25 MAYSATURDAY2019 7:23:56 PM
Nari

कपूर की 1 टीकिया से दूर होगी स्किन और हैल्थ से जुड़ी कई समस्याएं!

  • Edited By Punjab Kesari,
  • Updated: 29 Aug, 2017 09:24 AM
कपूर की 1 टीकिया से दूर होगी स्किन और हैल्थ से जुड़ी कई समस्याएं!

भारत सदियों से कपूर का इस्तेमाल धार्मिक कार्यों और विभिन्न उपचारों में करता आ रहा है। वहीं आयुर्वेद के अनुसार, कपूर को जलाने से मन और शरीर दोनों का इलाज किया जा सकता है। कपूर, सिनामोमस कैफोरा नामक पेड़ से सफेद मोम के रूप में प्राप्त होता है। यह ब्लॉक, टेबलेट्स, तेल और पाऊडर के रूप में बाजार में आम मिलता है। इसे बंद नाक, स्किन एलर्जी व खुजली, जोड़ों और मांसपेशियों के दर्द और मामूली घाव व जले के इलाज में इस्तेमाल किया जा सकता है। 

1. त्वचा की खुजली का इलाज
PunjabKesari
आप स्किन इरीटेशन यानि की त्वचा पर खुजली की परेशानी होने पर कपूर तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह तेल रोमछिद्रों में अवशोषित होकर स्किन इरीटेशन से  तुंरत राहत दिलाता है। एक कप नारियल तेल में एक कपूर की टिकिया ही मिलाकर लगाएं। 

2. मुंहासों की छुट्टी
कपूर पोर्स को साफ और टाइट करने का काम करता है। यह आयली स्किन से होने वाले मुंहासों से छुटकारा दिलाने में काफी फायदेमंद है। टी ट्री ऑयल और कपूर के तेल को बराबर मात्रा में मिलाए और रुई की मदद से मुंहासों पर लगाएं। ऐसा रात को सोने से पहले करें और सुबह गुनगुने पानी से चेहरा धौ लें। यह पिंपल्स के दाग धब्बों को हटाने में भी कारगर है। 

3. जख्मी और जली स्किन 
हल्की जली हुई या घावों का इलाज में भी कपूर इस्तेमाल किया जा सकता है। यह चोट के निशान को भी कम करता है। दरअसल कपूर तेल तंत्रिका को उत्तेजित करता जो त्वचा को ठंडक पहुंचाता है। 1 कप नारियल तेल में 2 क्यूब कपूर की डालकर प्रभावित जगह पर लगाएं। ऐसा दिन में एक या दो बार जरूर करें। 

4. बाल को मजबूती
बालों के झडऩे और डैड्रफ को रोकने के लिए नारियल तेल में कपूर डालकर बालों की अच्छे से मालिश करें। नारियल तेल वैसे भी बाल झडऩे व डैंड्रफ को रोकता है। यह बेस्ट कंडीशनर का काम भी देता है। 

5. जोड़ों के दर्द से राहत
PunjabKesari
जोड़ और मांसपेशियों में दर्द व ऐंठन होने पर भी कपूर की मदद ली जा सकती है। आप हल्के गुनगुने तिल के तेल में कपूर की टिकिया मिक्स करके मसाज कर सकते हैं। 

6. सर्दी-जुकाम 
जिद्दी सर्दी-जुकाम और बंद नाक और छाती से राहत पाने के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है क्योंकि इसकी तेज गंध भरे नाक और श्वसन पथ को खोलती है। किसी भी मीठे तेल (बादाम, जैतून ) में बराबर मात्रा में कपूर तेल मिक्स करके चेस्ट मसाज करें। 

7. पैरों के नाखूनों की फंगस
नाखूनों की फंगस का इलाज करने के लिए भी कपूर का इस्तेमाल किया जा सकता है क्योंकि इसमें पाए जाने वाले एंटीबायोटिक सामग्री फंगस को हटाने में सक्षम होती है। 

8. मच्छर-मक्खी भगाने में इस्तेमाल
घर में बहुत कीट-पतंगों से छुटकारा पाने के लिए कपूर की टिकिया जलाए। यह मच्छर मक्खी और कॉकरोच को कोने कोने से बाहर निकाल देगा। 

इन बातों पर जरूर दें ध्यान
-कपूर तेल काफी स्ट्रांग होता है इसे सीधे तौर पर स्किन पर इस्तेमाल ना करें।
- छोटे बच्चों पर इसका इस्तेमाल ना करें क्योंकि यह जहरीला होता है। 
-गर्भवती और स्तनपान वाली महिलाएं इसका इस्तेमाल ना करें।
- मौखिक रूप से इसका इस्तेमाल ना करें।


- वंदना डालिया 

Related News

From The Web

ad