20 APRSATURDAY2019 10:31:51 AM
Nari

बच्चे के लिए बेस्ट हैं आउटडोर गेम्स, मिलते हैं फायदे ही फायदे

  • Edited By Priya verma,
  • Updated: 27 Nov, 2018 06:53 PM
बच्चे के लिए बेस्ट हैं आउटडोर गेम्स, मिलते हैं फायदे ही फायदे

आज के टैक्निकल दौर में छोटे-छोटे बच्चे भी बुरी तरह से प्रभावित होते जा रहे हैं। उनकी लाइफस्टाइल को टैक्निकल चीजें जैसे मोबाइल फोन, कंप्यूटर, वीडियो गेम्स, लैपटॉप आदि खराब कर रहे हैं। बच्चे इन चीजों को लेकर घंटों एक ही जगह पर बैठे रहते हैं, जिसके कारण उनकी शारीरिक गतिविधियां रुक जाती हैं। इसके अलावा उन्हें मोटापा, डिप्रैशन, हाई ब्लड प्रेशर, चिड़चिड़ापन, तनाव, डायबिटीज जैसी कई बीमारियों का सामना करना पड़ता है। इन सबसे बचने के लिए जरूरी है कि बच्चे को आउटडोर गेम्स खेलने के लिए प्रेरित करें। 

बच्चे के लिए आउटडोर गेम्स क्यों जरूरी?

आउटडोर गेम्स से बच्चे का स्वास्थ्य बहुत अच्छा रहता है क्योंकि इससे शारीरिक गतिविधियां बनी रहने के साथ बीमारियां कोसो दूर रहती हैं। इससे उनका सोशल रिलेशनशिप भी अच्छा बना रहता है। 

मिलती है बेहतर सीख

आउटडोर गेम्स खेलने से बच्चे की चीजें सीखने की क्षमता बहुत बढ़ जाती है। घर से बाहर छोटी-छोटी समस्याओं का सामना करने से भविष्य में आने वाली मुश्किलें सुलझाने में उसकी समझ परिपक्व हो जाती है। मुश्किलों का सामना वह आसानी से कर पाता है। 

अच्छा स्वास्थ्य

बच्चे की सेहत की चिंता है तो उसे आउटडोर गेम्स में हिस्सा दिलाना बहुत जरूरी है। इससे कुछ ही दिनों में उसकी हेल्थ अच्छी होने लगती है क्योंकि फिजीकल एक्टिविटी से बच्चे की भूख बढ़ने शुरू हो जाती है और उसका पाचन तंत्र मजबूत होने लगता है। इस दौरान अगर बच्चा हैल्दी डाइट लेनी शुरू करें तो शारीरिक विकास भी बेहतर तरीके से होता है।  

PunjabKesari, healthy child

बच्चे में आते हैं लीडरशिप के गुण

बच्चे में लीडरशिप के गुण होना बहुत जरूरी है। अगर वह दूसरे बच्चों के साथ मिलकर गेम्स खेलेगा तो उसे बाकी बच्चों से आगे बढ़ने की प्रेरणा मिलेगी। भविष्य में उसकी प्रोफेशनल ग्रोथ के लिए बहुत जरूरी है। 

PunjabKesari, leadership

होता है मानसिक विकास

गेम्स खेलने से बच्चे का न सिर्फ शारीरिक बल्कि मानसिक विकास भी बेहतर तरीके से होता है। उसके सोचने समझने की शक्ति आउटडोर गेम्स से ज्यादा बढ़ने लगती है। जिससे उसका पहले से ज्यादा पढ़ने में भी मन लगने लगता है। 

PunjabKesari

नेचर से प्यार

जब बच्चा रोजाना कुछ देर के लिए घर से बाहर रहता है तो अपने आस-पास की चीजों में उसे नेचर की झलक देखने को मिलती है। पेड़-पौधे, फल-फूल, आसमान के बदलते रंग, पक्षी-जानवर आदि चीजों की खूबसूरती से उसे लगाव होना शुरू हो जाता है। 


 

Related News

From The Web

ad