Twitter
You are hereNari

20 या 40, किस उम्र में मां बनना होता है ज्यादा रिस्की

20 या 40, किस उम्र में मां बनना होता है ज्यादा रिस्की
Views:- Friday, November 30, 2018-1:24 PM

औरतों के बीच अकसर यह मुद्दा उठता है कि आखिर गर्भधारण करने के लिए सही उम्र कौन सी होती है। ज्यादातर महिलाओं को गर्भधारण के लिए 30 साल की उम्र सही लगती है लेकिन आजकल महिलाएं करियर के चक्कर में बच्चे व परिवार की जिम्मेदारियों को दूसरे नबंर पर रख देती हैं इसलिए 40 की उम्र के बाद मां बनते समय महिलाओं के मन में बहुत सारे सवाल आते हैं। चलिए आज हम आपकी सारी शंकाएं दूर करते हुए इस सवाल का सही जवाब देते हैं।

 

किस उम्र में मां बनना है सही
20-25 की उम्र में नहीं होता कैंसर का खतरा

20-25 की उम्र प्रेग्नेंसी के लिए सही मानी जाती है। शोधकर्ताओं के अनुसार पहली प्रेग्नेंसी में महिलाओं की उम्र जितनी कम होगी, उतना ही ब्रेस्ट कैंसर का खतरा कम रहेगा। साथ ही इस उम्र में स्ट्रेच मार्क्स और वजन बढ़ने का डर भी नहीं होता। अगर थोड़ी बहुत समस्या होती भी है तोवह कुछ समय में ठीक हो जाती है। मगर इस उम्र में प्रेग्नेंसी के दौरान आपको डायबिटीज और हाइपरटेंशन की प्रॉब्लम हो सकती है इसलिए सावधानी जरूर बरतें।

बच्चा के भी सुरक्षित है 20 की उम्र

सिर्फ मां ही नहीं, 20 की उम्र में मां बनना बच्चे के लिए भी फायदेमंद होता है। 20 की उम्र में मां बनने से इस बात का खतरा भी कम होता है कि बच्चा क्रोमोसोमल या डाउन सिंड्रोम से पीड़ित हो। इसके अलावा इस उम्र में गर्भपात की संभावना भी कम होती है। इस उम्र की पहले तिमाही में गर्भपात की सम्भावना 12% रहती है वहीं बढ़ती उम्र में यह 25% हो जाती है।

PunjabKesari

26-34 की उम्र की  में मां बनना

30 की उम्र में महिलाओं की प्रजनन क्षमता बिगड़ने लगती है। शोध के मुताबिक, 26 से 29 वर्ष की उम्र में बांझपन दर 9% है जो 30-34 साल की आयु की महिलाओं के लिए 15% तक बढ़ जाती है। दरअसल, इस दौरान महिलाएं करियर के चक्कर में अपनी सेहत से समझौता कर लेती हैं, जिसके कारण उन्हें प्रेग्नेंसी में प्रॉब्लम्स का सामना करना पड़ता है। हालांकि, अध्ययनों के मुताबिक, सीजेरियन सेक्शन की दर 20 उम्र की औरतों की तुलना में 30-34 साल की उम्र की महिलाओं में दोगुनी होती है।

बच्चे के लिए भी है खतरनाक

इस उम्र में मां बनने से बच्चे को क्रोमोसोमल या डाउन सिंड्रोम होने खतरा भी दोगुना बढ़ जाता है।

PunjabKesari

जब 35-40 हो महिलाओं की उम्र

इस उम्र में गर्भधारण करते समय महिलाओं को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। अचानक 38 की उम्र में आपकी प्रजनन क्षमता में गिरावट आने लगती है। हालांकि आज कल महिलाएं 35 की उम्र में बच्चे को जन्म दे रही हैं लेकिन इस दौरान डायबिटीज व हाइपरटेंशन का खतरा बढ़ जाता है। वहीं अगर आपका वजन ज्यादा तो इनका खतरा दोगुना हो जाता है। अगर आप इस उम्र में मां बनना चाहती हैं तो वजन कंट्रोल में रखें और खान-पान व व्यायाम पर ध्यान दें।

उम्र के हिसाब से होता है बच्चे को खतरा

औरतों की उम्र जितनी ज्यादा होगी बच्चे को क्रोमोसोमल या डाउन सिंड्रोम होने का खतरा भी उतना ही होगा। इसके अलावा गर्भपात की भी संभावना ज़्यादा होती है। शोधकर्ताओं के अनुसार, इस उम्र में, हर 100 गर्भवती महिलाओं में से एक में क्रोमोसोमल डिसीज की समस्या देखी जाती है।

PunjabKesari

40 की उम्र के बाद प्रेग्नेंसी

शोधकर्ताओं का कहना है कि लगभग 1/3 महिलाएं जो 40 वर्ष से अधिक उम्र की हैं, बांझपन का शिकार होती हैं। इस उम्र की महिलाओं में गर्भकालीन मधुमेह का खतरा 3 से 6 गुना बढ़ जाता है। इसके अलावा आपका बढ़ा हुआ वज़न मेटाबोलिज्म को कम करता है, जिससे गर्भावस्था के बाद ठीक करना मुश्किल हो जाता है।

आपका बच्चा

40 की उम्र के बाद मां बनने वाली महिलाओं में गर्भपात का खतरा 50% तक बढ़ जाता है। इसके अलावा इस दौरान बच्चे में क्रोमोसोमल प्रॉब्लम्स की भी सम्भावना भी दोगुनी हो जाती है।

PunjabKesari


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP
Edited by:

Latest News