22 MAYWEDNESDAY2019 1:00:45 AM
health

Health Alert: दिमाग को खोखला करते हैं पत्तागोभी के कीड़े, पकाने से पहले बरतें सावधानी

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 09 Nov, 2018 02:26 PM
Health Alert: दिमाग को खोखला करते हैं पत्तागोभी के कीड़े, पकाने से पहले बरतें सावधानी

स्वस्थ रहने के लिए ताजी हरी सब्जियों का सेवन बहुत फायदेमंद होता है लेकिन कुछ सब्जियां ऐसी भी हैं जिसे अगर आप थोड़ी सतर्कता से नहीं खाएंगे तो वहसेहत के लिए हानिकारक साबित हो सकती है। इन दो सब्जियों में फूलगोभी व पत्तागोभी का नाम सबसे आगे है।
 

हाल ही में हुए रिसर्च के मुताबिक, फूलगोभी और पत्तागोभी जैसी सब्जियां दिमाग को नुकसान पहुंचा रही हैं। दरअसल, इन सब्जियों में ऐसे कीड़े होते हैं जो पकाने पर भी नहीं मरते और दिमाग में जाकर गंभीर बीमारी का खतरा पैदा करते हैं।

 

1. पत्तों जैसे ही दिखते हैं यह हरे कीड़े
पत्तों में 'टेपवार्म' (हरे रंग के कीड़े) पाए जाते हैं, जिन्हें आप ना चाहते हुए भी सब्जी के साथ पकाकर खा जाते हैं। यह कीड़े सब्जियों को धोने या पकाने पर भी नहीं जाते। यहां तक की जीवाणु अधिक से अधिक तापमान को भी सहन कर सकते हैं और खाने के जरिए शरीर यह धीरे-धीरे दिमाग तक पहुंच जाते हैं और गंभीर बीमारियों का खतरा पैदा करते हैं।

PunjabKesari

2. दिमाग तक ऐसे पहुंचते हैं ये कीड़े
टेपवार्म सब्जियों में चिपके होते हैं। साधारण आंखों से पकड़ में ना आने वाला यह कीड़ा पेट में जाने के बाद रक्त-वाहिका के रास्ते दिमाग तक पहुंच जाता है।

PunjabKesari

3. दिमाग को करते हैं खोखला
ये कीड़े पेट में जाकर अांतड़ियों के साथ चिपक जाते हैं और अंडे बनाना शुरू कर देते हैं। इन अंडों से निकलने वाले जीवाणु रक्त वाहिका में बहते हुए दिमाग तक पहुंच जाते हैं और धीरे-धीरे ब्रेन को खोखला कर देते हैं। इसके कारण बर्दाश्त ना होने वाला सिर दर्द, ब्रेन स्टोक, मिर्गी का दौरा जैसी कई दिमागी समस्याएं उत्पन्न होने लगती हैं। 

 

-पहली स्टेज
पहली स्टेज में असहनीय दर्द का सामना करना पड़ता है। इससे होने वाला सिरदर्द इतना तेज होता है कि दवाई लेने पर भी नहीं जाता।

 

-दूसरी स्टेज 
दूसरे स्टेज में आपको मिर्गी या ब्रेन स्टोक हो सकता है क्योंकि यह कीड़े दिमाग में जाकर चिपक जाते हैं।

PunjabKesari

-तीसरी व खतरनाक स्टेज
इसकी आखिरी और तीसरी स्टेज पर व्यक्ति मौत के दरवाजे तक पहुंच जाता है। इस स्टेज में दिमाग के अंदर खून की गांठें बन जाती है और मरीज अचानक बेहोश हो जाता है। सर्जरी से इन गांठों को निकाला तो जा सकता है लेकिन ज्यादा देर होने पर रोगी की जान भी जा सकती है।

 

4. कैसे खत्म करें यह कीड़े?
इन सब्जियों को काटने से पहले गर्म पानी में पोटैशियम परमैंगनेट मिलाकर भिगो दें फिर दोबारा गर्म पानी से अच्छे धोएं। शोधकर्ताओं के मुताबिक, इस उपाय का असर कुछ प्रतिशत तक ही होता है। कई परिस्थितियों में बड़े कीड़े इस पानी में बहकर निकल भी जाते हैं लेकिन छोटे जीवाणु और कीड़ों के अंडे सब्जी में ही चिपके रह जाते हैं। ऐसे में बेहतर होगा कि आप सब्जियों का सेवन न करें। बरसाती मौसम में बिलकुल भी सेवन ना करें तो अच्छा है।

PunjabKesari

फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP

Related News

From The Web

ad