हैं। जिससे शरीर में असामान्य रूप से सूजन आने लगती है और यह गंभीर रूप ले लेती है। इसलिए इन लक्षणों के दिखने पर डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

 


फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP

Latest News