23 OCTWEDNESDAY2019 12:14:51 AM
Nari

गुणों से भरपूर है सरसों का तेल, सेहत-ब्यूटी के मिलेंगे फायदे ही फायदे

  • Edited By khushboo aggarwal,
  • Updated: 08 Jul, 2019 03:08 PM
गुणों से भरपूर है सरसों का तेल, सेहत-ब्यूटी के मिलेंगे फायदे ही फायदे

भारत में शुरु से ही सरसों के तेल का काफी इस्तेमाल किया जाता रहा है। पिछले कुछ सालों से लोग सरसों का तेल छोड़ कर अन्य कई प्रकार के तेल का इस्तेमाल करने लगे हैं। लेकिन सरसों के तेल की विविधता व गुणवत्ता के मामले में बाकी तेलों के लिए इसे हरा पाना बहुत ही मुश्किल हैं, चाहे खाने की बात हो या ड्रेसिंग, प्रिजर्वेटिव या त्वचा के लिए। एशिया प्रशांत के क्षेत्र भारत, थाइलैंड, चीन में सरसों के तेल की बहुत मांग रहती हैं। 

सरसों के तेल में न केवल ओमेगा 3 और ओमेगा 6 फैट्टी एसिड पाए जाते है बल्कि वसा की मात्रा भी कम पाई जाती हैं। सरसों का तेल खाने का स्वाद बढ़ाने के साथ एक फ्लेवर भी देता हैं। इसके साथ ही यह त्वचा, मांसपेशियों, दिल के रोगों को भी समाप्त करने में काफी मदद करता हैं। इनका प्रयोग मेरीनेशन, सलाद, फ्राई करने के लिए, प्रिजर्वेशन के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इसका प्रयोग करते हुए इसे कभी भी अधिक गर्म नहीं करना चाहिए, नहीं तो इसके पोषक तत्व समाप्त हो जाते हैं। 

खाने में डाल देता है स्वाद

भारत में बंगाल, बिहार, कश्मीर, उत्तरप्रदेश में सरसों के तेल का काफी इस्तेमाल किया जाता हैं। बंगाली डिश जैसे की माछेर झोलृ, झालमुरी, मुरी घोंटा का भी स्वाद बढ़ाने के काम करती हैं। वहीं उत्तर भारत में ज्यादातर खाने में इसी का इस्तेमाल किया जाता हैं। 

PunjabKesari

ह्दय रोग 

रिसर्च की माने तो खाने में सरसों के तेल का इस्तेमाल करने से कोरोनरी ह्दय रोग की समस्याएं 71 प्रतिशत कम होती हैं। दिल की बीमारियों को दूर रखने के लिए रोज वन टेबल स्पून सरसों के तेल का इस्तेमाल करना चाहिए। 

PunjabKesari

कम होता है वसा 

इसमें वसायुक्त अम्ल काफी कम पाया जाता है, जोकि खराब कोलेस्ट्रोल को कम करने में काफी मदद करता हैं। 

बेस्ट प्रिजर्वेटिव 

यह तेल प्रिजर्वेटिव के तौर पर सबसे अच्छा माना जाता है। इसलिए शुरु से ही आचार बनाने में घर ही नहीं बाजार में भी चीजों को प्रिजर्वे करने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता हैं। 

PunjabKesari

नेचुरल सनस्क्रीन 

सरसों का तेल एंटी बैक्टेरियल के तौर पर काम करता हैं। यह एक नेचुरल सनस्क्रीन है। इसे जब नारियल के तेल में मिलाकर प्रयोग किया जाता है तो यह हेड मसाज के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता हैं। इसमें पाए जाने वाले विटामिन ई त्वचा को अंदरुनी तौर पर पोषित करने में काफी मददगार होती हैं। वहीं चेहरे पर लगाने से त्वचा की नमी की बनाए रखता हैं। 

PunjabKesari

दर्द दूर करने के लिए बेस्ट

सरसों का तेल जोड़ों के दर्द को दूर करने लिए काफी अच्छा होता है। इससे मालिश करने से अंदरुनी दर्द को काफी आराम मिलता हैं। वहीं बच्चों की इस तेल से मालिश करने से बच्चों को हड्डियां मजबूत होती है और उनकी ग्रोथ अच्छी होती हैं। 

बढ़ाता है भूख 

अगर आपको भूख कम लग रही है तो आप अपने खाने में सरसों के तेल का प्रयोग करें। तेल हमारे पेट में ऐपिटाइजर के रुम में काम करते हुए भूख की मात्रा को बढ़ाता हैं। 

कम करता है वजन

सरसों के तेल में मौजूद विटामिन थियामाइन, फोलेट व नियासिन शरीर के मेटाबाल्जिम को बढ़ाते हैं, जिससे वजन घटाने में मदद मिलती है।

अस्थमा की रोकथाम

अस्थमा से पीड़ि‍त लोगों के लिए सरसों का तेल बहुत ही फायदेफंद होता है। इसमें मैग्नीशियम की काफी मात्रा पाई जाती हैं। जो कि अस्थमा के मरीज के फायदेमंद होता है। इससे उसकी छाती पर मालिश करनी चाहिए। 

दांत के दर्द में फायदेमंद 

सरसों के तेल में नमक मिलाकर मसूड़ों पर हल्की मालिश करें। इससे दांत का दूर होगा साथ ही दांत भी मजबूत होगें। 

PunjabKesari

रोग प्रतिरोधक क्षमता 

सरसों का तेल शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षणता को बढ़ा कर शरीर की अंदरुनी कमजोरी को दूर करता हैं। इसके नियमित सेवन के साथ मालिश करने से भी काफी फायदा होता है।

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News