Twitter
You are hereNari

बच्चे नहीं होंगे ओवरवेट का शिकार अगर पेरेंट्स करते रहेंगे ये 5 काम

बच्चे नहीं होंगे ओवरवेट का शिकार अगर पेरेंट्स करते रहेंगे ये 5 काम
Views:- Tuesday, October 9, 2018-12:32 PM

बच्चों में बढ़ता मोटापा अच्छी सेहत नहीं बल्कि आने वाली बीमारियों का संकेत है। मोटापा एक ऐसी बीमारी है जो अपने साथ कई तरह के रोगों को न्योता दे रहा है। जब बच्चे एक बार बढ़ते वजन की चपेट में आ जाते हैं तो आत्मविश्वास में कमी,तनाव,चिंता अवसाद आदि कई तरह की परेशानियां भी उन्हें घेरने लगती हैं। शारीरिक गतिविधियों पर वे ध्यान नहीं दे पाते। आगे चलकर बच्चे कई बीमारियों की चपेट में आने लगता है। 

बच्चों में मोटापे की वजह
बच्चों में मोटापे की कई वजह हो सकती हैं। पारिवारिक मोटापा इसका मुख्य कारण हैं, इससे अलावा जंक फूड्स का ज्यादा सेवन,संतुलित भोजन का अभाव, शारीरिक गतिविधियों की कमी, हार्मोंनस असंतुलन, टी.वी,कंप्यूटर और मोबाइल का घंटों इस्तेमाल आदि। 

मोटापा कम करने के उपाय
1. एक्सरसाइज
बच्चे हो या बड़े सेहतमंद रहने के लिए सबसे जरूरी है एक्सरसाइज। बच्चे को हमेशा घर पर बिठा कर रखने की बजाए सैर पर लें जाएं, दिन में कम से कम आधा घंटा एक्सरसाइज करवाएं। धीरे-धीरे समय बढ़ाए इससे उन्हें शारीरिक ऊर्जा मिलेगी और फैट में कमी आएगी। 
PunjabKesari
2. न पीने दें कोल्ड ड्रिंक 
बच्चे को कोल्ड ड्रिंक न पीने दें। इसकी जगह पर फ्लेवर वाला दूध या फिर जूस दें। अगर बच्चा ज्यादा जिद्द कर रहा है तो एक दिन में 50 या 80 एमएल से ज्यादा न पिलाएं। 

3. कम कर दें मिठाइयां
कुछ बच्चे मीठा खाने के बहुत शौकीन होते हैं। इससे मोटापा तेजी से बढ़ता है। इन चीजों के सेवन कम कर दें। घर पर कम मीठे वाली फ्रूट क्रीम, पुडिंग आदि हेल्दी पकवान कर खिलाएं। 

3. चावल और घी
बच्चे को चावल,घी,मैदा,फ्राई फूड्स कन खाने को दें। इनमें फैट बहुत ज्यादा मात्रा में पाया जाता है। इससे शरीर में फैट बढ़ने लगती है। रोजाना ऐसे आहार खिलाने की बजाए हफ्ते में एक दिन उन्हें ब्रेड, फ्रूट जूस, बीन्स,जैम,आलू का सेवन करवाएं। 

4. कड़वे और मीठे फल सब्जियां
बच्चो को कड़वे और मीठे दोनों तरह के आहार मिला कर खिलाएं। आलू मटर की जगह पर आलू मेथी, पालक पनीर की जगह पालक चने,मिक्स वेज जैसी चीजें बेस्ट हैं। फलों में अनार,सेब के साथ शक्करकंद खिलाएं। 

5. लाइफस्टाइल में करें बदलाव
मोटापा कम करने के लिए बच्चे के लाइफस्टाइल में बदलाव करें। जल्दी उठने की आदत डालें, सैर पर जाएं, मोबाइल फोन की जगह आउटडोर गेम्स के लिए बच्चे को ले जाएं। इसके अलावा साइकलिंग, तैराकी, स्केटिंग ,डांसिग में बच्चे की दिलचस्पी बढ़ाएं। 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
Edited by: