31 OCTSATURDAY2020 10:35:38 AM
Nari

New Mommy Alert ! गर्भपात की वजह बन जाती हैं प्रेगनेंसी में खाई ये चीजें

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 06 Oct, 2020 09:30 AM
New Mommy Alert ! गर्भपात की वजह बन जाती हैं प्रेगनेंसी में खाई ये चीजें

गर्भावस्था वो समय जब महिला को अपनी देखभाल करने की सबसे ज्यादा जरूरत होती है क्योंकि इस समय के दौरान उसे अपना ही नहीं बल्कि अपने होने वाले नवजात की सेहत का ख्याल भी रखना होता है।  इस दौरान सबसे महत्वपूर्ण होती है डाइट क्योंकि इसी के जरिए भ्रूण का विकास होता है लेकिन कई बार डाइट में ली कुछ चीजें मां और बच्चे को नुकसान पहुंचाती हैं।  आज हम आपको ऐसी ही कुछ चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे प्रेगनेंसी पीरियड में नहीं खाना चाहिए। तो चलिए जानते है ऐसी कुछ चीजों के बारे में जो महिलाओं को गर्भावस्था में खाने से परहेज ही करना चाहिए।

पपीता

गर्भावस्था में पपीता, इसका जूस, बीज, या कच्चे पपीते का सेवन न करें। इसमें अधिक मात्रा में लेटेक्स तत्व पाया जाता है जोकि गर्भ में पल रहे शिशु को नुकसान पहुंचाते हैं। हालत खराब होने पर स्थिति गर्भपात की भी हो सकती हैं।

PunjabKesari

मछली और सी-फूड

मछली और सी-फूड में मरकरी नामक तत्व होता है, जिसे गर्भ में पल रहे शिशु को नुकसान पहुंचता है। इसलिए प्रेगनेंसी में शेलफिश, मार्लिन, स्वोर्डफिश, शार्क और सुशी प्रजाति की मछली का सेवन करने से बचें।

अनानास

प्रेंगनेंसी के दौरान अनानास का सेवन भी मिसकैरेज का कारण बन सकता है इसलिए अनानास से परहेज करें।

डीप फ्राइड फूड

अत्यधिक तला हुआ या डीप फ्राइड भोजन खाने से भी बचें। भोजन में बहुत ज्यादा मसाले, मिर्ची खासकर लाल आदि से भी बचें। सिर्फ प्रेगनेंसी ही नहीं यह भोजन ऐसे भी आपकी सेहत के लिए बढ़िया नहीं है।

कैफीन या कोल्ड ड्रिंक्स

प्रेंगनेंसी पीरियड के दौरान कोल्ड ड्रिंक्स, एरेटेड या फ्लेवरड पेय का सेवन भी खतरनाक होता है। वहीं, कैफीन की तासीर गर्म होने के कारण इससे गर्भ में पल रहे बच्चे पर नकारात्मक असर पड़ता है।

PunjabKesari

फास्टफूड खाने से परहेज

इस दौरान फास्टफूड जैसे बर्गर, चाउमिन, पीजा आदि से परहेज करें। बाहर होटल, रेस्तरां आदि के भोजन से भी परहेज करें। इससे मां और शिशु दोनों को नुकसान हो सकता है।

कच्चे या अंकुरित आहार से बचें

गर्भवस्था में कच्ची सब्जियों से परहेज करना चाहिए, खासकर कच्चे स्प्राउट्स और सलाद ड्रेसिंग। क्योंकि इसमें हानिकारक जीवाणु और वायरस शामिल हो सकते हैं, जो शिशु को नुकसान पहुंचाते हैं।

कच्चा दूध व पनीर

गर्भावस्था में कच्चे दूध और इससे बनने वाले पनीर के सेवन से भी परहेज करना चाहिए। इससे गर्भ में पल रहे शिशु के मानसिक स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है।

PunjabKesari

प्रेंगनेंसी के दौरान भोजन व किसी आहार के सेवन से पहले अपने चिकित्सक की सलाह जरूर लें ताकि ऐसी परेशानियों से बचा जा सके।

Related News